Breaking News
बिहार में बाढ़ का तांडव, 29 लोगों की जान गई  |  भारत का लंबा प्रयास हो रहा निष्प्रभावी अफगानिस्तान-अमेरिका ने शांति वार्ता से भारत को किया अलग  |  गुरुग्राम को हरा भरा और प्रदूषण मुक्त करना सभी की जिम्मेदारी : राव  |  दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चर्चा  |  पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकिल और उपायुक्त अमित खत्री सम्मानित  |  अशोक सांगवान की अध्यक्षता में गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण की बैठक जल भराव संबंधी शिकायतों के लिए बना कंट्रोल रूम  |  हुनरमंद युवा अपनी प्रतिभा के दम पर प्राप्त कर सकेगा रोजगार :बीरपंथी  |  बरसात के बाद जी.टी. रोड पर भरा पानी, राहगीर हुए परेशान  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
11/06/2019  :  09:17 HH:MM
एयरस्ट्राइक की दहशत में पाकिस्तान ने पीओके में बंद किए 11 आतंकी शिविर
Total View  678

नई दिल्ली पाकिस्तान के बालाकोट में भारत की वायुसेना द्वारा की गई एयरस्ट्राइक की दहशत पाकिस्तान में अभी भी बरकरार है। भारतीय सेना के एक्शन और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के दबाव के कारण पाकिस्तान ने पीओके में चल रहे आतंकी अड्डों को बंद करना शुरू कर दिया है।

ताजा जानकारी के मुताबिक, पिछले कुछ महीनों में पाकिस्तान ने 11 से अधिक आतंकी अड्डों को बंद कर दिया है। पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत लगातार पाकिस्तान से एक्शन लेने की मांग कर रहा था। जानकारी के मुताबिक, ये आतंकी अड्डे पीओके के मुजफ्फराबाद में पांच और कोटली में 5 और एक बरनाला में मौजूद थे। बता दें कि पाकिस्तान के इस एक्शन को ना सिर्फ भारत के डर से जोड़ा जा रहा है बल्कि कुछ ही दिनों बाद होने वाली पाकिस्तान फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) के बैठक से भी जोड़ा जा रहा है। अगले एक हफ्ते में एफएटीएफ की बैठक होनी है, इससे पहले पाकिस्तान आतंकी संगठनों पर कार्रवाई का ढोंग कर रहा है। ये संगठन पहले ही पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में डाल चुका है। जिन आतंकी कैंपों को बंद किया गया है, उनमें कोटली और निकियाल क्षेत्र में चलने वाले कैंप लश्कर ए तैयबा के थे, जो भारत के सुंदरबनी और राजौरी क्षेत्र के सामने हैं। वहीं बाघ और पाला क्षेत्र में जैश ए मोहम्मद के आतंकी कैंप थे तो वहीं कोटली में हिज्बुल मुजाहिद्दीन का आतंकी कैंप था। इतना ही नहीं, इंटेलिजेंस रिपोर्ट की मानें तो  मुजफ्फराबाद-मीरपुर के अड्डों को भी बंद कर दिया गया है। जो कि लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए मोहम्मद और हिज्बुल मुजाहिद्दीन द्वारा संचालित थे। आपको बता दें कि बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद भारत की ओर से लगातार पाकिस्तान पर दबाव बनाया जा रहा था। ये सभी आतंकी अड्डे एलओसी के पास मौजूद थे। गौरतलब है कि भारतीय सेना की लगातार कार्रवाई के बाद पाकिस्तान की हालत खस्ता थी।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2030145
 
     
Related Links :-
भारत का लंबा प्रयास हो रहा निष्प्रभावी अफगानिस्तान-अमेरिका ने शांति वार्ता से भारत को किया अलग
पाक प्रधानमंत्री इमरान खान को एसजीपीसी ने दिया नगर कीर्तन में शामिल होने का निमंत्रण
इमरान बोले- लूटा धन वापस करें नवाज-जरदारी
एफबीआई ने लंदन की कोर्ट में किया दावा पाकिस्तान में ही रह रहा है अंडरवल्र्ड डॉन दाऊद इब्राहिम
किम और ट्रम्प की बैठक ऐतिहासिक : उत्तर कोरिया
ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने किया ट्वीट मोदी संग ली सेल्फी, कहा ‘कितना अच्छा हैं मोदी’
ईरान पर अमेरिका ने लगाए बेहद कड़े प्रतिबंध
रावलपिंडी में बम विस्फोट, बाल-बाल बचा मसूद अजहर
चीन में 6 तीव्रता का भूकंप, 11 की मौत, 122 जख्मी
सर्जिकल स्ट्राइक और क्रिकेट मैच की तुलना ठीक नहीं : पाक सेना