समाचार ब्यूरो
28/05/2019  :  09:13 HH:MM
कैंसर के इलाज के लिए रेडिएशन थेरेपी की नई उपलब्धियां
Total View  660

फरीदाबादत्न कैंसर के इलाज के लिए रेडिएशन थेरेपी में तकनीकी स्तर पर बड़े पैमाने पर उन्नति हुई है। वर्तमान समय में इलाज का लक्ष्य केवल बीमारी से निजात दिलाना ही नहीं, बल्कि इलाज के बाद बेहतर व गुणवत्तापूर्ण जीवन देना भी है। जागरूकता और लगातार हो रही उन्नति की जानकारी साझा करने के उद्देश्य से हाल ही में कंटीन्यूइंग मेडिकल एजुकेशन (सीएमई) शीर्षक से चिकित्सकों का एक कॉन्क्लेव आयोजित किया गया।
कॉन्क्लेव का आयोजन इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) फरीदाबाद की अध्यक्ष डॉ. पुनीता हसीजा, एवम् सचिव डॉ. शिप्रा गुप्ता के नेतृत्व में राजीव गांधी कैंसर इंस्ट्टयूट एंड रिसर्च सेंटर (आरजीसीआईआरसी) के विशेषज्ञों डॉ. मुनीश गैरोला (रेडिएशन ओंकोलॉजी डायरेक्टर) एवम् डॉ. सज्जन राजपुरोहित (मेडिकल ओंकोलॉजी कंसल्टेंट) साथ मिलकर किया था। राजीव गांधी कैंसर इंस्टीट्यूट एंड रिसर्च सेंटर के रेडिएशन ओंकोलॉजी डायरेक्टर डॉ. मुनीश गैरोला ने कहा, रेडिएशन थेरेपी की नई तकनीकें कैंसर ट्यूमर को रेडिएशन की हाई डोज देते हुए सामान्य टिश्यू की हिफाजत करने में मददगार हैं। इंटेंसिटी मॉड्यूलेटेड रेडियोथेरेपी (आईएमआरटी) और इमेज गाइडेड रेडिएशन थेरेपी (आईजीआरटी) जैसी टेक्नोलॉजी ने रेडिएशन के जरिये कैंसर के इलाज में क्रांतिकारी बदलाव किया है। परिणामस्वरूप रेडिएशन के कारण होने वाले दुष्प्रभावों में बहुत कमी आई है। पहले ऐसे दुष्प्रभाव के बहुत मामले सामने आते थे। डॉ. गैरोला ने आगे बताया, स्तन कैं सर (विशेषरूप से बाएं स्तन) के इलाज के मामले में पहले रेडिएशन से दिल पर प्रभाव पड़ता था, जिसके कारण दिल की बीमारियों का खतरा रहता था। डीआईबीएच (डीप इंस्पाइरेशन ब्रीथ होल्ड) तकनीक के जरिये वर्तमान समय में हम कैंसर की गांठ तक रेडिएशन की पर्याप्त मात्रा पहुंचाते हुए दिल की पूरी तरह हिफाजत करने में सक्षम हो गए हैं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   9109533
 
     
Related Links :-
अब भजन सुनते हुए करा सकते हैं एमआरआई
स्वच्छता गतिविधियों में भाग लेना अपने आप में एक बड़ी पहल है : भटनागर
मोहित मदनलाल ग्रोवर ने किया निशुल्क स्तन कैंसर जांच शिविर का आयोजन
पंजाब के सीएम ने शुरू की आयुष्मान भारत सरबत की सेहत योजना
स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2019 एप के माध्यम से दे सकते हैं फीडबैक
स्वच्छता हमारी सामूहिक जिम्मेदारी : सुभाष चंद्र
पीजीआई में इलाज न मिलने से मरीजों का बहुत बुरा हाल डॉक्टर्स एनएमसी बिल के विरोध में उतरे हड़ताल पर
जिला बार एसोसिएशन के ऐडवोकेट नें ‘लाइफ सेवर’ ट्रेनिंग में हिस्सा लिया
तीसरा स्वैच्छिक रक्तदान शिविर
आकाश इंस्टीट्यूट के छात्रों और शिक्षकों ने लगाए 324 पौधे