Breaking News
पार्क ह्रश्वलाजा जीरकपुर में अदिरा ईवेंट्स का ‘ट्राइसिटी का करवा चौथ बैश’ संपन्न  |  भारत में कैंसर दूसरा सबसे बड़ा हत्यारा  |  भाजपा की सरकार होते हुए भी कालका ने विपक्ष जैसा शासनकाल सहन किया : प्रदीप चौधरी  |  भाजपा और कांग्रेस में दल बदल करवाने में लगी हुई है होड़ : योगेश्वर शर्मा  |  कांग्रेस ही भारत को न.1 बना सकती है : जैन  |  उनकी सरकार ने कमीशन एजेंटों, बिचोलियों और दलालों की खत्म करने की दिशा में काम किया है: मनोहर लाल बिचोलिये कैंसर के समान घातक है  |  जोनल यूथ फेस्ट में विद्यार्थियों की धूम, लगी पुरस्कारों की झड़ी  |  अलीपुर के पूर्व सरपंच जेजेपी में शामिल, कांग्रेस के गुरविंद्र भी आए  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
15/05/2019  :  10:42 HH:MM
करनाल में ह्रश्वलास्टिक बैन और स्वच्छता जैसी गतिविधियां फिर शुरू
Total View  734

करनाल कई दिनो तक चले लोकसभा चुनाव प्रचार की गहमा-गहमी के बाद, निगम आयुक्त राजीव मेहता के निर्देश पर निगम ने शहर में ह्रश्वलास्टिक बैन व स्वच्छता जैसी गतिविधियां पुन: प्रारम्भ कर दी हैं, ताकि नागरिक जागरूक रहें। इसी कड़ी में मंगलवार को निगम की ओडीएफ व सक्षम युवाओं की संयुक्त टीम ने शहर के सबसे पुराने बाजार गुड़ मण्डी में जाकर पोलीथीन का प्रयोग ना करने को लेकर जागरूकता रैली निकाली। रैली में एनजीटी यानि राष्टï्रीय हरित प्राधिकरण के आदेशों का पालन करने की सूचना देते बैनर प्रदर्शित किए गए थे।

टीम का नेतृत्व कर रहे ट्रीगर मास्टर गुरदेव ने मण्डी में मौजूद दुकानदार व ग्राहकों को पोलीथीन का प्रयोग और उसके नुकसान बारे चेताया। उन्होंने इसके तीन पहलुओं पर व्याखान दिया, कहा कि रिड्ïयूज यानि प्रयोग कम से कम करें, रियूज़ यानि फेंकने की बजाय दोबारा प्रयोग में लें तथा रिसाईकिल यानि बेकार पोलीथीन को फेंकने की बजाय इकठ्ïठा कर लें, ताकि उसका पुन: च्रकण या रिसाईकिल किया जा सके। उन्होंने बताया कि पोलीथीन कैरीबैग का बेहतर विकल्प कपड़े या जूट के थैले तथा कागज से बने लिफाफे हैं। उन्होंने कहा कि पहले तो कोशिश रहे कि पोलीथीन कैरीबैग का प्रयोग ना करें और यदि करना पड़े, तो उसकी क्वालिटी 50 माईक्रोन से अधिक होनी चाहिए। डिस्पोजल ह्रश्वलेट व गिलास को कतई इस्तेमाल में ना लाएं। इसके लिए स्टील के बर्तनों का इस्तेमाल करें। उन्होंने बताया कि अब निगम डिस्पोजल बर्तनो की रोकथाम के लिए शहर में छापेमारी प्रारम्भ करेगा और इनके मिलने पर जुर्माना भी लगाएगा। इसी तरह जिन दुकानदार या रेहड़ी वालों के पास 50 माईक्रोन से कम मोटाई के पोलीथीन कैरीबैग मिलेंगे, उनको भी जब्त करेंगे। दूसरी ओर आज ही शहर के प्रेम नगर क्षेत्र में स्वच्छ भारत मिशन के तहत एक स्वच्छता रैली भी निकाली गई, जिसमें निगम की मोटीवेटर टीम के सदस्यों के अतिरिक्त प्रेम नगर स्कूल के विद्यार्थियों को भी शामिल किया गया।

स्वच्छता रैली प्रेम नगर के रिहायशी क्षेत्रों से होकर कॉमर्शियल एरिया में भी गई, जहां दुकानदारों को स्वच्छता बनाए रखने बारे जागरूक किया गया। रैली में शामिल मोटीवेटरों ने नागरिकों व दुकानदारों को बताया कि सभी प्रकार के वेस्ट चाहे घर से निकला कूड़ा-कचरा, ई-वेस्ट, ह्रश्वलास्टिक वेस्ट या मैडिकल वेस्ट हो, उसे खुले में नहीं फेंकना चाहिए, इससे प्रदूषण फैलता है। बेहतर रहेगा कि इन्हे एक जगह इकठ्ïठा कर लें, ताकि नगर निगम के वाहन इनको उठाकर इनका उचित निस्तारण के लिए ले जा सकें। उन्होंने नागरिको को यह भी समझाया कि घरों से निकलने वाले गीले व सूखे कूड़े-कचरे को अलग- अलग करके ही दें। उपनिगमायुक्त धीरज कुमार ने भी शहर के नागरिको से अपील की है कि अब स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 का आगाज हो चुका है। करनाल के प्रबुद्घ नागरिक, शिक्षण संस्थाओं में पढऩे वाले विद्यार्थी, दुकानदार और हाऊस होल्ड सब मिलकर शहर को स्वच्छ व साफ- सुंदर बनाए रखें, ताकि पिछले सर्वेक्षणों में करनाल शहर को राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानजनक स्थान हासिल करने के साथ-साथ अब देश के टॉप-10 शहरों में करनाल का नाम शुमार हो।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1834475
 
     
Related Links :-
भारत में कैंसर दूसरा सबसे बड़ा हत्यारा
वल्र्ड मेंटल हेल्थ डे: युवाओं ने खास अंदाज में दिया जागरूकता संदेश
स्तन कैंसर से बचने के लिए जागरूक और सावधान रहना जरूरी
एफआरएआई ने तंबाकू उत्पादों की बिक्री पर प्रस्तावित सुझाव पर जताई चिंता दुकानदारों को लाइसेंस दिए जाने के प्रस्ताव का किया विरोध
मोहाली एमसी कमिश्नर ने डॉ. विक्रम शाह को सम्मानित किया
डॉक्टर्स और रोगियों ने बीमारियों के प्रतीक रावण का दहन किया
ड्रग्स और ह्रश्वलास्टिक के खिलाफ बाइक रैली आयोजित
गांव में चलाया गया ह्रश्वलास्टिक मुक्त व फिट इण्डिया पर विशेष अभियान
स्वस्थ भोजन से बचा जा सकता है दिल की समस्याओं से: दहिया
आईएमए चंडीगढ़ में हुई सीएमई में 100 से अधिक डॉक्टर शामिल हुए