Breaking News
अस्थायी तौर पर जेट की सभी उड़ानें रद्द की गइ  |  मतदान में बुजुर्ग भी नहीं रहे पीछे कोई एम्बुलेंस से तो कोई व्हील चेयर पर वोट डालने पहुंचे  |  अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस के प्रस्ताव को किया खारिज मसूद अजहर को लेकर चीन के रुख में कोई बदलाव नहीं  |  गुड फ्रायडे : त्याग और बलिदान का दिन  |  दिनों दिन बढ़ती जा रही है वोटिंग ताऊ की लोकप्रियत  |  राइडिंग को बनाए रोमांचक! होंडा ने भारत में शुरू किया अपना एक्सक्लुसिव प्रीमियम रीटेल होंडा बिग विंग  |  प्रशासन, विभागों और आमजन के बीच में तालमेल आवश्यक : एक्सपेंडिचर ऑब्जर्वर  |  राव अभय सिंह के भाजपा कार्यालय का राव इंद्रजीत सिंह ने किया उद्घाटन ‘विकास के हर कार्य का हिसाब दंूगा’  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
13/04/2019  :  10:02 HH:MM
अगड़ो-पिछड़ों के बाद अब जाट और गैर जाट के बीच गठबंधन
Total View  539

पानीपत हरियाणा में जातिवाद की राजनीति लगातार गहराती जा रही है। शुक्रवार को आम आदमी पार्टी व जननायक जनता पार्टी के बीच हुए गठबंधन के बाद प्रदेश में जाट समुदाय के अलावा वैश्य तथा ब्राह्मण समुदाय लामबंद होगा। इससे पहले बहुजन समाज पार्टी व लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के माध्यम से अगड़े व पिछड़े एक मंच पर आ चुके हैं।हरियाणा में पिछले कुछ वर्षों से जातिवाद की राजनीति बेहद तेजी के साथ आगे बढ़ रही है।

जिसके चलते राजनीतिक दलों द्वारा जातिगत समीकरणों को ध्यान में रखकर ही प्रत्याशियों को चुनाव मैदान में उतारा जा रहा है। हरियाणा में कुछ समय पहले जहां लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के माध्यम से अगड़े व पिछड़े एक मंच पर आए थे।हरियाणा में शुक्रवार को जननायक जनता पार्टी व आम आदमी पार्टी के बीच हुआ गठबंधन पूरी तरह से जातिगत समीकरणों पर आधारित है। दुष्यंत चौटाला को भले ही हरियाणा में तेजी से समर्थन मिल रहा है लेकिन उनकी पार्टी में कोई भी गैर जाट चेहरा न होने के कारण मध्य
हरियाणा में जजपा को इनेलो का नया स्वरूप कहा जा रहा है। जजपा भी जाट बाहुल पार्टी के रूप में प्रचारित हो रही है। लेकिन आज हुए गठबंधन के बाद जजपा के साथ कई गैर जाट चेहरे आ गए हैं।दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मूल से हरियाणा के हैं। वह
हिसार में जहां एक बड़ी रैली कर चुके हैं केजरीवाल कुछ समय पहले जींद में हुए अग्रवाल समाज के उत्तर भारतीय स्तर के कार्यक्रम के भी शामिल हुए थे। केजरीवाल ने जींद चुनाव में दुष्यंत के समर्थन में रैली को संबोधित करके बनिया अथवा वैश्य समुदाय को उनके
साथ जोडऩे का प्रयास किया था। जींद चुनाव में आप सांसद सुशील गुप्ता ने भी बनिया बिरादरी को दिगिवजय के समर्थन में खड़ा किया था। दूसरा आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष नवीन जयहिंद ब्राह्मण समुदाय से संबंधित है। वह पानीपत, भिवानी समेत कई स्थानों पर ब्राह्मण समाज के कार्यक्रमों में शामिल होकर ब्राह्मणों को लामबंद करते रहे हैं।आज हुए इस गठबंधन के बाद दुष्यंत चौटाला को पटखनी देने की तैयारी में जुटी इनेलो के मंसूबे भी ढेर हुए हैं। यह नया गठबंधन अगर मजबूती के साथ अपनी उपस्थिति दर्ज करवाता है तो सीधे तौर पर भारतीय जनता पार्टी और इनेलो के लिए चुनौती होगा।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6625336
 
     
Related Links :-
मतदान में बुजुर्ग भी नहीं रहे पीछे कोई एम्बुलेंस से तो कोई व्हील चेयर पर वोट डालने पहुंचे
प्रशासन, विभागों और आमजन के बीच में तालमेल आवश्यक : एक्सपेंडिचर ऑब्जर्वर
हरियाणा में भाजपा ने इन 10 चेहरों पर खेला दांव
आतंकवाद को घाटी के ढाई जिलों तक सीमित करने में सफल रही सरकार: मोदी
गुजरात को मुआवजा देने पर कमलनाथ ने पीएम को घेरा
पश्चिमी दिल्ली की जनता के बीच बहुत लोकप्रिय है पत्रकार सुनील सौरभ
बाला प्रीतम हरक्रिशन जी का जोति ज्योति समाने का गुरूपर्व बड़ी श्रद्धापूर्वक मनाया गया
भगवान महावीर जयंती पर विभिन्न धार्मिक और सामाजिक कार्यक्रम
विपक्ष विहीन लोकसभा क्षेत्र है गुरुग्राम राव इंद्रजीत के मुकाबले में कोई नहीं : उमेश अग्रवाल
महावीर जयंती पर निकाली प्रभात फेरी