Breaking News
पार्क ह्रश्वलाजा जीरकपुर में अदिरा ईवेंट्स का ‘ट्राइसिटी का करवा चौथ बैश’ संपन्न  |  भारत में कैंसर दूसरा सबसे बड़ा हत्यारा  |  भाजपा की सरकार होते हुए भी कालका ने विपक्ष जैसा शासनकाल सहन किया : प्रदीप चौधरी  |  भाजपा और कांग्रेस में दल बदल करवाने में लगी हुई है होड़ : योगेश्वर शर्मा  |  कांग्रेस ही भारत को न.1 बना सकती है : जैन  |  उनकी सरकार ने कमीशन एजेंटों, बिचोलियों और दलालों की खत्म करने की दिशा में काम किया है: मनोहर लाल बिचोलिये कैंसर के समान घातक है  |  जोनल यूथ फेस्ट में विद्यार्थियों की धूम, लगी पुरस्कारों की झड़ी  |  अलीपुर के पूर्व सरपंच जेजेपी में शामिल, कांग्रेस के गुरविंद्र भी आए  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
11/06/2019  :  09:40 HH:MM
बिश्केक में होने वाले हैं शंघाई सहयोग संगठन शिखर सम्मेलन अलग-अलग मुद्दों पर मोदी और जिनपिंग की होगी मुलाकात
Total View  721

पेइचिंग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मुलाकात किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में होने वाले शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन में होगी। हालांकि, इस सम्मेलन से इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मुलाकात होगी। पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल में दोनों नेताओं की यह पहली मुलाकात होगी।

उधर, भारतीय विदेश मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि एससीओ समिट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तानी पीएम इमरान के मुलाकात का कोई कार्यक्रम नहीं है। एससीओ शिखर सम्मेलन बिश्केक में 13-14 जून को होने वाला है। एससीओ चीन के नेतृत्व वाला आठ सदस्यीय आर्थिक एवं सुरक्षा संगठन है। इस समूह में भारत और पाकिस्तान को 2017 में शामिल किया गया था। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने रविवार को घोषणा की कि शी 12 से 16 जून तक किर्गिस्तान और ताजिकिस्तान की राजकीय यात्रा करेंगे। चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिस्री ने पिछले सप्ताह कहा था कि दोनों नेता एससीओ शिखर सम्मेलन के मौके पर मिलेंगे। मिस्री ने वुहान में पिछले साल शी और मोदी के बीच हुई पहली सफल अनौपचारिक शिखर बैठक को याद किया जिसे द्विपक्षीय संबंधों में एक मील का
पत्थर माना जाता है। मिस्री ने कहा, यह ध्यान देने योग्य है कि हमारे नेता पिछले साल अलग-अलग बहुपक्षीय सम्मेलनों में चार बार मिले। उन्होंने कहा कि वे बिश्केक में एससीओ शिखर सम्मेलन के इतर फिर से मिल रहे हैं। मोदी और शीके बीच 27-28 अप्रैल को वुहान में हुई बैठक को मोटे तौर पर द्विपक्षीय संबंधों में सुधार का श्रेय दिया जाता है जिसमें डोकलाम में 73 दिन के गतिरोध के चलते खटास आ गई थी।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2455103
 
     
Related Links :-
भारत ने संयुक्त राष्ट्र में स्थापित किया गांधी सोलर पार्क
कश्मीर पर सवाल पूछने वाले पाक पत्रकारों पर खीझे ट्रंप, कई बार फटकारा कश्मीर एक जटिल मुद्दा, दोनों पक्ष राजी हों तो मैं हमेशा मध्यस्थता को तैयार: ट्रंप
दिल्ली समेत उत्तर भारत में तेज भूकंप के झटके पीओके में तबाही १९ की मौत, ३०० घायल
क्लाइमेट समिट : पीएम मोदी ने कहा 80 देश भारत की इंटरनेशनल सोलर अलायंस की पहल के साथ जुड
यूरोपीय यूनियन ने पाक को लताड़ा, कहा भारत में आतंकी पड़ोसी मुल्क से आते हैं चांद से नहीं
दुबई में संगतों को 550वें प्रकाश पर्व समागमों में शामिल होने का न्योता
पाकिस्‍तान के दो सैनिकों को भारतीय जवानों ने जवाबी कार्रवाई में मार गिराया सफेद झंडा दिखाकर ले गए शव
यूएनएचआरसी में कुरैशी ने कबूला जम्मू-कश्मीर भारत का राज्य
भारत-फ्रांस को घनिष्टतापूर्वक शांति अग्रदूत के रूप में करना चाहिए काम: नायडू
‘कश्मीर सालिडेरिटी डे’ के पोस्टर दूतावास की दीवारों पर लगाए गए पाक ने तेहरान स्थित दूतावास में लगाए भारत विरोधी पोस्टर