06/07/2019  :  09:24 HH:MM
एमजीएफ मैट्रोपॉलिटन मॉल में लगा कंपोस्ट ह्रश्वलांट
Total View  777

गुरुग्रामत्न ठोस कचरा प्रबंधन नियम-2016 के तहत प्रतिदिन 50 किलोग्राम या उससे अधिक कचरा उत्पन्न करने वालों को स्वयं के स्तर पर कचरे का निपटान करना अनिवार्य है। इसी कड़ी में एमजीएफ मैट्रोपॉलिटन मॉल प्रबंधन द्वारा मॉल में इको संतुलन एजेंसी के माध्यम से कंपोस्ट ह्रश्वलांट की स्थापना की है।

शुक्रवार को इस ह्रश्वलांट का शुभारंभ नगर निगम गुरुग्राम के संयुक्त आयुक्त-3 हरीओम अत्री ने किया। इस ह्रश्वलांट की क्षमता प्रतिदिन 400 किलोग्राम कचरे का निपटान करने की है। ह्रश्वलांट में बागवानी कचरे तथा गीले कचरे से खाद तैयार की जाएगी। इस मौके पर नगर निगम के सहायक अभिंयता कुलदीप सिंह, वरिष्ठ सफाई निरीक्षक बिजेन्द्र शर्मा, कनिष्ठ अभियंता राजेश कुमार सहित इको संतुलन एजेंसी तथा मॉल प्रबंधन के अधिकारी उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि ठोस कचरा प्रबंधन नियम-2016 के तहत प्रतिदिन 50 किलोग्राम
या उससे अधिक कचरा उत्पन्न करने वालों को बल्क वेस्ट जनरेटर की श्रेणी में रखा गया है। इन्हें अपने यहां निकलने वाले कचरे का निपटान स्वयं के स्तर पर करना अनिवार्य है। नगर निगम गुरुग्राम द्वारा क्षेत्र में बल्क वेस्ट जनरेटरों की पहचान करके उन्हें नियमों की पालना सुनिश्चित  करने के लिए कहा गया था तथा पालना नहीं करने वालों के चालान करने की कार्यवाही की जा रही है। बल्क वेस्ट जनरेटरों को तकनीकी सहायता उपलब्ध करवाने के लिए नगर निगम द्वारा पहल करते हुए ऐसी एजेंसियों को एम्पैनल करके उनके रेट निर्धारित किए गए हैं। बहुत से बल्क वेस्ट जनरेटरों ने नगर निगम की इस पहल को सराहनीय बताया है तथा एजेंसियों से संपर्क करके कंपोस्ट ह्रश्वलांट की स्थापना करवा रहे हैं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8592141
 
     
Related Links :-
रोटरी हेल्थ कार्निवाल में रोटेरियंस ने हेल्थ के प्रति किया जागरुक
डॉक्टर्स दिवाली की शुभकामनाएं देने मरीजों के घर पहुंच
डॉ.बेदी ने मिनिमली इनवेसिव सर्जरी में नए डेवलपमेंट्स पर गेस्ट लेक्चर दिया
डायबटीज से पीडि़तों के लिए आर्ट एग्जीबिशन
ऑर्थो कैम्प में 60 सीनियर सिटिजन की जांच की गई
रक्त की कमी से होने वाले थैलेसीमिया रोग का जागरुकता शिविर आयोजित
50 सीनियर सिटीजंस ने ‘मीट योअर डॉक्टर्स’ प्रोग्राम में हिस्सा लिया
भारत में कैंसर दूसरा सबसे बड़ा हत्यारा
वल्र्ड मेंटल हेल्थ डे: युवाओं ने खास अंदाज में दिया जागरूकता संदेश
स्तन कैंसर से बचने के लिए जागरूक और सावधान रहना जरूरी