समाचार ब्यूरो
12/04/2019  :  12:32 HH:MM
उच्च रक्तचाप से विकलांगता और हृदय रोग हो सकते हैं : डॉक्टर अमर सिंघल
Total View  707

सोनीपत श्री बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टीट्यूट में कार्डियोवास्कुलर साइंसेज के डायरेक्टर डॉ. अमर सिंघल के अनुसार , भारत में लगभग 10.8 प्रतिशत मौतें उच्च रक्तचाप व इसकी जटिलताओं के कारण होती है। उच्च रक्तचाप से विकलांगता और हृदय रोग हो सकते हैं, तथा इसके कारण लोगों के जीवन की गुणवत्ता कम हो सकती है।

पहले उम्र के 50वें और 60वें दशक में जी रहे कुछ लोगों को उक्त रक्तचाप या हाइपरटेंशन की जो समस्या प्रभावित करती थी, वह अब भारत में युवा पीढ़ी को प्रभावित करने लगी है। 2020 तक लगभग एक तिहाई भारतीय आबादी इस कंडीशन से प्रभावित होगी, ऐसा अनुमान है। आगे डॉ. सिंघल ने कहा कि , हाइपरटेंशन में कोई लक्षण नहीं दिखाई देते जबकि, यह अंतर्निहित बीमारी का संभावित कारण बन सकता है। उच्च रक्तचाप हृदय पर अधिक भार डालता है, जिससे रक्त पंप करने के लिए हृदय को दोगुना परिश्रम करना पड़ता है।
इसके कारण हृदय का आकार फैलने लगता है,वो कमजोर हो जाता है, और दिल की विफ लता भी हो सकती है। डॉ. सिंघल ने आगे कहा, जीवनशैली में बदलाव उच्च रक्तचाप को प्रबंधित करने और रोकने में महत्वपूर्ण हैं, और साथ ही इससे जुड़ी हृदय समस्याओं के लिए भी। उन लोगों को दवाओं की आवश्यकता हो सकती है, जिनमें स्थिति नियंत्रण से बाहर हो गयी हो। यदि हृदय रोग विकसित होता है, और जटिलताएं पैदा होती हैं, तो उपचार व सर्जरी की सलाह दी जा सकती है। नियमित रूप से व्यायाम करें, ऐसा आहार खाएं जिसमें फ ल, सब्जियां और साबुत अनाज भरपूर हों, योग और ध्यान के माध्यम से तनाव कम करें। 






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8648632
 
     
Related Links :-
रोटरी हेल्थ कार्निवाल में रोटेरियंस ने हेल्थ के प्रति किया जागरुक
डॉक्टर्स दिवाली की शुभकामनाएं देने मरीजों के घर पहुंच
डॉ.बेदी ने मिनिमली इनवेसिव सर्जरी में नए डेवलपमेंट्स पर गेस्ट लेक्चर दिया
डायबटीज से पीडि़तों के लिए आर्ट एग्जीबिशन
ऑर्थो कैम्प में 60 सीनियर सिटिजन की जांच की गई
रक्त की कमी से होने वाले थैलेसीमिया रोग का जागरुकता शिविर आयोजित
50 सीनियर सिटीजंस ने ‘मीट योअर डॉक्टर्स’ प्रोग्राम में हिस्सा लिया
भारत में कैंसर दूसरा सबसे बड़ा हत्यारा
वल्र्ड मेंटल हेल्थ डे: युवाओं ने खास अंदाज में दिया जागरूकता संदेश
स्तन कैंसर से बचने के लिए जागरूक और सावधान रहना जरूरी