समाचार ब्यूरो
16/07/2019  :  09:52 HH:MM
बिहार में बाढ़ का तांडव, 29 लोगों की जान गई
Total View  662

पटना बिहार में मॉनसूनी बारिश ने जो तांडव किया है उससे यहां हाहाकार मचा है। कई जिलों में बाढ़ का कहर लगातार जारी है। नेपाल से सटे राज्य के सीमावर्ती इलाकों में रुक-रुक कर हो रही बारिश ने जानलेवा रूप ले लिया है। बिहार में बाढ़ से अब तक 29 लोगों की मौत हुई है। बाढ़ से बिहार के 8 जिले प्रभावित हैं, तो वहीं 12 लाख से ज्यादा की जनसंख्या बाढग़्रस्त इलाकों में है। बिहार के जिन इलाकों में बाढ़ का सबसे ज्यादा असर है।

उनमें अररिया, किशनगंज, सुपौल, दरभंगा, शिवहर, सीतामढ़ी, पूर्वी चंपारण, मधुबनी जिला शामिल हैं। बाढ़े से अररिया में अबतक 9 लोगों की मौत हो चुकी है, तो वहीं मोतिहारी में बाढ़ से मरने वालों की संख्या 10 है। सीतामढ़ी में बाढ़ से अबतक 4 लोगों की मौत हुई है, जबकि किशनगंज में मौत का आंकड़ा तीन है। दरभंगा में बाढ़ से अब तक दो की मौत की खबर है, वहीं शिवहर में बाढ़ से अब तक एक शख्स की मौत हुई है। प्रभावित इलाकों में राहत और बचाव का काम लगातार जारी है। लोग प्रभावित इलाकों से निकल कर सडक़ों पर शरण लिए हैं। बाढ़ की समीक्षा करने के बाद सीएम नीतीश कुमार ने प्रभावित इलाकों का दौरा भी किया था। नीतीश कुमार ने रविवार को हवाई दौरा करने के बाद राहत और बचाव के काम में तेजी लाने का निर्देश जारी किया था। सीएम नीतीश ने शिवहर, सीतामढ़ी, मोतिहारी, मधुबनी, दरभंगा, मुजफ्फरपुर का हवाई सर्वे किया था। इस दौरान सीएम के साथ जल संसाधन मंत्री भी मौजूद थे। बिहार में बाढ़ पीडि़तों को बचाने के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम भी लगी है। वहीं, बिहार के पूर्वी चम्पारण में बाढ़ से अब तक 11 लोगों की मौत हुई है। ये सभी मौतें बाढ़ के पानी सहित तालाब में डूबने से हुई हैं। जानकारी के मुताबिक मोतिहारी मुफस्सिल थाने के मधुबनी घाट गांव में बूढ़ी गंडक नदी में डूबने से हरि सहनी (36) की मौत हो गई। मृतक के परिवार के लिए मुआवजे की मांग को लेकर ग्रामीणों ने चार घंटे तक मधुबनी घाट-पकड़ीदयाल रोड का जाम कर दिया। दूसरी घटना सिसवा खरार पंचायत के मकड़ी टोला की है जहां रविवार को दो बच्चियों के सुनरी चंवर स्थित पोखरा में डूबने से मौत हो गई। दोनों बकरियों को चराने खेत में जा रही थीं इसी दौरान तालाब में पैर फिसलने से दोनों गिर गईं। दो घंटे की खोजबीन के बाद तालाब की तलहटी से बच्चियों का शव बरामद किये गए। एक अन्य घटना रामगढ़वा के पखनहिया पंचायत के पोखरिया गांव की है जहां सत्येन्द्र शर्मा की पुत्री प्रियांशु कुमारी (12) की मौत डूबने से हो गई। महम्मदपुर सागर गांव निवासी सुरेश राय पुत्र गोलू कुमार (13) की मौत सडक़ किनारे गड्ढे में पैर फिसलने से डूब जाने से हो गई। पिपरा थाना के जमुनिया गांव के देवाघाट पर शनिवार देर शाम धनौती नदी पार कर रहे जमुनिया गांव निवासी लक्ष्मण राम (36) की पानी की तेज धारा में बह जाने से मौत हो गई। चिरैया थाना के रूपहरा पंचायत के पछेयारी टोला गांव के सरेह में रविवार सुबह तीन बच्चे बह रहे पानी में फिसल गये। लोगों ने दो बच्चों को बचा लिया जबकि उमेश राय की पुत्री संध्या (7) की मौत बाढ़ के पानी में
डूबने से हो गई। अन्य घटना दरपा थाना क्षेत्र की है जहां बाढ़ देखने गया युवक रविवार की शाम से लापता था जिसका शव सोमवार को सुबह ग्रामीणों ने बरामद किया है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4718140
 
     
Related Links :-
चंडीगढ़ में होने वाले छात्र संघ चुनाव को लेकर इनसो ने बनाई रणनीति
चौधरी देवी लाल का जन्म दिवस पर सम्मान दिवस
दूसरे दलों में रहते हुए भी हमारे घनिष्ठ थे अरुण जेटली: मुलायम
पूर्व पीएम मनमोहन ने जेटली को दी श्रद्धांजलि
संयुक्त राष्ट्र से वापस लिया जाएगा गुलाम कश्मीर पर दिया प्रस्ताव : स्वामी
कैह्रश्वटन अमरिन्दर सिंह द्वारा अरुण जेतली के निधन पर दुख व्यक्त
पटेल के अधूरे सपने को पीएम ने पूरा किया : शाह
पीएम मोदी की रूस यात्रा की तैयारी को लेकर 27 को मास्को जाएंगे जयशंकर
अब पूरे देश में एक कानून लागू होगा : राजनाथ सिंह
नहीं रहे पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली