Breaking News
सरकार को बेरोजगारी खत्म करने के लिए कुटीर उद्योगों को बढ़ावा देने की जरूरत है : बजरंग गर्ग  |  घरौंडा-चार दिन में चार यौन शोषण की घटनाएं आई सामने  |  केंद्रीय कर्मियों को पेंशन का बड़ा तोहफा, पुरानी पेंशन स्कीम ले सकते हैं कर्मी  |  अभी विचार-विमर्श के स्तर पर है जम्मू-कश्मीर के लिए थिएटर कमान का फैसला : जनरल नरवाणे  |  केंद्र सरकार बहुत जल्द ही घोषित करेगी नई किराया नीति : पुरी  |  शाहीन बाग में जाम लगा तो पुलिस ने कुछ देर के लिए खोला नोएडा-फरीदाबाद मार्ग, फिर बंद किया  |  शाहीन बाग में जाम लगा तो पुलिस ने कुछ देर के लिए खोला नोएडा-फरीदाबाद मार्ग, फिर बंद किया  |  प्राप्त शिकायतों का समाधान गंभीरता एवं तत्परता से करें  |  
 
17/10/2019  :  10:42 HH:MM
कार्तिक मास में ऐसे मिलेगी मां लक्ष्मी की कृपा
Total View  760

कार्तिक मास भगवान विष्णु को अत्यंत प्रिय है। इसलिए मां लक्ष्मी को भी अत्यंत प्रिय है। इसी महीने भगवान विष्णु योग निद्रा से जागते हैं और सृष्टि में आनंद और कृपा की वर्षा होती है। इस महीने में मां लक्ष्मी धरती पर भ्रमण करती हैं और भक्तों को अपार धन देती हैं।
मां लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए ही इस महीने धन त्रयोदशी, दीपावली और गोपाष्टमी मनाई जाती है। इस महीने विशेष पूजा और प्रयोग करके आप आने वाले समय के लिए अपार धन पा सकते हैं और कर्ज तथा घाटे से मुक्त हो सकते हैं। वैसे तो कार्तिक मास में मां लक्ष्मी की कृपा के लिए दीपावली जैसा बड़ा पर्व मनाया जाता है। फिर भी कार्तिक मास में हर दिन मां लक्ष्मी की कृपा पाने के उपाय किए जाने चाहिए। कार्तिक मास में रोज रात्रि को भगवान विष्णु और लक्ष्मी जी की संयुक्त पूजा करें। गुलाबी या चमकदार वस्त्र धारण करके उपासना करें। पारिवारिक और वैवाहिक जीवन के लिए तुलसी की पूजा सबसे उत्तम मानी जाती है और तुलसी के पौधे के रोपण तथा पूजन के लिए सबसे अच्छा महीना कार्तिक का ही होता है। कार्तिक मास में किसी भी दिन, बेहतर होगा शुरुआत में ही तुलसी का पौधा ले आएं और घर में रोपण करें। अब नित्य सायंकाल इस पौधे के नीचे घी का या तिल के तेल का दीपक जलाएं। सुखद पारिवारिक जीवन और वैवाहिक जीवन के लिए प्रार्थना करें।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8445013
 
     
Related Links :-
108 कुंडिया गौ संवर्धन गायत्री महायज्ञ का आयोजन एक से
भगवान विश्वकर्मा के दिखाए मार्ग और शिक्षाओं पर चलना चाहिए : कल्याण
मंदिर मॉडल टाउन समालखा में गोवर्धन पूजा की गई
श्रीमदभगवद् गीता की भूमिका पर सेमिनार का आयोजन
बनासकांठा का नाडेश्वरी माता का मंदिर है आस्था का केन्द्र
शरद पूर्णिमा का है विशेष महत्व
सेक्टर-9 ए में मनाया गया दशहरा
प्रभु को प्रेम भाता है क्रोध और अभिमान नहीं : प्रदीप कृष्ण शास्त्री
विजयदशमी : हुआ रावण का अंत
नवरात्रि पर्व का सातवां दिन : आज करें मां कालरात्रि की पूजा