समाचार ब्यूरो
19/05/2019  :  09:25 HH:MM
इंडियन आयल की ऊर्जा क्षेत्रों में दो लाख करोड़ निवेश की योजना
Total View  608

नई दिल्ली सार्वजनिक क्षेत्र की अग्रणी कंपनी इंडियन आयल कॉरपोरेशन (आईओसी) की भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखकर अगले 5 से 7 साल के दौरान ईंधन और ऊर्जा के विविध क्षेत्रों में दो लाख करोड़ निवेश की योजना है। कंपनी अपनी मौजूदा रिफाइनरियों का विस्तार करने के साथ ही स्वच्छ ईंधन और उत्पादन बढ़ाने में नई प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल को बढ़ावा दे रही है। रिफाइनरी-पेट्रोरसायन एकीकृत परिसरों, जैव-ईंधन,कोल गैसिफिकेशन, हाइड्रोजन ईंधन सेल और बैटरी प्रौद्योगिकी जैसे नए क्षेत्रों में अपनी अनुसंधान एवं विकास विशेषज्ञता के बल पर आगे बढ़ रही है।

इंडियन आयल कॉरपोरेशन के चेयरमैन संजीव सिंह ने वार्षिक संवाददाता सम्मेलन में कंपनी की भविष्य की योजनाओं की जानकारी देकर कहा कि वित्तवर्ष 2019-20 में कंपनी रिफाइनरी, पाइपलाइन, पेट्रोरसायन और ऊर्जा के विभिन्न क्षेत्रों में 25,000 करोड़ का पूंजी निवेश करेगी। कंपनी ने 2018-19 में भी तय लक्ष्य के मुकाबले 116 प्रतिशत निवेश करते हुए 26,548 करोड़ का पूंजी निवेश किया है। उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में देश में पेट्रोलियम, तेल और लुब्रिकेंट्स उत्पादों की बढ़ती मांग को देखकर इंडियन आयल 2030 तक अपनी मौजूदा रिफाइनिंग क्षमता को दोगुना कर 14 करोड़ टन तक पहुंचाने के एजेंडा पर काम कर रही है। इसके साथ ही पाइपलाइन नेटवर्क और विपणन ढांचे को भी मजबूत बनाया जायेगा। ‘फार्च्यून की वैश्विक-500 सूची में शीर्ष रंैकिंग वाली इंडियन आयल भविष्य की एक ऐसी कंपनी बनने की दिशा में अग्रसर है जहां नवीन प्रौद्योगिकी और ऊर्जा क्षेत्र में बदलावों के इस दौर में विविध प्रकार की ऊर्जा मांग की जरूरतों को पूरा किया जा सके। सिंह ने बताया कि 2018-19 में पेट्रोलियम पदार्थों, गैस, पेट्रोरसायन और अन्य उत्पादों सहित कंपनी ने
घरेलू बाजार में 3.9 प्रतिशत की वृद्धि हासिल करते हुए 8 करोड़ 46 लाख 50 हजार टन उत्पादों की बिक्री की। कंपनी की नौ रिफाइनरियों में 7.19 करोड़ टन कच्चे तेल का प्रसंस्करण किया गया, जबकि देशभर में फैले पाइपलाइन नेटवर्क में 8.85 करोड़ टन रिकार्ड कच्चे तेल और पेट्रोलियम उत्पादों का परिवहन किया गया।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2746899
 
     
Related Links :-
हरियाणा महा-उद्योग संगम में जुटेंगे एक हजार से अधिक उद्योगपति
प्रशासनिक सुधार विभाग ने करवाई डिजी-लॉकर पर वर्कशॉप, सीमा जैन ने कहा डिजी-लॉकर के द्वारा लोगों की अपने दस्तावेजों तक पहुंच हर जगह हर समय रहेगी
मुख्यमंत्री के प्रयासों पर किसानों का रहा सकारात्मक रुख जल संरक्षण के लिए किसान छोड़ रहे हैं धान की खेती
फरीदाबाद में नया पायनियर्स चैह्रश्वटर लॉन्च बिजनेस नेटवर्क इंटरनेशनल ने किया
क्वालिटी मार्क अवाड्र्स फाइनल राउंड के लिए चुनी गई 350 कंपनिया
यह येस बैंक का रीसेट फेज चल रहा है : सीईओ रवनीत गिल
रेवोल्ट इलेक्ट्रिक बाइक सिंगल चार्ज में चलेगी 156 किलोमीटर
फूड सिक्युरिटी ग्रुप ने की पहली मीटिंग स्मार्ट राशन कार्ड धारकों को जल्द हासिल होंगी सब्सिडी पर दाले
किसानों की आमदनी दोगुनी करने को सरकार ने बढ़ाई रफ्तार
व्यापारी जब टैक्स दे रहा है तो व्यवसाय कर लगाने का औचित्य नहीं : गर्ग