Breaking News
बिहार में बाढ़ का तांडव, 29 लोगों की जान गई  |  भारत का लंबा प्रयास हो रहा निष्प्रभावी अफगानिस्तान-अमेरिका ने शांति वार्ता से भारत को किया अलग  |  गुरुग्राम को हरा भरा और प्रदूषण मुक्त करना सभी की जिम्मेदारी : राव  |  दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चर्चा  |  पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकिल और उपायुक्त अमित खत्री सम्मानित  |  अशोक सांगवान की अध्यक्षता में गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण की बैठक जल भराव संबंधी शिकायतों के लिए बना कंट्रोल रूम  |  हुनरमंद युवा अपनी प्रतिभा के दम पर प्राप्त कर सकेगा रोजगार :बीरपंथी  |  बरसात के बाद जी.टी. रोड पर भरा पानी, राहगीर हुए परेशान  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
18/04/2019  :  10:06 HH:MM
गूगल ने भारत में ब्लॉक किया टिकटाक एप
Total View  630

नई दिल्ली सुप्रीम कोर्ट द्वारा मद्रास हाई कोर्ट के पॉह्रश्वयुलर वीडियो मेकिंग ऐप टिकटाक पर बैन लगाने के आदेश पर रोक लगाने से इनकार करने के बाद गूगल और ऐपल ने अपने-अपने ह्रश्वलेटफॉर्म से इसे हटा लिया है। मद्रास हाईकोर्ट के आदेश के बाद सरकार ने गूगल और ऐपल को अपने- अपने ह्रश्वलेटफॉर्म से टिकटाक को हटाने को कहा था।

उल्लेखनीय है कि तीन अप्रैल को अपने आदेश में मद्रास हाई कोर्ट ने टिकटाक के जरिए अश्लील सामग्री की पहुंच पर चिंता जताते हुए सरकार को इसपर बैन लगाने का कहा था। इससे पहले टिकटॉक ने मद्रास हाई कोर्ट के बैन से जुड़े आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में
अपील भी की थी, जिसे खारिज कर दिया गया। मद्रास हाई कोर्ट की ओर से फैसला सुनाते हुए कहा गया था कि यह ऐप बच्चों पर बुरा असर डालते हुए पॉर्नोग्राफी को बढ़ावा दे रहा है और यूजर्स को यौन हिंसक बना रहा है। अश्लील कंटेट ऐप पर शेयर करने का आरोप लगाते हुए इस ऐप के खिलाफ एक जनहित याचिका दायर की गई थी, जिसके बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया। मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफॉर्मेशन टेक्नॉलजी का ऑर्डर इस ऐप के और डाउनलोड्स को रोकने में मदद करेगा। हालांकि, जिन लोगों ने पहले ही टिकटाक ऐप को डाउनलोड कर रखा है, वह अपने स्मार्टफोन पर इसका इस्तेमाल कर पाएंगे। सूचना व प्रसारण मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि हाई कोर्ट ने सरकार से टिकटाक ऐह्रश्वलीकेशन के डाउनलोड्स को रोकने के लिए कहा है। मिनिस्ट्री, गूगल और एपल को
ऐप स्टोर से इसे डिलीट करने को कहकर इसे सुनिश्चित कर रहा है। सरकार की ओर से एपल और गूगल को पत्र लिखकर इस एप को हटाने को कहा गया है। गूगल ने तुरंत ऐक्शन लेते हुए इस एप को ह्रश्वलेस्टोर से हटा दिया और एपल एप स्टोर से भी इस एप को हटा लिया गया है। गूगल ने एक बयान में कहा कि वह स्थानीय कानूनों का पालन करता है और एप पर कोई कॉमेंट नहीं करना चाहता।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7048364
 
     
Related Links :-
पंजाब के सुपरस्टार क्रिकेटर मनन वोहरा लेनोवो के नए स्मार्ट बैण्ड कार्डिय
स्टार्टअह्रश्वस और उद्यमियों के लिए ‘द ग्रोथ हैकिंग बुक’ का विमोचन
अदाणी विद्या मंदिर को एसोचैम एजुकेशन एक्‍सिलेंस अवॉर्ड
थॉमस कुक इंडिया ने लॉन्च की अपनी पहली एआई संचालित चैटबॉट टी.सी
पॉवर2एसएमई ने बढ़ाया व्यापार का दायरा. पंजाब में किया विस्तार
फिनो पेमेंट्स बैंक की पंजाब, हरियाणा और हिमाचल में नेटवर्क विस्तार की योजना
बोले मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा मेरी फसल मेरा ब्यौरा स्कीम के तहत रजिस्टे्रशन करवाने वाले किसान को मिलेगे 10 रु. प्रति एकड
मारुति मजदूर संघ साथियों को न्याय दिलाने के लिए करेगा प्रदर्शन
भारत की पहली इलेक्ट्रिक एसयूवी कोना इलेक्ट्रि चंडीगढ़ में लॉन्च
ग्लोबल सिटी 1002 एकड़ भूमि पर होगी विकसित