Breaking News
बिहार में बाढ़ का तांडव, 29 लोगों की जान गई  |  भारत का लंबा प्रयास हो रहा निष्प्रभावी अफगानिस्तान-अमेरिका ने शांति वार्ता से भारत को किया अलग  |  गुरुग्राम को हरा भरा और प्रदूषण मुक्त करना सभी की जिम्मेदारी : राव  |  दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चर्चा  |  पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकिल और उपायुक्त अमित खत्री सम्मानित  |  अशोक सांगवान की अध्यक्षता में गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण की बैठक जल भराव संबंधी शिकायतों के लिए बना कंट्रोल रूम  |  हुनरमंद युवा अपनी प्रतिभा के दम पर प्राप्त कर सकेगा रोजगार :बीरपंथी  |  बरसात के बाद जी.टी. रोड पर भरा पानी, राहगीर हुए परेशान  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
29/05/2019  :  09:24 HH:MM
7वीं आर्थिक गणना का कार्य होगा कॉमन सर्विस सेंटरों के माध्यम से होगा सर्वे
Total View  644

करनाल भारत सरकार के सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय की ओर से अगले महीने जून में 7वीं आर्थिक गणना का कार्य शुरू किया जा रहा है, शुरुआत किस तिथि से होगी, यह भी जल्द तय होगा। हरियाणा में इस कार्य का जिम्मा आर्थिक एवं सांख्यिकी विशलेषण विभाग को दिया गया है। खास बात यह है कि इस बार की गणना मैन्युअल ना करके डिजीटल तरीके से की जाएगी और यह कार्य जिलो में चल रहे कॉमन सर्विस सेंटर के सुपरवाईजऱों की देखरेख में पढ़े-लिखे बेरोजगारों की टीम घर-घर जाकर सर्वे के द्वारा पूरा करेगी।

इसे लेकर बीती 27 मई को राज्य स्तरीय प्रशिक्षण कार्यशाला शहर के पंचायत भवन में आयोजित की जा चुकी है, जिसमें सांख्यिकीय व योजना विभाग के प्रदेश व जिला स्तर के अधिकारियों के साथ-साथ कॉमन सर्विस सेंटरों के जिला प्रबंधक व जिला समन्वयक को आमंत्रित किया गया था। कॉमन सर्विस सेंटर के क्षेत्रीय प्रबंधक संदीप राणा ने इस सम्बंध में जानकारी देते हुए बताया कि आर्थिक गणना का कार्य कैसे किया जाना है, इस बारे कार्यशाला में प्रशिक्षण दिया गया। बताया गया कि आर्थिक गणना का कार्य पहली बार कागजी
तौर पर ना करके इसे डिजीटल तरीके से किया जाएगा, जिसमें समय की बचत होगी। इसके साथसाथ गणना करने वाली टीम में शामिल बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिलेगा, जो घर-घर जाकर परिवारों का आर्थिक सर्वे करेंगे। उन्होंने बताया कि सर्वे में सामान्य बिन्दु रहेंगे, मसलन परिवार के मुखिया का नाम, कुल सदस्य, व्यवसाय तथा सभी स्त्रोतों से प्राप्त अनुमानित पारिवारिक आय इत्यादि। इसको करने की पूरी जिम्मेदारी कॉमन सर्विस सेंटर की रहेगी, जिसमें सांख्यिकीय एवं योजना अधिकारी सहयोग करेंगे। जिले में वर्तमान में करीब 750 सीएससी सेंटर हैं, जबकि प्रदेश में इनकी संख्या 15 हजार के लगभग है। उन्होंने बताया कि सर्वे टीम दिनभर परिवारों के पास जाकर आर्थिक गणना का डाटा एकत्र करेगी और सांय के समय उसे सीएससी के सुपरवाईजर को सौंपेगी। सुपरवाईजर एकत्र किए गए डाटे को
अपनी देखरेख में तैयार करके उसे जिला स्तर पर सांख्यिकी या ह्रश्वलानिंग अधिकारी के कार्यालय में भेजेंगे, जहां से डाटा प्रदेश व भारत सरकार को जाएगा। आर्थिक गणना के कार्य को समूचित रूप से सम्पन्न करने के लिए क्षेत्रीय प्रबंधक संदीप राणा ने जिला के सभी परिवारों से अपील की है कि वे एन्यूमरेटर्स अर्थात गणकों को सही-सही जानकारी दें, ताकि एक मुकम्मल सर्वे किया जा सके। क्योंकि उसी के आधार पर भारत सरकार लोगों के लिए नीतियां एवं कल्याणकारी योजनाएं बना सकेगी।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7467177
 
     
Related Links :-
हुनरमंद युवा अपनी प्रतिभा के दम पर प्राप्त कर सकेगा रोजगार :बीरपंथी
एसएमडी स्कूल में मनाया गया ग्रीन डे
रोजगार के नाम पर युवाओं की दुर्गति हुई : दुष्यंत
गुरुग्राम में वल्र्ड यूथ स्किल डे
कनिका नर्सिंग एकेडमी के एमएससी टॉपर छात्र हुए सम्मानित
ब्रिलिएंस वल्र्ड स्कूल में समर कैंप का समापन
हरियाणा शिक्षा के क्षेत्र में सबसे अव्वल है : रामबिलास शर्मा
अंबाला में बनेगा विज्ञान केन्द्र, विज ने किया शिलान्यास
134ए अब बनेगा तरक्की का आधार, प्रदेश में वर्तमान शैक्षणिक सत्र के लिए 1.30 लाख विद्यार्थियों ने आवेदन किया पारदर्शिता से लेकर समय बर्बादी पर शिकंजा कसने में कामयाब रही सरकार
उपायुक्त कार्यालय गुरुग्राम पर जोरदार प्रदर्शन और ज्ञापन सौंपा