Breaking News
पटियाला हार्ट इंस्टीट्यूट को मिला प्रतिष्ठित ‘कायाकल्प अवॉर्ड’  |  हीरो इलेक्ट्रिक ने स्कूटरों की रेंज में आकर्षक ऑफर पेश किया  |  पराली न जलाने वाले प्रगतिशील किसानों के साथ मुख्यमंत्री की हुई बैठक कैह्रश्वटन अमरिन्दर सिंह ने समस्या के लडऩे के लिए मांगा सहयोग  |  भाजपा का चुनावी घोषणा पत्र झूठ का पुलिंदात्न: भूपेन्द्र हुड्डा  |  सरकारी अस्पतालों को ड्रग मुहैया कराने का मामला: स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने कहा वेयर हाऊस से सीधे तौर पर मिलेगी दवाओं की सह्रश्वलाइ  |  तृष्णा मंडल बनीं मिसेज इंडिया डैजलिंग 2019- 20 की विजेता  |  मंत्री ने इंडो-कैनेडियन अकादमिक प्रतिनिधिमंडल को किया रवाना  |  गांगुली होंगे बीसीसीआई के नए अध्यक्ष  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
03/07/2019  :  09:25 HH:MM
अतिरिक्त जीएसटी के तहत करदाताओं की संख्या 4.25 लाख से हुई अधिक : अभिमन्यु
Total View  708

चंडीगढ़ हरियाणा के वित्त, आबकारी एवं कराधान मंत्री कैह्रश्वटन अभिमन्यु ने कहा है कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) भारतीय अर्थ-व्यवस्था को सुदृढ़ करने और करों के सरलीकरण का देश की आजादी के बाद लिया गया केन्द्र सरकार का एक एतिहासिक निर्णय साबित हुआ है तथा इसके लागू होने के दो वर्ष उपरान्त हरियाणा में 55,231 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ जबकि पूरे देश के राज्यों में 11,77,370 करोड़ रुपये का संग्रहण हुआ है।
जीएसटी क्रियान्वयन के दो वर्ष पूरे होने हरियाणा में मूल्य संवर्धन कर तथा केन्द्रीय बिक्री कर के तहत वर्तमान में 2.25 लाख करदाताओं की वर्तमान संख्या के अतिरिक्त जीएसटी के तहत दो लाख नए करदाताओं ने पंजीकरण करवाया है। इस प्रकार, इसके तहत करदाताओं की संख्या 4.25 लाख से अधिक हो गई है। हरियाणा की सफलता के लिए आबकारी एवं कराधान विभाग के अधिकारी व कर्मचारी बधाई के पात्र है, जिन्होंने जीएसटी करदाताओं के साथ सभी पणधारकों के लिए समय-समय पर कार्यशालाओं, सेमिनारों, सम्मेलनों तथा सीधा संवाद कार्यक्रमों का आयोजन कर इस लक्ष्य को प्राप्त किया और करदाताओं की संख्या का दायरा बढ़ाकर देश के समक्ष एक उदाहरण प्रस्तुत किया है। देश की जनसंख्या का 2.5 प्रतिशत से कम प्रतिनिधित्व होने के बावजूद भी हरियाणा में प्रति व्यक्ति वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रहण राष्टï्रीय औसत से लगभग अढ़ाई गुणा ज्यादा है। वर्ष 2011 की जनगणना के आंकड़ों के अनुसार प्रति व्यक्ति जीएसटी का राष्ट्रीय औसत संग्रहण 9370. 33 रुपये है जबकि हरियाणा में यह 21,744.49 रुपये है। आबकारी एवं कराधान मंत्री ने बताया कि वित्त वर्ष 2017-18 में जीएसटी क्रियान्वयन के बाद आठ महीने के दौरान राज्य जीएसटी, केन्द्रीय जीएसटी, एकीकृत वस्तु एवं सेवाकर तथा सेस सहित कुल संग्रहण 36815 करोड़ रुपये रहा, जो औसतन 4601 करोड़ रुपये प्रतिमाह रहा तथा इस दौरान जीएसटी के अन्र्तगत राज्य का संग्रहण 10178 करोड़ रुपये रहा जिसमें कुछ अस्थायी एकीकृत वस्तु एवं सेवाकर के मामले के निपटान भी शामिल थे। वर्ष 2017-18 के दौरान राज्य का संरक्षित राजस्व 13200 करोड़ रुपये का रहा जिसमें 1933 करोड़ के मूल्य संवर्धन कर तथा केन्द्रीय बिक्री कर के मामलों की प्रतिपूर्ति होनी थी जिसमें से 1199 करोड़ रुपये प्राप्त हुए तथा 667 करोड़ की प्राप्ति अस्थायी एकीकृत वस्तु एवं सेवाकर के निपटान के रूप में हुई। कैह्रश्वटन अभिमन्यु ने बताया कि वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान अस्थायी एकीकृत वस्तु एवं सेवाकर के निपटान सहित राज्य में जीएसटी संग्रहण 16541 करोड़ रुपये रहा जो गत वर्ष के 1199 करोड़ रुपये औसतन प्रतिमाह से बढक़र 1272 करोड़ से 1378 करोड़ रुपये के बीच रहा जो 8.33 प्रतिशत की वृद्घि दर्शाता है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2018-19 के दौरान राज्य का संरक्षित राजस्व 22560 करोड़ का रहा जिसमें 1880 करोड़ रुपये के मूल्य संवर्धन कर तथा केन्द्रीय बिक्री कर के मामलों की प्रतिपूर्ति के लिए 2820 करोड़ रुपये प्राप्त हुए तथा 2476 करोड़ रुपये की प्राप्ति अस्थायी एकीकृत वस्तु एवं सेवाकर के निपटान के रूप में हुई।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   5671282
 
     
Related Links :-
हीरो इलेक्ट्रिक ने स्कूटरों की रेंज में आकर्षक ऑफर पेश किया
टाटा मोटर्स ने ग्राहक संवाद कार्यक्रम और सर्विस कैम्‍पेन की घोषणा की
उपभोक्ताओं की मांग पर पारले प्रोडक्टस वापस लाए रोला कोला
पैनासोनिक ने की 16 नए आउटलेट्स खोलने की घोषणा
बुनियादी असुविधाएं बन रहीं महिला व्यापारियों के लिए बेडिय़ा
एफबीबी ने नए अभियान ‘एफ बीबी हैज इट ऑल’ का ऐलान किया
रूपीक गोल्ड लोन्स अब दिल्ली में भी हुआ लॉन्च
पैनासोनिक ने दिल्ली और हरियाणा में 16 आउटलेट्स का किया उद्घाटन
नए कैम्पेन का लक्ष्य एथनिक स्‍नैक्‍स को युवाओं के लिए कूल बनाना है
आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ ने एयरटेल पेमेंट्स बैंक को बनाया पार्टनर