समाचार ब्यूरो
28/03/2019  :  10:32 HH:MM
12 मई को ईवीएम और वीवीपैट मशीन द्वारा संपन्न करवाया जाएगा : कटारिया
Total View  600

पानीपत जिला पानीपत में आगामी लोकसभा चुनाव 12 मई को ईवीएम एवं वीवीपैट मशीन द्वारा सम्पन्न करवाया जाएगा। यह एक स्वतंत्र प्रिंटर प्रणाली है, जिसे इलैक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन से जुडऩे पर मतदाताओं को अपना मतदान बिल्कुल सही होने की पुष्टि करने में मदद मिलती है।

उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी सुमेधा कटारिया ने यह जानकारी देते हुए बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार चुनाव प्रक्रिया की विश्वसनीयता को बढाने के लिए प्रथम बार आम चुनाव में इलैक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन को वीवीपैट अर्थात वोटर वैरीफिएबल पेपर ऑडिट ट्रेल से युक्त कर दिया गया है। उपायुक्त ने बताया कि मतदाता को वोट डालने के बाद वीवीपैट से कोई पर्ची नही मिलती। कोई भी मतदाता वीवीपैट पर्ची को छू नही सकता है, हालांकि मतदाता को एक पारदर्शी स्क्रीन के पीछे यह पर्ची 7 सैकेंड तक दिखती रहती है और आखिर में यह पर्ची वीवीपैट के मुहर बंद डिब्बे में चली जाती है। कोई भी मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करके वीवीपैट अर्थात वोटर वैरीफियेबल पेपर ऑडिट ट्रेल पर उस द्वारा डाले गए मत को 7 सेकंड तक देखकर यह पता लगा सकता है कि डाला गया
मत संबंधित उम्मीदवार के पक्ष में गया है। मतदाताओं को मतदान के दिन इस सुविधा का लाभ उठाना चाहिए। उपायुक्त ने बताया कि इस बार लोकसभा चुनाव में नई टैक्रोलोजि को बडे पैमाने को प्रयोग में लाया जाएगा। जिसके चलते उम्मीद्वारों के लिए आदर्श आचार
सहिता का उल्लंघन करना अथवा अपने चुनावी खर्च को छूपाना बहुत ही कठिन हो जाएगा। उन्होंने कहा कि-सीविजिल ऐप का पहली बार चुनाव में प्रयोग होगा जिसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रत्याशी अथवा राजनैतिक दल द्वारा आचार सहिता का उल्लंघन
करने या अन्य अनियमितताएं बरतने की फोटो अथवा वीडियों डाल सकता है। सी विजिल पर मिलने वाली शिकायतों का निपटारा 100 मिनट की समय अवधि में संबंधित अधिकारियों द्वारा किया जाएगा लेकिन साथ ही उससे मजबूत एविडेंस भी तैयार होगा जो प्रत्याशी के खिलाफ न्यायालय में प्रस्तुत किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि मतदान केन्द्रों को चेक करेंगे और मतदान से एक दिन पहले यह सुनिश्चित किया जाएगा कि सभी पोलिंग पार्टियां अपने बूथ पर सुरक्षित पहुंच गई है। मतदान के दौरान अपने आवंटित क्षेत्र में घूमते रहेंगे और कहीं भी अनियमितता या चुनाव संबंधी अवैध गतिविधि नजर आएगी तो उसकी तत्काल अपने स्मार्टफ ोन से फोटो खींच कर और वीडियों बनाकर चुनाव आयोग को भेजेंगे। वे मतदान प्रतिशत की रिपोर्ट भी हर घंटे भेजते रहेंगे। टेक्रोलॉजी के प्रयोग से चुनाव के समय दर्ज
होने वाले मुकदमों में दोषियों को सजा दिलवाने में आसानी होगी और प्रत्याशी का चुनावी खर्च बुक करने में भी आसानी होगी।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   9820977
 
     
Related Links :-
राज्यसभा : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूरे फॉर्म में नजर आए ईवीएम और एक देश-एक चुनाव पर विपक्ष को घेरा
‘पर ड्राप मोर क्रॉप’ विषय पर जागरूकता अभियान का आयोजन
बादशाहपुर ड्रेन : बरसात में नहीं होगी जलभराव की समस्या
रोड सेफ्टी के एक्शन ह्रश्वलान को लेकर विभिन्न विभागों के साथ बैठक
खत्म होने के कगार पर इनेलो का राजनीतिक अस्तित्व
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक दीन दयाल जन आवास योजना का होगा विस्तार
रोडवेज और पीआरटीसी की बसों में लगाए जाएंगे व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम
मुख्यमंत्री कैह्रश्वटन अमरिंदर सिंह के सिद्धू के प्रति और कड़े हुए तेवर एक सह्रश्वताह में संभालें पदभार नहीं तो छिनेगी कुर्सी
लोकसभा में बोले पीएम मोदी हम ‘लकीर छोटी करने की बजाय अपनी लकीर लंबी करने में विश्वास करते हैं
दुनिया भर के जल संकट वाले शहरों में चेन्नई नंबर-1