समाचार ब्यूरो
05/06/2019  :  09:14 HH:MM
पीएचडी चैंबर ने आयोजित किया ग्रीन बैंकिंग कॉन्क्लेव डिजीटल लेनदेन को बढ़ावा दें उद्योगपति : अनिल यादव
Total View  653

चंडीगढ़ रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के महाप्रबंधक (वित्तीय समावेशन और विकास विभाग) अनिल यादव ने उद्योगपतियों से डिजीटल लेनदेन को बढ़ावा देने की अपील करते हुए कहा है कि आरबीआई ने पेपर की बचत करने के लिए अब चैक ट्रंकेशन सिस्टम को लागू किया है जिसके तहत किसी भी व्यक्ति को अदायगी के लिए चैक काटने या बैंक में जमा करवाने की जरूरत नहीं अब एक कोड के माध्यम से अदायगी करने वाले व्यक्ति के चैक की इमेज कंह्रश्वयूटर में चलेगी ओर संबंधित अधिकारियों द्वारा सारी कार्रवाई उस इमेज पर ही कि जाएगा।
अनिल यादव मंगलवार को स्थानीय पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स में आयोजित ग्रीन बैंकिंग कॉन्क्लेव को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कुछ समय पहले तक मनरेगा के पैसों का भगतान जहां बिलों के माध्यम से होता था और संबंधित व्यक्ति को चैक आदि दिए जाते थे वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों से अब यह राशि सीधे खातों में जा रही है। यह ग्रीन बैंकिंग के क्षेत्र में क्रांति से कम नही। अब एलपीजी सब्सिडी, किसान सब्सिडी, छात्रवृति आदि डीबीटी के माध्यम से दी जा रही है। उन्होंने कहा है कि केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर योजना (डीबीटी) ग्रीन बैंकिंग को देशभर में प्रमोट कर रही है। अनिल यादव ने उद्यमियों व उपभावक्ताओं से आरटीजीएस, एनईएफटी को बढ़ावा देने की अपील करते हुए कहा कि आरबीआई की तरफ से सभी बैंकों को निर्देश दिये हैं कि वह टैलीबैंकिंग ओर डिजिटल बैंकिंग को बढ़ावा दे। इस अवसर पर बोलते हुए पंजाब एनर्जी डिवैलपमेंट एजेंसी (पेडा) के निदेशक एम.पी. सिंह ने कहा कि पेडा द्वारा पराली से सीएनजी तैयार करने की योजना को धरातल पर लागू किया जा रहा है। जिससे पर्यावरण की रक्षा के साथ-साथ किसानों द्वारा पराली जलाए जाने की समस्या का भी समाधान होगा। उन्होंने बताया कि पराली से बिजली तैयार करने की प्रक्रिया का सफल परीक्षण हो चुका है और इसे अब पंजाब में लागू किया जा रहा है। इस अवसर पर बोलते हुए पीएचडी चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री में पंजाब बैंकिंग एंड फाइनैंशियल सर्विस कमेटी के चेयरमैन मुकुल बंसल ने ग्रीन बैंकिंग को बढ़ावा देना समय की मांग है। चैंबर ने उद्योगपतियों तथा वित्तीय प्रबंधन से जुड़े प्रतिनिधियों को एक मंच पर लाकर इस क्षेत्र में हो रहे नए बदलाव के बारे में जानकारी प्रदान की है। पीएचडी चैंबर ऑफ कामर्स की पंजाब कमेटी के चेयरमैन आर.एस. सचदेवा ने कहा कि पंजाब में पर्यावरण की रक्षा करना बेहद जरूरी है। जिसमें पेडा जैसी संस्थाएं अहम भूमिका निभा रही हैं। इस अवसर पर एसबीआई के डीजीएम एस.एस. विरदी, केपीएमजी कोलकाता के सहायक निदेशक सुसमित दत्ता, केपीएमजी नई दिल्ली के सहायक निदेशक संदीप केसवानी, आरईपीएल की डीजीएम रूचि मिश्रा समेत कई प्रतिनिधियों ने अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर पीएचडी चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री की क्षेत्रीय निदेशक मधु पिल्ले समेत कई गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   737150
 
     
Related Links :-
तनिष्क के सहभागी-कैरेटलेन अब पश्चिम विहार में
विदेशी और घरेलू निवेशकों पर सरचार्ज में बढ़ोतरी वापस ली
जना स्मॉल फ ाइनेंस बैंक ने रोहतक में खोली नई शाखा
किया मोटर्स ने भारत में लॉन्च की स्‍टाइलिश बोल्‍ड एसयूवी सेल्टोस
बैंकरों का गुरुग्राम में दो दिवसीय कार्यक्रम
सौ साल पुराने सदर बाजार के व्यापारियों की समस्याएं होंगी दूर : नवीन गोयल
मारुति उद्योग कामगार यूनियन प्रतिनिधिमंडल जापान दौरे पर
ट्रैफिक चालान के लिए खरीदी जाएंगी ई-चालान मशीनें :रजिया सुल्ताना
सौरव गांगुली के साथ ब्राण्ड कैम्पेन ‘‘शाइन ऑन’’ शुरू
चीनी बैटरी निर्माता कंपनी तलाश रही है हरियाणा में निवेश की संभावनाएं