Breaking News
भाजपा ने महज 10 महीने में कांग्रेस से हथिया ली दो राज्यों की सत्ता   |  अवैध रूप से सीएंडडी वेस्ट डंपिंग करने वालों पर की जा रही है कार्रवाई  |  कोराना (कोविड-19) से स्वच्छता, सतर्कता व जागरुकता ही बचाव : नरेश नरवाल  |  आज का देश की महिलाओं व हमारी बच्ची के लिए ऐतिहासिक दिन है : बजरंग गर्ग  |  कोविड 2019 संक्रमण को फैलने से रोकने के उपायों के बारे में आम जनता को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करें : उपायुक्त  |  संदिग्ध मरीजों के लिए गुरुग्राम जिला में 22 आइसोलेटिड वार्ड तथा 4 क्वारंर्टाइन सुविधा बनाई गई  |  स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा संक्रमण से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है  |  भाजपा ने प्रदेश पदाधिकारियों तथा प्रदेश मोर्चा अध्यक्षों की घोषणा की   |  
 
 
समाचार ब्यूरो
25/09/2019  :  10:40 HH:MM
‘हाउडी मोदी’: सदमे में पाकिस्तान
Total View  817

इसमें कोई दो राय नहीं है कि हाउडी मोदी इवेंट के कामयाबी से पाकिस्तान गहरे सदमे में है। भारत की विश्व बिरादरी में बढ़ती साख और प्रतिष्ठा उसे रास नहीं आ रही है। कश्मीर से धारा 370 हटाये जाने के बाद से ही बौखलाया पाकिस्तान अब हाउडी मोदी से चिढ़ा हुआ है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक साथ मंच साझा कर सारी दुनिया को एक बड़ा संदेश दिया है। मोदी ने मंच से आतंक के खिलाफ कड़े प्रहार किये। वहीं दुनिया भर में बढ़ते आतंकवाद को लेकर अपनी चिंताएं भी जाहिर की।

