29/06/2019  :  09:52 HH:MM
अनिल विज ने अधिकारियों को लगाई फटकार, चार को किया सस्पेंड
Total View  803

पानीपत शुक्रवार को जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक की गई। बैठक की अध्यक्षता स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने की. बैठक के दौरान अनिल विज ने अधिकारियों को जमकर डांट लगाई। चार को सस्पेंड भी कर दिया। बैठक में कुल 14 शिकायतें पटल पर रखी गई।

जिनमें से 9 शिकायतों का  मौके पर ही निपटान कर दिया गया ओर 5 शिकायतों को अगली बैठक के लिए लम्बित रखा गया। स्वास्थ्य एवं खेल मंत्री अनिल विज एक बार फिर अधिकारियों पर आक्रमक नजर आए। अलग-अलग मामलों में विज ने दो पुलिस अधिकारियों समेत एक एसडीओ और एक जेई को सस्पेंड कर दिया। वहीं एक पुलिसकर्मी का ट्रांसफर कर दिया। मीटिंग में अनिल विज सबसे ज्यादा पुलिस महकमे से नाराज नजर आए। विज कार्रवाई करते हुए दो पुलिस कर्मियों को सस्पेंड कर दिया। वहीं एक अन्य मामले में पुलिस के
एक मुलाजिम का ट्रांसफर 150 किलोमीटर दूर कर दिया। इतना ही नहीं विज ने एक मामले में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के एसडीओ देवेंदर कुमार मालिक और जेई को सस्पेंड कर दिया। विज ने लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को लताड़ लगाते हुए कहा कि तुम सरकार को बदनाम करने पर तुले हो. विज के इस कार्रवाई से जहां शिकायतकर्ता संतुष्ट नजर आए। वहीं पानीपत जिले के अधिकारी विज की नजरों से बचते नजर आए। बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि भारत एक लोकतांत्रिक राष्ट्र है। लोकतंत्र में कानून को सर्वोपरि माना गया है। देश में प्रधानमंत्री की सरकार है, अब यहां केवल कानून का राज चलता है। प्रत्येक नागरिक को न्याय पाने का अधिकार है। इसलिए सभी अधिकारी अपने अधिकारों और कर्तव्यों ेके दायरे में समस्याओं का समाधान तेजी से करें ताकि लोगों को बार-बार शिकायतों के समाधान के लिए जिला मुख्यालय का बार-बार चक्कर ना लगाना पड़े। उन्होंने कहा कि किसी भी विभाग को अधिकार नही है कि वो सम्बंधित व्यक्ति को नोटिस दिए बिना उसके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही अमल में लाएं। आज की बैठक में पटल पर रखी गई प्रथम
शिकायत सुभाष गौस्वामी जाटल रोड पानीपत ने की थी। सुभाष का कहना था कि लगभग 2 वर्ष पूर्व उनका पुत्र दीपक गुम हो गया था जिसकी गुमशुदगी की एफआईआर भी दर्ज करवा दी गई थी लेकिन अभी तक उसका कोई सुराग नही लगा है। इसलिए उनके लडक़े की तलाशी के लिए स्पेशल टीम का गठन करके जांच में तेजी लाई जाए। इस पर अध्यक्ष ने पुलिस विभाग को निर्देश दिए कि एक स्पेशल टीम गठित करके इस मामले में और तेजी से कार्यवाही की जाए और इस शिकायत में अगली बैठक में पटल पर रखा जाए। शिकायत नम्बर 2 जो अनिता विद्यानन्द कालोनी पानीपत की थी का समाधान हो जाने के कारण अनिता बैठक में पेश नही हुई। तीसरी शिकायत गांव पाथरी निवासी राधा रानी की थी। शिकायतकर्ता की शिकायत थी कि पिछले दिनों उनके मकान का ताला तोडक़र रास्ता बनाया
गया और उनके साथ मारपीट भी कि गई और प्रतिवादी का रिस्तेदार पुलिस में होने के कारण सम्बंधित लोगों के विरूद्ध पुलिस ने कोई कार्यवाही नही की। जिसके कारण उन्हें बेघर होकर गांव छोडऩा पड़ा है। इस पर मंत्री ने संज्ञान लेते हुए पुलिस विभाग के अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि यह पुलिस की क्रीमिनल लापरवाही है। इसलिए उक्त महिला को पुलिस सुरक्षा दी जा ताकि वह इस बैठक में उपस्थित हो सके और इस मामले में जो भी पुलिस अधिकारी या कर्मचारी शामिल है उन्हें निलम्बित किया जाए और इस शिकायत को अगली
बैठक के पटल पर रखा जाए। चौथी शिकायत संदीप मलिक उग्रा खेड़ी की थी प्रार्थी ने शिकायत की थी कि आरोपीगण ने उन्हें जान से मारने के इरादे से योजना बनाकर तेजधार हथियार से गम्भीर व जानलेवा चोट मारी थी लेकिन चांदनी बाग पुलिस ने आरोपीगण के खिलाफ कोई कार्यवाही नही की है। इस पर मंत्री महोदय ने कहा कि अपराधी कितना बड़ा शातिर क्यों ना हो, कानून के हाथ बहुत लम्बे होते हैं इसलिए किसी भी अपराधी को बख्शा नही जाएगा।

