Breaking News
बिहार में बाढ़ का तांडव, 29 लोगों की जान गई  |  भारत का लंबा प्रयास हो रहा निष्प्रभावी अफगानिस्तान-अमेरिका ने शांति वार्ता से भारत को किया अलग  |  गुरुग्राम को हरा भरा और प्रदूषण मुक्त करना सभी की जिम्मेदारी : राव  |  दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चर्चा  |  पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकिल और उपायुक्त अमित खत्री सम्मानित  |  अशोक सांगवान की अध्यक्षता में गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण की बैठक जल भराव संबंधी शिकायतों के लिए बना कंट्रोल रूम  |  हुनरमंद युवा अपनी प्रतिभा के दम पर प्राप्त कर सकेगा रोजगार :बीरपंथी  |  बरसात के बाद जी.टी. रोड पर भरा पानी, राहगीर हुए परेशान  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
27/06/2019  :  09:18 HH:MM
राम रहीम की पैरोल पर दुविधा में फंसी हरियाणा सरकार
Total View  63

चंडीगढ़ डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को पैरोल दिए जाने के मामले में हरियाणा सरकार दुविधा में फंस गई है। राजस्व विभाग की रिपोर्ट राम रहीम के पक्ष में जाती है। बुधवार को यह रिपोर्ट आने के बाद अब सरकार ने राम रहीम को पैरोल दिए जाने के मुद्दे पर मंथन शुरू कर दिया है।

डेरा मुखी को जेल से बाहर निकालने और जेल के भीतर रखने से होने वाले नफानु कसान पर भी चर्चा की जा रही है। साध्वी यौन शोषण और पत्रकार हत्याकांड में रोहतक की सुनारियां जेल में बंद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम ने गत दिवस पैरोल के लिए आवेदन किया था। राम रहीम के आवेदन पर सुनारियां जेल प्रमुख ने अपनी सहमति व्यक्त करते हुए साफ किया था कि वह हार्डकोर अपराधी नहीं हैं और जेल में रहते हुए उनका आचरण अच्छा है। राम रहीम ने अपनी जमीन की संभाल करने के लिए 42 दिनों के लिए
पैरोल मांगी है। ऐसे केस में कैदी को उसी सूरत में पैरोल मिल सकती है जब वह जमीन का मालिक हो या काश्तकार हो। इसी दौरान रोहतक प्रशासन ने रिपोर्ट के लिए यह मामला सिरसा प्रशासन को भेज दिया। सिरसा में तहसीलदार तथा एसडीएम ने आज अपनी रिपोर्ट
दाखिल करते हुए बताया कि डेरासच्चा सौदा में शाह सतनाम की वसीयत गुरमीत राम रहीम के नाम है। जिसके मुताबिक जलालाआना गांव में राम रहीम के नाम जमीन है। इसके अलावा राजस्व रिकार्ड के अनुसार सिरसा में डेरासच्चा सौदा की जमीन पर राम रहीम
काश्तकार है। अर्थात् इस जमीन पर खेती करने और फसल का हिसाब िकताब रखने का अधिकार केवल राम रहीम के पास है। इसके अलावा राम रहीम के नाम से राजस्थान के गुरसरमोडिय़ा में भी जमीन है। यह सभी दस्तावेज राम रहीम के हक में जाने से प्रदेश सरकार की मुश्किलें बढ़ गई हैं। सिरसा जिला प्रशासन द्वारा बृहस्पतिवार को अपनी रिपोर्ट रोहतक जिला प्रशासन को भेजी जाएगी। जिसके बाद यह केस रोहतक के मंडल आयुक्त को भेजा जाएगा। माना जा रहा है कि अब हरियाणा सरकार इस मामले में कानूनी विशेषज्ञों की
राय लेगी। जिसके आधार पर सरकार के पास केवल यही रास्ता बचा है कि वह जनहित अथवा कानूनव्यवस्था का तर्क देकर ही राम रहीम की पैरोल को रोक सकती है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8710658
 
     
Related Links :-
साढ़े तीन साल पुराने बरगाड़ी बेअदबी मामला बेअदबी मामले में सीबीआई ने पेश की क्लोजर रिपोर्ट
तबरेज लिंचिंग में सामने आई डाक्टरों की लापरवाही
गुरुग्राम में 13 को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा
निजी वाहनों की जागीर बना पुराना बस अड्डा, लोग परेशान
‘सभी मोदी चोर’ हैं कहने के मामले में राहुल गांधी को मिली जमानत
सुप्रीम कोर्ट ने गैंगरेप और हत्या के मामले में 7 की फांसी पर लगाई रोक
हरियाणा पुलिस ने पुरानी दुश्मनी के मामलों की शुरू की मैपिंग
अवैध मछली पालन का धंधा करने पर लगाई फटकार रॉकी मित्तल में मिनी सचिवालय और वॉटर ट्रीटमेंट ह्रश्वलांट में मारा छापा
आए दिन हत्या, लूट, महिलाओं पर अत्याचारों का ग्राफ बढता जा रहा है
हरियाणा बना विदेशी और नकली ब्रांड की सिगरेट की मंडी