समाचार ब्यूरो
30/10/2019  :  11:33 HH:MM
पाकिस्तान नौ नवंबर को खोलेगा करतारपुर कॉरिडोर
Total View  694

लाहौर करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब में अरदास के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं की तीव्र निकासी के लिए वहां पर 80 आप्रवासन काउंटर बनाए गए हैं। इस पवित्र गुरुद्वारा में बड़ी संख्या में सिख श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है, जिस देखते हुए पाक प्रशासन ने ये इंतजाम किए हैं। भारत और पाकिस्तान ने पिछले हफ्ते करतारपुर गलियारे को लेकर एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे।

इसके तहत वहां जाने वाले श्रद्धालुओं को वीजा लेने की जरूरत नहीं होगी। समझौते के मुताबिक 5000 भारतीय श्रद्धालुओं को रोजाना गुरुद्वारा दरबार साहिब जाने की अनुमति मिलेगी, जहां सिख धर्म के संस्थापक गुरुनानक ने अपने जीवन के अंतिम 18 वर्ष गुजारे थे। करतारपुर कॉरिडोर को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा नौ नवंबर को विधिवत खोलने का कार्यक्रम है। पाकिस्तान के आंतरिक मामलों के मंत्रालय ने भारत से आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए तीन प्रवेश द्वार बनाए हैं। संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) दस दिन पहले भारतीय सीमा सुरक्षा बल को भारतीय तीर्थयात्रियों की निकासी की सूची भेजेगा। इसके अलावा श्रद्धालुओं के वहां पहुंचने पर अधिकारियों के पास उनके पासपोर्ट की स्कैन कॉपी मिल जाएंगी। भारतीय और पाकिस्तानी श्रद्धालुओं को गुरुद्वारे में प्रवेश से पहले बायोमीट्रिक स्क्रीनिंग से गुजरना होगा। जिनका पासपोर्ट काली सूची में डाला गया होगा उन्हें जाने की इजाजत नहीं होगी। तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए तैनात होंगे वरिष्ठ अधिकारी करतारपुर गलियारे में इस यात्रा के संचालन को सुगम बनाने के लिए आंतरिक मंत्रालय ने वहां दो सहायक निदेशक और उपनिदेशक के अलावा 169 निरीक्षकों उपनिरीक्षकों और महिला कांस्टेबलों को तैनात किया है। जीरो ह्रश्ववाइंट पर पाकिस्तान के रेंजर हर तीर्थयात्रियों से 20 डॉलर वसूलेंगे। श्रीगुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन
सिंह के अलावा कुछ अन्य नेताओं के भी करतारपुर साहिब जाने की संभावना है। कांग्रेस जत्थे में मनमोहन सिंह के साथ एक दल भेज सकती है। पहले पंजाब के सीएम कैह्रश्वटन अमरिंदर सिंह को जाना था, लेकिन अब ज्योतिरादित्य सिंधिया, पंजाब की प्रभारी आशा कुमारी,
आरपीएन सिंह, रणदीप सुरजेवाला, जतिन प्रसाद और दीपेंद्र हुड्डा को भेजे जाने की संभावना है। पाकिस्तान गैरभारतीय सिखों को भी देगा वीजा पाकिस्तान सरकार ने गुरुनानक देव के 550वें जन्मोत्सव पर अपने मुल्क में करतारपुर गलियारे सहित अन्य गुरुद्वारे में दर्शन के लिए गैरभारतीय सिखों को भी वीजा देने का फैसला किया। करतारपुर पर भारत-पाक समझौते के मुताबिक भारत से आने वाले श्रद्धालुओं को एक दिन के लिए वीजा लेने की जरूरत नहीं है। हालांकि इस दौरान वह केवल बाबा गुरुनानक गुरुद्वारे में ही जा सकते हैं। वहीं अन्य देशों से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए वीजा जरूरी होगा और वह किसी भी गुरुद्वारे में जा सकते हैं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2439748
 
     
Related Links :-
भारत ने संयुक्त राष्ट्र में स्थापित किया गांधी सोलर पार्क
कश्मीर पर सवाल पूछने वाले पाक पत्रकारों पर खीझे ट्रंप, कई बार फटकारा कश्मीर एक जटिल मुद्दा, दोनों पक्ष राजी हों तो मैं हमेशा मध्यस्थता को तैयार: ट्रंप
दिल्ली समेत उत्तर भारत में तेज भूकंप के झटके पीओके में तबाही १९ की मौत, ३०० घायल
क्लाइमेट समिट : पीएम मोदी ने कहा 80 देश भारत की इंटरनेशनल सोलर अलायंस की पहल के साथ जुड
यूरोपीय यूनियन ने पाक को लताड़ा, कहा भारत में आतंकी पड़ोसी मुल्क से आते हैं चांद से नहीं
दुबई में संगतों को 550वें प्रकाश पर्व समागमों में शामिल होने का न्योता
पाकिस्‍तान के दो सैनिकों को भारतीय जवानों ने जवाबी कार्रवाई में मार गिराया सफेद झंडा दिखाकर ले गए शव
यूएनएचआरसी में कुरैशी ने कबूला जम्मू-कश्मीर भारत का राज्य
भारत-फ्रांस को घनिष्टतापूर्वक शांति अग्रदूत के रूप में करना चाहिए काम: नायडू
‘कश्मीर सालिडेरिटी डे’ के पोस्टर दूतावास की दीवारों पर लगाए गए पाक ने तेहरान स्थित दूतावास में लगाए भारत विरोधी पोस्टर