समाचार ब्यूरो
25/08/2019  :  10:34 HH:MM
खाड़ी के देशों के साथ संबंधों पर नहीं पड़ा आर्टिकल 370 खत्म करने का असर : मोदी
Total View  689

दुबई प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के खाड़ी के देशों के साथ सबं धं ो ं पर अनच्ु छदे 370 खत्म करने का कोई असर नहीं पड़ा है। इस दिशा में लगातार प्रगति हो रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस संबंध में सभी संवैधानिक और कानूनी प्रक्रिया का पालन करते हुए लोकतांत्रिक तरीके से निर्णय लिया गया। प्रधानमंत्री ने सरकार की प्रमुख योजना जल संरक्षण पर भी चर्चा की।

उन्होंने बेयर ग्रिल्स के संयत रहने के बयान पर कहा कि नियमित योगाभ्यास से उन्हें संयत रहने में मदद मिली है। आर्टिकल 370 हटाने पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत के संविधान के तहत ही यह फैसला लिया गया। आर्टिकल 370 के कारण भारत के खाड़ी देशों के साथ संबंध प्रभावित होने की आशंका को प्रधानमंत्री ने पूरी तरह से खारिज कर दिया। पिछले चार दशक से भारत सीमापार से होने वाले आतंक से प्रभावित है। यूएई की ओर से हमें हमेशा आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई में पूरा सहयोग मिला है। जहां तक आर्टिकल-370 का सवाल है, तो आतंरिक तौर पर उठाए हमारे कदम में संवैधानिक मूल्य, कानून और लोकतांत्रिक प्रक्रिया का पूरी तरह से पालन किया गया है। हम जम्मू-कश्मीर को विकास की प्रक्रिया से बाहर रखकर अकेले नहीं छोड़ सकते थे। यूएई की सरकार और प्रशासन ने जिस तरह से हमारे कदम का समर्थन किया है, मैं उसकी सराहना करता हूं। प्रधानमंत्री मोदी ने बेयर ग्रिल्स के लोकप्रिय मैन वर्सेज वाइल्ड शो पर भी चर्चा की। भारत के सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्रियों में शामिल किए जाने पर पीएम मोदी ने कहा कि जनता की सेवा का मौका
मिलना उनके लिए सौभाग्य की बात है। पिछले 5 वर्षों में देश का माहौल बदला है और लोगों की उम्मीद भी बढ़ी है। आने वाले 5 वर्षों में हमारी कोशिश है कि वैश्विक स्तर पर जो उम्मीदें हमसे हैं, हम उसको पूरा करें। पीएम मोदी ने कहा कि यूएई और भारत की दोस्ती
की वजह यूएई का सहिष्णु समाज और भारत के लोकतांत्रिक मूल्य परंपरा है। उन्होंने उम्मीद जताई कि दोनों देशों के संबंध भविष्य में और बेहतर होंगे। शेख जायद बिन सुल्तान अल नाहयान ने यूएई को संसार के सभी वर्ग के लोगों के लिए रहने की जगह बनाया है। मौजूदा यूएई नेतृत्व की प्रगतिशील नीतियों ने देश को नए क्षेत्रों में भी महाशक्ति के तौर पर तैयार किया। आज यूएई में ही लाखों भारतीय रह रहे हैं। यह दोनों देशों की एकता और साझी विरासत का उदाहरण है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6927463
 
     
Related Links :-
यूएनएचआरसी में कुरैशी ने कबूला जम्मू-कश्मीर भारत का राज्य
भारत-फ्रांस को घनिष्टतापूर्वक शांति अग्रदूत के रूप में करना चाहिए काम: नायडू
‘कश्मीर सालिडेरिटी डे’ के पोस्टर दूतावास की दीवारों पर लगाए गए पाक ने तेहरान स्थित दूतावास में लगाए भारत विरोधी पोस्टर
तीन साल से जेल में बंद जाधव से हुई भारतीय राजनयिक की मुलाकात
कश्मीर मामले में पाकिस्तान की घेराबंदी करने जिनेवा पहुंचा भारतीय दल
सिख लडक़ी के जबरन निकाह मामले में पाक का झूठ बेनकाब, परिजनों को नहीं सौंपी पीडि़ता
गुरुद्वारे के मुख्य ग्रंथी की बेटी को अगवा कर धर्म परिवर्तन कराया
मोदी के सामने चूं भी नहीं कर सकते : बिलावल
जी-7 समिट : तीन बार मध्यस्थता की पेशकश कर चुके ट्रंप को मोदी की दो टूक- कश्मीर भारत और पाक का द्विपक्षीय मसला
नायला कादरी ने कहा: बलूचिस्तान को आजाद कराने में अगर भारत साथ देगा तो-आजाद होते ही बलूचिस्तान में लगेगी मोदी की प्रतिमा