समाचार ब्यूरो
20/08/2019  :  09:41 HH:MM
सौ साल पुराने सदर बाजार के व्यापारियों की समस्याएं होंगी दूर : नवीन गोयल
Total View  707

गुरुग्राम शहर के सौ साल से भी अधिक पुराने सदर बाजार में रोजाना करोड़ों का कारोबार होता है। इस लिहाज से व्यापारी वर्ग टैक्स के रूप में भी सरकार को करोड़ों रुपये का राजस्व देता है। ऐसे में यह जरूरी हो जाता है कि व्यापारियों को अपने व्यवसायिक ठिकानों पर वह सब सुविधायें मिलें, जो कि सरकार की ओर से दी जाती हैं।
यह बात बीजेपी के जिला महासचिव नवीन गोयल ने यहां जैन बारादरी में चुनिंदा व्यापारियों के साथ बैठक में कही। नवीन गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने व्यापारियों को व्यापार में सरलीकरण करने के लिए बड़े पैमाने पर काम किया है। प्रदेश सरकार ने उनकी नीतियों को अमलीजामा पहनाते हुये उन्हें लागू किया है। फिर भी वे मानते हैं कि कई जगह खामियां हैं और उन्हें दूर किया जाना चाहिए। चूंकि वे व्यापार को नजदीक से जानते हैं, इसलिए उन्हें व्यापारियों की समस्याओं, सुविधाओं की जानकारी है। फिर भी वे चाहते हंै कि व्यापारी खुलकर अपनी समस्याओं को रखें, ताकि उनका निराकरण करने का प्रयास किया जा सके। नवीन गोयल ने कहा कि इसी सोच के साथ मंगलवार को गुरुग्राम की शान सदर बाजार के सभी व्यापारी यहां जैन बारादरी में होने वाली बड़ी बैठक में हिस्सा लें और अपनी बात रखें। यह बैठक शाम को सात बजे होगी। उन्होंने यह भी कहा कि सदर बाजार में सबसे अधिक समस्या पार्किंग और गंदगी को लेकर है। इस पर वे जल्द ही सकारात्मक कार्य करें।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2067107
 
     
Related Links :-
पैनासोनिक इंडिया ने वॉशिंग मशीन सेगमेंट में 38 नए मॉडल लॉन्च किए
बहुप्रतीक्षित सेल 29 से फिलपकार्ट की ‘द बिग बिलियन डेज़’ की फिर हुई वापसी
नारेडको के वाइस चेयरमैन प्रवीण जैन ने जताई फेस्टिव सीजन से उम्मीद
फ्रंटिजो बिजनेस सर्विसेज ने पंचकूला में खोला नया कांटेक्ट सेंटर
ढाबा, डेयरी और पोल्ट्री फार्मों की दरों का निर्धारण
पात्र लोगों को ऋण सुविधा उपलब्ध कराया जाएगा : रजा
स्टड्स हेलमेट ने रोहतक में खोला एक्सक्लूसिव ब्रांड आउटलेट
मारुति सुजुकी : 2 दिन के लिए गुरुग्राम-मानेसर ह्रश्वलांट बंद
सोलर पंप आवेदन के लिए 30 सितंबर तक बढ़ाया गया समय
ट्रांसपोर्ट विभाग की 5 एकड़ भूमि विकसित होगी