Breaking News
बिहार में बाढ़ का तांडव, 29 लोगों की जान गई  |  भारत का लंबा प्रयास हो रहा निष्प्रभावी अफगानिस्तान-अमेरिका ने शांति वार्ता से भारत को किया अलग  |  गुरुग्राम को हरा भरा और प्रदूषण मुक्त करना सभी की जिम्मेदारी : राव  |  दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चर्चा  |  पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकिल और उपायुक्त अमित खत्री सम्मानित  |  अशोक सांगवान की अध्यक्षता में गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण की बैठक जल भराव संबंधी शिकायतों के लिए बना कंट्रोल रूम  |  हुनरमंद युवा अपनी प्रतिभा के दम पर प्राप्त कर सकेगा रोजगार :बीरपंथी  |  बरसात के बाद जी.टी. रोड पर भरा पानी, राहगीर हुए परेशान  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
15/05/2019  :  10:09 HH:MM
पीएम के राडार विज्ञान वाले बयान का पूर्व फाइटर ने किया बचाव
Total View  620

नई दिल्ली पीएम नरेंद्र मोदी के एक इंटरव्यू के दौरान युद्धक तकनीक रडार वि‍ज्ञान को लेकर की गई टिह्रश्वपणी पर सोशल मीड‍िया में उनकी बहुत आलोचना हो रही है। एक तरफ लोग उनके बादलों वाले तर्क को हास्यापद बता रहे हैं तो कुछ लोग उनके रडार वि‍ज्ञान का समर्थन भी कर रहे हैं। उनका कहना है कि‍ बालाकोट एयर स्ट्राइक के समय बादलों की वजह से संभवत: फायदा मिला था।

इस बारे में भोपाल में रह रहे पूर्व एयर वायस मार्शल आद‍ित्य व‍िक्रम पेठिया जो 1971 के युद्ध में बीकानेर बॉर्डर के हवाई हमले में खुद शामिल थे ने कहा कि इस हमले में उन्हें युद्धबंदी बनना पड़ा था और 5 महीने 3 दिन और 8 घंटे पाकिस्तान में यातना सही।
जेल से रिहा होने के बाद उन्हें राष्ट्रपति वीवी गिरी ने 1973 में वीर चक्र से सम्मानित किया था। पेठिया ने बताया कि बादल और बार‍िश वाले मौसम में एयरक्राफ्ट उड़ाना हमेशा से चुनौतीपूर्ण रहा है और ऐसी स्थिति से बचने की कोश‍िश की जाती है। छोटे-मोटे बादलों से तो रडार को ज्यादा फर्क नहीं पड़ता लेकिन यदि‍ घने बादल हैं तो लड़ाकू विमानों की ब‍िल्कुल सही जानकारी म‍िलना कठिन होती है। ये कुछ इस तरह है कि जब बार‍िश, आंधी, तूफान आता है तो कुछ समय के ल‍िए टीवी के सिग्नल भी डिस्टर्ब हो जाते हैं। वहीं ओडिशा से भाजपा के प्रमुख नेता और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बिजयंत पांडा ने भी प्रधानमंत्री मोदी के उस बयान का समर्थन किया जिसमें रडार के मौसम से प्रभाव‍ित होने की बात कही गई थी। बिजयंत पांडा ने मिशिगन टेक्निकल यूनिवर्सिटी में पढ़ाई की है। राजनीति में आने से पहले बिजयंत पांडा ने कॉर्पोरेट सेक्टर में नौकरी की। उन्होंने बीजू पटनायक और उनके बेटे और ओडिशा के मौजूदा मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के साथ काम किया है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8882565
 
     
Related Links :-
बिहार में बाढ़ का तांडव, 29 लोगों की जान गई
गुरुग्राम को हरा भरा और प्रदूषण मुक्त करना सभी की जिम्मेदारी : राव
दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चर्चा
पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकिल और उपायुक्त अमित खत्री सम्मानित
अशोक सांगवान की अध्यक्षता में गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण की बैठक जल भराव संबंधी शिकायतों के लिए बना कंट्रोल रूम
बरसात के बाद जी.टी. रोड पर भरा पानी, राहगीर हुए परेशान
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने जिलावासियों को दी सौगात रोहतक को करोड़ों की तीन परियोजनाओं की सौगाते
यदि सिद्धू अपना काम नहीं करना चाहता तो मैं इसमें क्या कर सकता हूं : कैह्रश्वटन अमरिन्दर
मुख्यमंत्री ने दिया जलशक्तिअभियान के तहत पानी बचाने का संदेश
लोकसभा : तीखी नोंकझोंक के बीच एनआईए संशोधन विधेयक को मंजूरी