समाचार ब्यूरो
23/10/2019  :  09:53 HH:MM
जिला में आतिशबाजी की बिक्री के लिए स्थान निर्धारत किए
Total View  701

करनाल जिलाधीश करनाल विनय प्रताप सिंह की ओर से जारी एक आदेश के तहत दीपावली पर्व के दृष्टिगत जिला में आतिशबाजी की बिक्री हेतू स्थल निर्धारत किए गए हैं। इनमें करनाल शहर के सैक्टर-4 पार्ट1 ट्रांसपोर्ट नगर, तरावड़ी में पुराने किले के पास दशहरा ग्राउण्ड, नीलोखेड़ी में भी दशहरा ग्राउण्ड, घरौंडा में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय का ग्राउण्ड, असंध में भी राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय का ग्राउण्ड तथा इन्द्री में राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय शामिल हैं।

आतिशबाजी की बिक्री 25 अक्तूबर 2019 से 27 अक्तूबर 2019, प्रात: 10 बजे से रात्रि 7 बजे तक की जा सकेगी, जबकि आतिशबाजी 27 अक्तूबर 2019 रात्रि 8 बजे से 10 बजे तक ही चलाई जा सकेगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि पटाखो की बिक्री केवल वही लोग कर सकेंगे, जिन्होंने इसके लिए जिला प्रशासन से लिखित अनुमति प्राप्त की है। बिना अनुमति के पटाखो की बिक्री पर पूर्णत: प्रतिबंध है और यदि कोई व्यक्ति बिना अनुमति के पटाखे व आतिशबाजी इत्यादि बेचता पाया जाएगा, तो उसके विरूद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई अमल में
लाई जाएगी। आदेश में कहा गया है कि 23 अक्तूबर बुधवार को बाद दोपहर 3 बजे आतिशबाजी के लिए लगाए जाने वाले स्टालों का आबंटन एक कम्ह्रश्वयूटर ड्रा के जरिए किया जाएगा। करनाल शहर में स्टालो की कुल संख्या 25, घरौंडा में 6, असंध में 8, तरावड़ी में 5, इन्द्री में भी 5, निसिंग में 1 तथा नीलोखेड़ी में 5 स्टाल लगाए जाने का प्रावधान है। सिविल सर्जन करनाल तथा सचिव रैड क्रॉस सोसाईटी सैक्टर-4 पार्ट-1 ट्रांसपोर्ट नगर में 25 से 27 अक्तूबर को प्रात: 10 बजे से रात्रि 7 बजे तक एक एम्बूलेंस तथा डॉक्टर टीम जीवन
रक्षक दवाईयों सहित भेजेंगे। सम्पदा अधिकारी एच.एस.वी.पी. तथा नगर निगम के ई.ओ. पेयजल युक्त टैंकर स्थल पर भेजना सुनिश्चित करेंगे। निर्धारित क्षेत्र में सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आतिशबाजी तथा पटाखो की बिक्री के दौरान गैस सिलेंडर जैसी ज्वलनशील वस्तु रखने का अधिकार नहीं है। स्टाल पर आतिशबाजी का डैमोस्ट्रेशन नहीं किया जाएगा। प्रत्येक स्टाल पर दो बड़े-बड़े पानी के ड्रम तथा दो ड्रम रेत रखनी होगी। सभी आतिशबाजी विक्रेताओं को उप आबकारी एवं कराधान आयुक्त सेल टैक्स के कार्यालय में जी.एस.टी. की सभी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद एन.ओ.सी. लेनी होंगी। असामाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखने के लिए पुलिस की तैनाती भी रहेगी। कोई दुकानदार बिना लाईसेंस के अनाधिकृत स्थान या दुकान पर आतिशबाजी बेचते हुए पाया गया, तो उसके विरूद्घ भारतीय विस्फोटक नियम 1984 की धारा 181 के अंतर्गत कानूनी कार्रवाई की जाएगी। दीपावली को लेकर जिलाधीश ने सभी नागरिको से भी अपील की है कि वे दीपावली त्यौहार को प्रदूषण और शोर रहित मनाएं। आतिशबाजी से होने वाली दुर्घटना से बचें। दूसरी ओर जिलाधीश करनाल विनय प्रताप सिंह ने माननीय सर्वोच्च न्यायालय के 23 अक्तूबर 2018 तथा 11 अप्रैल 2019 के आदेशो के हवाले से एक अन्य आदेश जारी कर कहा है कि दीपावली पर्व पर रात्रि 8 बजे से 10 बजे के बीच ही पटाखे इत्यादि चलाए जा सकेंगे। कम उत्सर्जन करने वाले तथा ग्रीन पटाखो का प्रयोग किया जाए। आदेश में कहा गया है कि भारत जैसे मुल्क में पी.ई.एस.ओ. (पैट्रोलियम तथा विस्फोटक सुरक्षा संगठन) द्वारा अनुमोदित पटाखो की बिक्री तो कानूनी रूप से ठीक है लेकिन विदेशी आतिशबाजी को गैर- कानूनी माना गया है, क्योंकि इनसे जन सुरक्षा खतरे में पड़ जाती है। दीपावली को आतिशबाजी का प्रयोग रात्रि 8 बजे से 10 बजे तक चलाई जा सकेगी। जो व्यक्ति इन आदेशो की अवहेलना करेगा उसके खिलाफ सी.आर.पी.सी. तथा विस्फोटक अधिनियम 1884 के तहत कार्रवाई की जाएगी।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8343136
 
     
Related Links :-
सिंडिकेट बैंक के 94वें स्थापना दिवस के उपलक्ष्य पर रक्तदान शिविर का आयोजन
मंडी में किसानों को अपनी धान बेचने के लिए खाने पड़ रहे हैं धक्के
विद्युत उत्पादन निगम को 16वें नेशनल अवार्ड फॉर एक्सीलेंस इन कोस्ट मैनेजमैंट-2018 में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ
गुरुनानक देव का प्रकाश पर्व: एयर इंडिया ने विमान पर ‘एक ओंकार’ का चिह्न बनाया
निसान ने टोक्यो मोटर शो में आरिया कॉन्सेह्रश्वट का अनावरण किया
येस बैंक ने मलोट में खोली नई शाखा
किसानों को बागवानी की खेती के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है
फ न्र्स एन पेटल्स हरियाणा में बढ़ा रही है अपना नेटवर्क
येस बैंक ने एमईआईटीवाई स्टार्टअप समिट में जीता डिजिटल पेमेंट्स अवॉर्ड
त्योहारों के इस सीजन बजाज फिनसर्व के पर्सनल लोन के साथ