17/10/2019  :  10:35 HH:MM
रक्त की कमी से होने वाले थैलेसीमिया रोग का जागरुकता शिविर आयोजित
Total View  766

गुरुग्रामत्न रेडक्रॉस सोसायटी गुरुग्राम द्वारा जिला उपायुक्त गुरुग्राम अमित खत्री और समाजसेविका एवं उपायुक्त की माताजी कृष्णा देवी की अध्यक्षता में सोहना रोड स्थित जी डी गोयंका यूनिवर्सिटी के सहयोग से उनके प्रांगण में थैलेसीमिया रोग के लिए जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि कृष्णा देवी, सोसायटी के सचिव महेश गुप्ता, डॉ. रोहित दत्त (ऐसोसिऐट डिन), कैब वेलफेयर फाऊंडेशन से विवेक जैन, डॉ. जे एस अरोड़ा, आदि द्वारा सामूहिक रुप से शिविर का शुभारम्भ किया गया। इस अवसर पर जिला रैडक्रास सोसायटी,
गुरुग्राम से सचिव महेश गुप्ता ने बताया कि थैलेसीमिया एक ऐसी बिमारी है जो कि बच्चों को माता-पिता से अनुवांशिक तौर पर मिलने वाला रक्त रोग है। उन्होनें आगे बताया कि इस रोग के होने से शरीर में हीमोग्लोबिन बनने की प्रक्रिया मे। गड़बड़ी हो जाती है, जिसके कारण रक्त की कमी के लक्षण प्रकट होते है। इसकी पहचान तीन माह की आयु के बाद होती है। इसमें रोगी बच्चें के शरीर में रक्त चढ़ाने की आवश्यकता बर-बार पड़ती है। मतदान जागरुकता के तहत् उन्होनें सभी से अपील की कि आने वाले 21 अक्टूबर को मतदान के लिए अवश्य जाए। इस अवसर पर डॉ. रोहित दत्त ने बताया कि थैलेसीमिया रोग से पूरे भारत में लगभग 80 प्रतिशत लोागो को ग्रसित पाया जाता है। उन्होनें कहा कि इस रोग में सूखता चेहरा, लगातार बीमार रहना, वनज न बढऩा आदि लक्षण दिखाई देते है। उन्हानें अपील की जब भी कोई युवक-युवती विवाह करे तो विवाह पूर्व अपने रक्त की जांच अवश्य कराए। इस अवसर डॉ. विवेक जैन एवं डॉ. जे एस अरोड़ा ने विद्यार्थियों को थैलेसीमिया रोग के बारे में बताया कि ये रोग रक्त की भारी कमी से बच्चों में पाया जाता है। इसलिए हर व्यक्ति को अपने रक्त संचार की ओर विशेष ध्यान रखना चाहिए। इस अवसर पर डॉ. राहुल भार्गव, डॉ. नेहा चण्डाल, आर पी जेसवाल, रेडक्रास सोसायटी से कविता, समाज सेविका कोमल भटनागर, सुरेश गुह्रश्वप्ता, एक उड़ान की संस्थापक कल्याणी सचान आदि ने अपना विशेष सहयोग किया।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7611131
 
     
Related Links :-
रोटरी हेल्थ कार्निवाल में रोटेरियंस ने हेल्थ के प्रति किया जागरुक
डॉक्टर्स दिवाली की शुभकामनाएं देने मरीजों के घर पहुंच
डॉ.बेदी ने मिनिमली इनवेसिव सर्जरी में नए डेवलपमेंट्स पर गेस्ट लेक्चर दिया
डायबटीज से पीडि़तों के लिए आर्ट एग्जीबिशन
ऑर्थो कैम्प में 60 सीनियर सिटिजन की जांच की गई
50 सीनियर सिटीजंस ने ‘मीट योअर डॉक्टर्स’ प्रोग्राम में हिस्सा लिया
भारत में कैंसर दूसरा सबसे बड़ा हत्यारा
वल्र्ड मेंटल हेल्थ डे: युवाओं ने खास अंदाज में दिया जागरूकता संदेश
स्तन कैंसर से बचने के लिए जागरूक और सावधान रहना जरूरी
एफआरएआई ने तंबाकू उत्पादों की बिक्री पर प्रस्तावित सुझाव पर जताई चिंता दुकानदारों को लाइसेंस दिए जाने के प्रस्ताव का किया विरोध