समाचार ब्यूरो
02/08/2019  :  09:01 HH:MM
उन्नाव रेप और ऐक्सिडेंट केस : सुको ने सीबीआई से पूछे कड़े सवाल दिल्ली ट्रांसफर किए सभी केस 45 दिन की दी डेड लाइन
Total View  666

नई दिल्ली यूपी के उन्नाव रेप कांड में संदिग्ध सडक़ हादसे में पीडि़ता के घायल होने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कड़ा रुख अपनाते हुए इस केस से जुड़े सभी पांच मामलों को दिल्ली ट्रांसफर कर दिया। सुप्रीम कोर्ट ने इसके साथ ही केस की रोजाना सुनवाई करते हुए 45 दिन की डेडलाइन भी तय कर दी है। सडक़ हादसे की छानबीन भी एक हफ्ते के अंदर पूरी करने का आदेश दिया गया है। कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार से कहा कि वह पीडि़ता के परिजनों को 25 लाख रुपये का मुआवजा भी दे।

देश की सर्वोच्च अदालत ने कहा कि यदि घायल पीडि़ता के परिवार वाले इच्छा जाहिर करें, तो उसे इलाज के लिए दिल्ली के एम्स में शिफ्ट किया जाए। सुप्रीम कोर्ट ने इसके साथ ही पीडि़ता और गवाहों को सुरक्षा देने का आदेश दिया। कोर्ट ने कहा कि तत्काल प्रभाव से 
सीआरपीएफ पीडि़त परिवार को सुरक्षा मुहैया कराएगी। कोर्ट ने तुषार मेहता से पूछा कि पीडि़ता का स्वास्थ्य अभी कैसा है? इस पर मेहता ने बताया कि वह वेंटिलेटर पर है। फिर जजों ने पूछा कि क्या पीडि़ता को शिफ्ट किया जा सकता है? इस पर सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि वह कुछ कह नहीं सकते। फिर कोर्ट ने कहा कि अगर संभव हो तो उसे हवाई जहाज से दिल्ली लाकर ऐम्स में भर्ती कराएं। सीजेआई रंजन गोगोई, जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस ए बोस की बेंच बेंच ने सुनवाई के दौरान सॉलिसिटर जनरल को कहा कि इस मामले को जल्द खत्म करना चाहते हैं, आप कितने दिनों में स्टेटस रिपोर्ट सौंप देंगे? इस सवाल पर सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि एक महीना तो लग जाएगा। इस पर जजों ने कहा कि नहीं, 7 दिनों में स्टेटस रिपोर्ट आ जानी चाहिए। जैसे भी हो, हम इसे 7 दिनों में खत्म करना चाहते हैं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7471577
 
     
Related Links :-
चोरों ने कृषि कार्यालय को बनाया निशाना
गांव वालों ने भोडाकलां गांव के बाबा ज्योति गिरी के खिलाफ खोला मोर्चा
मुझे और मेरे बेटे को फंसाया जा रहा है : चिदंबरम
सिख महिलाओं को हेलमेट से छूट देने पर हाईकोर्ट ने लगाई फटकार
आईएनएक्स घोटाला दिल्ली हाईकोर्ट ने चिदंबरम को अग्रिम जमानत नहीं दी, कहा हिरासत में पूछताछ जरूरी
रविदास मंदिर गिराने के आदेश को सियासी रंग न दें : सुप्रीम कोर्ट
जिला पुलिस ने हासिल की बड़ी कामयाबी
चंडीगढ़ में दो सगी बहनों का हत्यारा गिरफ्तार
दोबारा शुरूनहीं होगी एनआरसी प्रक्रिया
एलांते मॉल में बम की सूचना झूठी निकलने के बाद फिर से खोला गया