पीएम मोदी ने इसके साथ ही बिना नाम लिए आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को धो डाला। पीएम ने कहा कि 9/ 11 हो या मुंबई में 26/11 हो, उसके साजिशकर्ता कहां पाए जाते हैं? उन्होंने कहा कि इन लोगों ने भारत के प्रति नफ रत को ही अपनी राजनीति का केंद्र बना दिया है, ये वो लोग हैं, जो अशांति चाहते हैं। प्रधानमंत्री मोदी जब पाकिस्तान का नाम लिए बगैर उसे वैश्विक आतंकवाद का गढ़ बताते हुए हमला कर रहे थे, उस वक्त दर्शकों में अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप भी मौजूद थे जो उनके भाषण के बीच में कई बार तालियां
बजाते हुए दिखे। मोदी ने कहा, "अब वक्त आ गया है कि आतंकवाद के खिलाफ सबको मिलकर लड़ाई लडऩी होगी। ट्रंप ने मजबूती के साथ आतंक के खिलाफ लड़ाई लड़ी है। आतंक के खात्मे पर उनके मनोबल के लिए भी सबको तालियां बजाकर उनका अभिवादन करना चाहिए।" वास्तव में अमेरिका के ह्यूस्टन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाउडी मोदी कार्यक्रम की सफ लता को दुनियाभर में भारत की बढ़ती ताकत का प्रतीक माना जा रहा है। इससे पाकिस्तान बौखला गया है। पड़ोसी मुल्क में इस शो को देखने के बाद वहां के मंत्री और
लोग भारत और पीएम मोदी के बारे में उल्टी सीधी बाते कर रहे हैं। कार्यक्रम की सफ लता से खिसियाए पाकिस्तान के विज्ञान और तकनीक मंत्री चौधरी फ वाद हुसैन ने इसे फ्लॉप बताकर अपनी भड़ास निकाली। इससे पहले चंद्रयान-2 पर भी फ वाद हुसैन ने काफ ी विवादित ट्वीट किए थे। भारत के खिलाफ अक्सर ही विवादित ट्वीट करने वाले फवाद हुसैन ने हाउडी मोदी कार्यक्रम को असफल बताया। उन्होंने ट्वीट किया, ‘लाखों रुपये खर्च करने के बाद भी ‘‘मोदी जनता’ का निराशाजनक शो। ये लोग सिर्फ यही कर सकते हैं।  यूएसए, कनाडा और दूसरी जगहों से लोगों को इक_ा कर सकते हैं. लेकिन यह दिखाता है कि पैसों से सब कुछ नहीं खरीदा जा सकता।’ इसके साथ हुसैन ने ‘मोदी इन हायूस्टन’ हैशटैग का भी प्रयोग किया। वास्तव में पाकिस्तान की खिसियाट को आसानी से समझा जा सकता है। मोदी सरकार ने जब से जम्मू कश्मीर से धारा 370 और 35 हटायी है, तब से पाकिस्तान भारत पर किसी ने किसी तरीके से अपनी खीझ और गुस्सा निकाल रहा है। पाकिस्तान ने इस मुद्दे पर अमेरिका की मध्यस्थता से लेकर यूएन तक का दरवाजा खटखटाया। उसे थोड़ा बहुत चीन का साथ जरूर मिला, हालांकि तमाम दरवाजों से उसे निराशा ही हाथ लगी। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की कुछ महीने पूर्व पाकिस्तान यात्रा भी सबको बखूबी याद है। पाकिस्तान प्रधानमंत्री की यात्रा को अमेरिकी प्रशासन ने खास तवज्जो नहीं दी थी। अमेरिका पहुंचने पर एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भव्य स्वागत हुआ तो वहीं पाक पीएम इमरान खान की बेइज्जती हो गई। दरअसल, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान जब सऊदी के विमान से न्यूयॉर्क पहुंचे तो उनका स्वागत करने के लिए कोई बड़ा अमेरिकी अधिकारी मौजूद नहीं था। पाकिस्तान को शर्मिंदगी उस वक्त हुई जब इमरान के आगे रेड कार्पेट भी लगभग एक फुट का ही बिछा था। पाक मंत्री अमेरिका में मोदी के भव्य स्वागत और पाक पीएम इमरान खान को तवज्जो न मिलने से झल्ला गए। कश्मीर के मामले
में अमेरिका को भारत के साथ आते देख पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख रशीद ने कहा, कश्मीर के मामले में अमेरिका पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। रशीद ने इस मामले में चीन को एक मात्र करीबी दोस्त बताया।

