समाचार ब्यूरो
02/07/2019  :  09:41 HH:MM
किम और ट्रम्प की बैठक ऐतिहासिक : उत्तर कोरिया
Total View  706

सियोल उत्तर कोरिया ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उनके नेता किम जोंग-उन की असैन्यकृत क्षेत्र में हुई बैठक को सोमवार को ऐतिहासिक और अद्भुत बताया है। जानकरी के मुताबिक दोनों नेता कोरियाई प्रायद्वीप के परमाणु निरस्त्रीकरण के मामले पर नई सिरे से सकारात्मक बातचीत करने को राजी हो गए।

ट्रम्प के हाल ही में ट्विटर पर अचानक किम को आमंत्रित करने के एक दिन बाद दोनों के बीच यह मुलाकात हुई थी। इस ऐतिहासिक क्षण के दौरान ट्रंप दक्षिण और उत्तर कोरिया को बांटने वाली कंक्रीट की सीमा पर पहुंचे, जहां किम उनका स्वागत करने आए और दोनों ने
हाथ मिलाया था। फिर दोनों ने साथ में उत्तर कोरियाई क्षेत्र की ओर रुख किया। ट्रम्प के उत्तर कोरियाई जमीन पर कदम रखते ही किम ने तालियां बजाई और फिर एक बार दोनों ने हाथ मिलाया और तस्वीरें खिंचवाई। इसके बाद दोनों फिर दक्षिण कोरिया की ओर बढ़े जहां फ्रीडम हाउस में दोनों ने बैठक की थी। केसीएनए ने कहा कि डीपीआरके और अमेरिका के शीर्ष नेताओं की पनमुनजोम में ऐतिहासिक मुलाकात अद्भुत क्षण था। बैठक के बाद ट्रम्प ने किम से कहा था कि मैं सरहद के पार कदम रख कर सम्मानित हूं। विश्व के लिए
यह एक महान क्षण है और यहां आना मेरे लिए सम्मान की बात है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3700315
 
     
Related Links :-
पाकिस्तान नौ नवंबर को खोलेगा करतारपुर कॉरिडोर
भारत ने संयुक्त राष्ट्र में स्थापित किया गांधी सोलर पार्क
कश्मीर पर सवाल पूछने वाले पाक पत्रकारों पर खीझे ट्रंप, कई बार फटकारा कश्मीर एक जटिल मुद्दा, दोनों पक्ष राजी हों तो मैं हमेशा मध्यस्थता को तैयार: ट्रंप
दिल्ली समेत उत्तर भारत में तेज भूकंप के झटके पीओके में तबाही १९ की मौत, ३०० घायल
क्लाइमेट समिट : पीएम मोदी ने कहा 80 देश भारत की इंटरनेशनल सोलर अलायंस की पहल के साथ जुड
यूरोपीय यूनियन ने पाक को लताड़ा, कहा भारत में आतंकी पड़ोसी मुल्क से आते हैं चांद से नहीं
दुबई में संगतों को 550वें प्रकाश पर्व समागमों में शामिल होने का न्योता
पाकिस्‍तान के दो सैनिकों को भारतीय जवानों ने जवाबी कार्रवाई में मार गिराया सफेद झंडा दिखाकर ले गए शव
यूएनएचआरसी में कुरैशी ने कबूला जम्मू-कश्मीर भारत का राज्य
भारत-फ्रांस को घनिष्टतापूर्वक शांति अग्रदूत के रूप में करना चाहिए काम: नायडू