Breaking News
भाजपा ने महज 10 महीने में कांग्रेस से हथिया ली दो राज्यों की सत्ता   |  अवैध रूप से सीएंडडी वेस्ट डंपिंग करने वालों पर की जा रही है कार्रवाई  |  कोराना (कोविड-19) से स्वच्छता, सतर्कता व जागरुकता ही बचाव : नरेश नरवाल  |  आज का देश की महिलाओं व हमारी बच्ची के लिए ऐतिहासिक दिन है : बजरंग गर्ग  |  कोविड 2019 संक्रमण को फैलने से रोकने के उपायों के बारे में आम जनता को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करें : उपायुक्त  |  संदिग्ध मरीजों के लिए गुरुग्राम जिला में 22 आइसोलेटिड वार्ड तथा 4 क्वारंर्टाइन सुविधा बनाई गई  |  स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा संक्रमण से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है  |  भाजपा ने प्रदेश पदाधिकारियों तथा प्रदेश मोर्चा अध्यक्षों की घोषणा की   |  
 
 
समाचार ब्यूरो
30/10/2019  :  10:25 HH:MM
देश के 47 वें सीजेआई के रुप में 18 को शपथ लेंगे जस्टिस बोबड
Total View  888

नई दिल्ली देश के 47 वें प्रधान न्यायाधीश के रुप में सुप्रीम कोर्ट वरिष्ठ जज जस्टिस शरद अरविंद बोबड़े 18 नवंबर को शपथ लेंगे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनके नाम पर मुहर लगा दी है। जस्टिस बोबड़े का कार्यकाल 23 अप्रैल 2021 तक रहेगा। जस्टिस बोबड़े अयोध्या टाइटल विवाद समेत कई महत्वपूर्ण पीठों के सदस्य रहे हैं। वह बीसीसीआई सुधार मामले की सुनवाई करने वाली पीठ की भी अगुवाई कर रहे हैं।

साल 2018 में उन्होंने कर्नाटक राजनीतिक विवाद पर रातभर कांग्रेस व जेडीएस की याचिका पर सुनवाई की थी, जिसके बाद वहां दोबारा सरकार बन गई। जस्टिस बोबड़े निजता के अधिकार के लिए गठित संविधान पीठ में शामिल रहे और वह आधार को लेकर उस बेंच में भी रहे जिसने कहा था कि जिन लोगों के पास आधार नहीं है उन्हें सुविधाओं से वंचित नहीं किया जा सकता। जस्टिस बोबडे ने 1978 में नागपुर विश्वविद्यालय से एलएलबी की डिग्री हासिल करने के बाद बार काउंसिल ऑफ महाराष्ट्र में नामांकन कराया। उन्होंने 21 साल
तक बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर बेंच में प्रैक्टिस की और सुप्रीम कोर्ट में भी पेश हुए। उन्हें 1998 में वरिष्ठ वकील के रूप में नामित किया गया और बाद में मार्च, 2000 में बॉम्बे उच्च न्यायालय के अतिरिक्त न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत किया गया था। अप्रैल, 2013 में
उन्हें सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत किया गया और वह 23 अप्रैल, 2021 को सेवानिवृत्त होंगे। वह वर्तमान में देश के दूसरे सबसे वरिष्ठ न्यायाधीश हैं और मुंबई और नागपुर दोनों परिसरों में महाराष्ट्र नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के चांसलर के रूप
में भी कार्य कर रहे हैं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2389543
 
     
Related Links :-
घर बैठे पुलिस वेरिफिकेशन रिपोर्ट उपलब्ध कराने वाला, हरियाणा पहला प्रदेशः एडीजीपी एएस चावला
हरियाणा एसटीएफ को मिली बडी कामयाबी
घरौंडा-चार दिन में चार यौन शोषण की घटनाएं आई सामने
घर का ताला तोड़ डेढ़ लाख पर हाथ साफ कर गए चोर
आतंकियों ने शोपियां में सेब लेने गए दो ट्रक चालकों की हत्या की
सर्विस लेन पर लगने वाला जाम लोगों के लिए सिरदर्द बना
हाईकोर्ट का फरमान रात 8 से 10 बजे के बीच ही छोड़ सकेंगे पटाखे
ग्रैप के 19 उल्लघनकर्ताओं पर 11,2500 रुपए का जुर्माना
सर्विस लेन पर लगने वाला जाम लोगों के लिए सिरदर्द बना
आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में चिदंबरम को दी जमानत लेकिन एक अन्य मामले में अभी रहना होगा जेल में