प्रधानमंत्री मोदी ने हाउडी मोदी के माध्यम से कई संदेश पूरी दुनिया को दिए। जैसे, भारत और अमेरिका आतंकवाद के खिलाफ एक साथ मजबूती से खड़े हैं और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के मामले में भारत को अमेरिका का समर्थन हासिल है। इतना ही नहीं पाकिस्तान के असंतुष्ट समूहों पश्तो, ब्लोच व सिंधी कार्यकर्ता भी नरेंद्र मोदी से अपनी अस्मिताओं की चुनौती के बाबत मिले। अमेरिका पहुंचने पर पाक प्रधानमंत्री के ठंडे स्वागत के बीच अनुमान लगाना कठिन नहीं है कि कश्मीर मुद्दे पर भारत विरोधी पाकिस्तानी मुहिम को
अमेरिका में तरजीह नहीं मिलने वाली। ऐसे में कहा जा सकता है कि ह्यूस्टन आयोजन के जरिये नरेंद्र मोदी देश के कूटनीतिक लक्ष्यों को साधने में किसी हद तक कामयाब रहे हैं। यह भी कि भारत व अमेरिका के रिश्ते कारोबार व राजनीति से कहीं आगे बढ़ चुके हैं, जिसे भारत की विदेश नीति की कामयाबी ही कहा जा सकता है जो भारत के बढ़ते कद व सामथ्र्य का परिचायक भी है। इसके अलावा भारत और अमेरिका के बीच पिछले कुछ दिनों से बढ़ रहे व्यापारिक तनाव को कम करना भी इस कार्यक्रम का उद्देश्य था। जानकारों के मुताबिक
मोदी ने पाकिस्तान पर एक दूसरा ‘ट्रंप कार्ड’ अमेरिका पर हुए सबसे बड़े आतंकी हमले और मुंबई अटैक को जोडक़र चला और बिना नाम लिए पाकिस्तान की तरफ इशारा भी कर दिया। वैश्विक मंचों पर कश्मीर को लगातार मुद्दा बनाने की कोशिश कर रहे पाकिस्तान के लिए मोदी के इस कूटनीतिक स्ट्रोक का तोड़ निकालना अब मुश्किल होगा। वहीं हाउडी मोदी के इस मेगा इवेंट में पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति के सामने ही 370 हटाने पर भारतीय सांसदों के लिए तालियां बजवाकर अमेरिका ही नहीं, बल्कि वैश्विक समुदाय को भी साफ कर दिया कि यह फैसला देश की सर्वोच्च संस्था ने लिया है। मोदी यह कूटनीतिक दांव पाकिस्तान के पीएम इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में कश्मीर मुद्दा उठाने से ठीक पहले चला है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हाउडी मोदी कार्यक्रम में पाकिस्तान को एक नहीं 4 बड़े संदेश दिए। पहला सीमा सुरक्षा भारत के लिए महत्वपूर्ण है। दूसरा हमें अपनी सीमाओं की रक्षा करनी चाहिए। तीसरा आतंकवाद पर जोर देते हुए कहा कि हम कट्टरपंथी इस्लामिक आतंक से लड़ेंगे। इसके बाद चौथा बड़ा संदेश दिया कि संयुक्त रूप से आतंकवाद से हम ही नहीं पूरी दुनिया लड़ेगी। हाउडी मोदी शो में पीएम मोदी ने यूनाइट्स स्टेट्स की खुलकर प्रशंसा ही। इसके अलावा अमेरिकी राष्ट्रपति से लेकर सभी उच्च अधिकारियों की मौजूदगी पर कहा कि उनकी उपस्थिति दोनों देशों की साझा, करीबी और मजबूत
साझेदारी को दर्शाती है। हाउडी मोदी की सफ लता के बाद केंद्रीय रक्षा राज्यमंत्री श्रीपद येसो नाइक ने पाकिस्तान को चेतावनी दी है। उन्होंने इस कार्यक्रम के सफ ल आयोजन को लेकर पाकिस्तान पर अप्रत्यक्ष निशाना साधते हुए कहा कि समझने वाले के लिये इशारा ही काफ ी होता है। प्रधानमंत्री ने हाउडी मोदी के मंच से विश्व बिरादरी में भारत की साख को बढ़ाने का काम किया है। पाकिस्तान आज सारी दुनिया के सामने बेनकाब हो चुका है। भारत सरकार को पाकिस्तान से सतर्क रहना चाहिए। घबराहट, खिसियाहट और खीझ में वो भारत में अशांति फैलाने की कोशिश कर सकता है। -लेखक स्वतंत्र पत्रकार हैं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6159498
 
     
Related Links :-
एकता के सूत्रधार थे सरदार पटेल
कब मुक्त होगी पुलिस
कलम के धनी-गणेश शंकर ‘विद्यार्थी’
पाकिस्तान का परमाणु युद्ध की गीदड़ भभकी
नतीजे बताएंगे देश का मूड
संतान की दीर्घायु का पर्व है अहोई अष्टमी
किंग बनाम किंगमेकर की लड़ाई
अभिजीत का नोबेल पुरस्कार है बेहद खास
पति की दीर्घायु की कामना का व्रत करवाचौथ
स्वेच्छा से ही घटेगा ह्रश्वलास्टिक का उपयोग