Breaking News
बिहार में बाढ़ का तांडव, 29 लोगों की जान गई  |  भारत का लंबा प्रयास हो रहा निष्प्रभावी अफगानिस्तान-अमेरिका ने शांति वार्ता से भारत को किया अलग  |  गुरुग्राम को हरा भरा और प्रदूषण मुक्त करना सभी की जिम्मेदारी : राव  |  दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चर्चा  |  पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकिल और उपायुक्त अमित खत्री सम्मानित  |  अशोक सांगवान की अध्यक्षता में गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण की बैठक जल भराव संबंधी शिकायतों के लिए बना कंट्रोल रूम  |  हुनरमंद युवा अपनी प्रतिभा के दम पर प्राप्त कर सकेगा रोजगार :बीरपंथी  |  बरसात के बाद जी.टी. रोड पर भरा पानी, राहगीर हुए परेशान  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
26/06/2019  :  10:11 HH:MM
एक छत के नीचे गांव विकास की योजनाएं
Total View  69

दूसरी बार सत्ता में आयी देश की नरेन्द्र मोदी सरकार सरकारी विभागों के कामकाज में बदलाव के लिये बड़े कदम उठाने जा रही है। इसी क्रम में देश में गांवों के विकास की योजनाओं को बनाने और इन्हें लागू करने के लिए केन्द्र की मोदी सरकार ने ग्रामीण विकास मंत्रालय और इससे जुड़े सभी विभागों एवं संगठनों का संचालन एक ही जगह से करने का फैसला किया है।

यह काम, मंत्रालय के दिल्ली में बनने वाले नए मुख्यालय के रूप में "ग्रामीण विकास भवन’से किया जायेगा। केन्द्र सरकार की भवन निर्माण एजेंसी, केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) को दिल्ली में कस्तूरबा गांधी मार्ग पर ग्रामीण विकास भवन बनाने की  जिम्मेदारी सौंपी गई है। आगामी जुलाई में इसका निर्माण कार्य शुरू हो जायेगा। कार्ययोजना के मुताबिक लगभग 450 करोड़ की लागत से जुलाई 2021 में बनकर तैयार होने वाले नौ मंजिला ग्रामीण विकास भवन की दीवारें, देश के गांवों की अनूठी सांस्कृतिक विरासत और जीवनशैली की रंगत से दुनिया को रूबरू करायेंगी। अभी ग्रामीण विकास मंत्रालय का कामकाज फिलहाल, सीपीडब्ल्यूडी द्वारा दिल्ली में निर्मित ‘कृषि भवन’ से होता है। कृषि भवन में कृषि मंत्रालय के अलावा ग्रामीण विकास, पंचायती राज और उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय सहित अन्य केन्द्रीय विभागों का कामकाज होता है। सीपीडब्ल्यूडी ने हाल ही में पर्यावरण मंत्रालय के मुख्यालय के रूप में विश्वस्तरीय हरित तकनीक पर आधारित इंदिरा पर्यावरण भवन और इससे पहले विदेश मंत्रालय के लिये जवाहर भवन का भी दिल्ली में निर्माण किया था। जबकि ग्रामीण विकास भवन और अक्षय ऊर्जा मंत्रालय के मुख्यालय के रूप में अक्षय ऊर्जा भवन निर्माणाधीन हैं। अंतरराष्ट्रीय मानकों के मुताबिक बन रहे ग्रामीण विकास भवन में, न सिर्फ मंत्रालय का मुख्यालय होगा बल्कि इसमें संबद्ध मंत्रियों से लेकर सभी अधिकारियों, संबद्ध विभागों एवं संगठनों के कार्यालय भी बनाए जा रहे है। जिससे एक ही जगह से गांवों के विकास का रोडमैप तैयार कर इस लागू भी किया जा सकेगा। लगभग 14 हजार वर्ग मीटर क्षेत्रफल में बनने वाले ग्रामीण विकास भवन में राष्ट्रीय और  अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन के लिए भव्य सभागार एवं विभिन्न श्रेणी के मीटिंग रूम की भी व्यवस्था होगी। गांवों के विकास को मोदी सरकार ने सबसे ज्यादा प्राथमिकता देने का फैसला किया है। एक ही छत के नीचे देश के गांवों के विकास की योजनाओं को तैयार कराने की
योजना इस दिशा में एक अहम कदम साबित होगा।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8776111
 
     
Related Links :-
संकल्प लें : पानी बचाएंगे, बिन पानी सब सून...
फलदार वृक्ष विनम्र क्यों नहीं?
विपक्ष का सोया रहना लोकतंत्र के लिए शुभ नहीं
तन और मन को निखारता है योग
विश्वकप : परंपरा कायम
जीत से आगे की इबारत लिखने की तैयारी
‘तंबाकू मुक्त’ भारत तथा विश्व का निर्माण योग
शपथ में इमरान को बुलाएं या नहीं ?
सच....मोदी के रहते ही यह मुमकिन है
अब कमान राष्ट्रपति के हाथों