उन्होंने पुलिस विभाग को निर्देश दिए कि इस मामले में पुन: एफआईआर दर्ज करके तेजी से कार्यवाही अमल में लाई जाए और इस शिकायत को अगली बैठक में भी रखा जाए। पांचवी शिकायत में हुकम सिंह गांव जाटल ने शिकायत की थी जिस पर मंत्री ने आदेश दिए कि
सम्बंधित व्यक्ति के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाए। इसी प्रकार शिकायत नम्बर 6 में राजरानी शक्ति धर्म काटा सनौली रोड पानीपत ने कहा कि हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण ने बिना नोटिस दिए ही उनका 100 वर्ग गज का मकान सभी कानूनों का उल्लंघन करते हुए गिरा दिया जबकि उनके पास मालिकाना हक के सभी कागज थे। इसके बाद उनकी कहीं सुनवाई नही हुई। इस पर अध्यक्ष ने निर्देश दिए कि इस मामले में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के एसडीओ व जेई को सस्पेंड करके आगामी कार्यवाही अमल में लाई जाए। इसी प्रकार शिकायत नंबर 7 में सिद्धार्थ धमीजा ने शिकायत की कि रामलाल चौक की गली नम्बर 1 में उसका मकान है और रिहायशी कालोनी में ढाबा और अक्की डोसा की दुकान है जो अपना सारा कचरा सिवर में बहाते हैं। छह इंच चौड़ा सीवर है जो रोज बंद हो जाता है। इस पर मंत्री ने निर्देश दिए कि इस सिवर को बड़ा किया जाए और नगर निगम के अधिकारी सडक़ से अवैध कब्जा हटवाएं। इस शिकायत पर कार्यवाही नही हो पा रही थी। यह शिकायत सिद्धार्थ धमीजा के लिए वरदान साबित हुई।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6103968
 
     
Related Links :-
देश के 47 वें सीजेआई के रुप में 18 को शपथ लेंगे जस्टिस बोबड
घर का ताला तोड़ डेढ़ लाख पर हाथ साफ कर गए चोर
आतंकियों ने शोपियां में सेब लेने गए दो ट्रक चालकों की हत्या की
सर्विस लेन पर लगने वाला जाम लोगों के लिए सिरदर्द बना
हाईकोर्ट का फरमान रात 8 से 10 बजे के बीच ही छोड़ सकेंगे पटाखे
ग्रैप के 19 उल्लघनकर्ताओं पर 11,2500 रुपए का जुर्माना
सर्विस लेन पर लगने वाला जाम लोगों के लिए सिरदर्द बना
आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में चिदंबरम को दी जमानत लेकिन एक अन्य मामले में अभी रहना होगा जेल में
हरियाणा विधानसभा चुनाव : कैथल में हुड़दंग कर रहे लोगों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज रोहतक में पोलिंग बूथ के बाहर चली गोली
पेटीएम की केवाईसी के नाम पर ठगे साढ़े तीन लाख रुपए