25/08/2019  :  11:23 HH:MM
नी रिह्रश्वलेसमेंट करवाने वाले मरीजों ने लगाए पौधे
Total View  784

पंचकूला ट्राइसिटी, पंजाब और हरियाणा भर से 35 से ज्यादा नी रिह्रश्वलेसमेंट करवाने वाले मरीजों ने डॉक्टरों के साथ शनिवार को ओजस सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, पंचकूला के आसपास पौधारोपण अभियान में भाग लिया। ये अभियान ओजस में घुटने की रिह्रश्वलेसमेंट सर्जरी सहित 200 सफल प्रमुख ऑर्थोपेडिक्स सर्जरी को सफलतापूर्वक करने के मौके पर शुरू किया गया।

इसके साथ ही ये संदेश भी दिया गया कि सर्जरी के बाद नी रिह्रश्वलेसमेंट करवाने वाले सभी मरीज अपने रोजमर्रा के काम करते हुए सामान्य जीवन जी सकते हैं। इस अवसर के दौरान, डॉ. हरीश गुप्ता, सीईओ, ओजस हॉस्पिटल ने नी रिह्रश्वलेसमेंट मरीजों को पर्यावरण की सुरक्षा के लिए पौधे लगाने जैसे नेक काम के लिए सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि सभी रोगियों ने प्रकृति मां के प्रति सम्मान जताते हुए ये पौधे लगाए हैं। जगदीश चन्द्र, नी रिह्रश्वलेसमेंट करवाने वाले एक मरीज ने कहा कि उनका सपना था कि वे पौधे लगाए लेकिन घुटने के गठिया के कारण वह बागवानी करने में असमर्थ थे। लेकिन अब घुटने की रिह्रश्वलेसमेंट सर्जरी के बाद वह बागवानी करने और पौधे लगाने के अपने सपने को पूरा करने में सक्षम हो गए हैं। अन्य मरीज, नरेश अग्रवाल और ह्रश्वयारा सिंह ने कहा कि नी रिह्रश्वलेसमेंट सर्जरी करवाने के बाद उनका जीवन पूरी तरह से बदल गया क्योंकि वे अब अपनी नियमित गतिविधियां कर सकते थे जो सर्जरी से पहले संभव नहीं थीं। डॉ. सुरेश सिंगला और डॉ.गगनदीप गुप्ता, दोनों ऑर्थो सर्जनों ने कहा कि उन्होंने टोटल नी रिह्रश्वलेसमेंट 
सर्जरी के लिए स्टिच रहित दर्द रहित तकनीक पेश की है। इस तकनीक से तेजी से रिकवरी होती है और अच्छे कॉस्मेटिक के साथ बेहतर स्किन हीलिंग भी होती है। इस मौके पर पंजाब के जाने माने गायक अमर संधू, जिनकी मां की नी रिह्रश्वलेसमेंट सर्जरी ओजस में हुई है, भी इस मौके पर विशेष तौर पर उपस्थित थे। उन्होंने अपने हिट पंजाबी गीतों से सभी का खूब मनोरंजन किया। इस बीच आयुष्मान भारत योजना के तहत आने वाले मरीज अब ओजस अस्पताल में अपनी नी रिह्रश्वलेसमेंट सर्जरी को आसानी से करवा सकते हैं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   5196061
 
     
Related Links :-
रोटरी हेल्थ कार्निवाल में रोटेरियंस ने हेल्थ के प्रति किया जागरुक
डॉक्टर्स दिवाली की शुभकामनाएं देने मरीजों के घर पहुंच
डॉ.बेदी ने मिनिमली इनवेसिव सर्जरी में नए डेवलपमेंट्स पर गेस्ट लेक्चर दिया
डायबटीज से पीडि़तों के लिए आर्ट एग्जीबिशन
ऑर्थो कैम्प में 60 सीनियर सिटिजन की जांच की गई
रक्त की कमी से होने वाले थैलेसीमिया रोग का जागरुकता शिविर आयोजित
50 सीनियर सिटीजंस ने ‘मीट योअर डॉक्टर्स’ प्रोग्राम में हिस्सा लिया
भारत में कैंसर दूसरा सबसे बड़ा हत्यारा
वल्र्ड मेंटल हेल्थ डे: युवाओं ने खास अंदाज में दिया जागरूकता संदेश
स्तन कैंसर से बचने के लिए जागरूक और सावधान रहना जरूरी