Breaking News
भाजपा ने महज 10 महीने में कांग्रेस से हथिया ली दो राज्यों की सत्ता   |  अवैध रूप से सीएंडडी वेस्ट डंपिंग करने वालों पर की जा रही है कार्रवाई  |  कोराना (कोविड-19) से स्वच्छता, सतर्कता व जागरुकता ही बचाव : नरेश नरवाल  |  आज का देश की महिलाओं व हमारी बच्ची के लिए ऐतिहासिक दिन है : बजरंग गर्ग  |  कोविड 2019 संक्रमण को फैलने से रोकने के उपायों के बारे में आम जनता को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करें : उपायुक्त  |  संदिग्ध मरीजों के लिए गुरुग्राम जिला में 22 आइसोलेटिड वार्ड तथा 4 क्वारंर्टाइन सुविधा बनाई गई  |  स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा संक्रमण से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है  |  भाजपा ने प्रदेश पदाधिकारियों तथा प्रदेश मोर्चा अध्यक्षों की घोषणा की   |  
 
 
समाचार ब्यूरो
31/10/2019  :  09:47 HH:MM
मंडी में किसानों को अपनी धान बेचने के लिए खाने पड़ रहे हैं धक्के
Total View  877

घरौंडा नई अनाज मंडी में किसानों को अपनी धान बेचने के लिए धक्के खाने पड़ रहे है। सरकार की ओर से किसानों की धान नही खरीदी जा रही है। वहीं किसानों की धान के रेट में दो सौ से पांच सौ रुपए तक गिरावट आ गई है। जिससे किसानों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। किसानों को कहना है कि वे लूट रहे है और सरकार उनकी समस्या का हल नही कर रही है। अधिकारियों का कहना है कि किसानों की धान खरीदने का उनके पास को आदेश नही है। जब तक आदेश नही मिलते तब तक धान की खरीद नही होगी।
पिछले कई दिनों से किसानों की अनाज मंडी में धान की खरीद नही हो रहीे है। किसानों को रात भी मंडियों में बितानी पड़ रही है। पिछले लगभग चार दिन से धान की खरीद करने के लिए कोई भी एजेंसी मंडी में नही पहुंची है। जिससे किसानों को चिंता सताने लग गई है। किसानों को औने-पौने दामों में अपनी फसल बेचनी पड़ रही है। किसान मार्किट कमेटी में गेट पास के लिए जा रहे है,लेकिन अधिकारी गेट पास देने से साफ मना कर रहे है। गगसीना निवासी महिपाल ने बताया कि मंडी में धान के खरीददार नही है। किसानों ने आरोप लगाया कि सरकार व आढ़ती मिलीभगत करके किसानों को लूटने पर लगे हुए है। उनकी धान कुछ दिन पूर्व पैतीस सौ रुपएं बिक रही थी लेकिन अब धान छबीस सौ रुपएं बिक रही है। किसान धर्मबीर का कहना है कि भाई लूट गए और मरने की कगार पर है। किसान  सतपाल ने बताया कि धान की खरीद न होने के कारण गेंहू के बीज खरीदने तक के पैसे नही है। सरकार ने पता नही कोई सा फार्मूला निकाला है। जिससे धान की खरीद बंद हो गई है। किसानों का कहना कि मंडी में एक दो प्राईवेट एंजेसी धान की खरीद कर रही है और वही अपने मनमाने भाव से खरीद कर रही है। मंडी के प्रधान सुशील गर्ग ने बताया कि ईरान में धान के एक्सपोर्ट ने होने से धान की खरीद नही हो पा रही है और धान के रेट भी कम हो रहे है। जिससे किसानों को नुक्सान सहना पड़ रहा है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   9711653
 
     
Related Links :-
सिंडिकेट बैंक के 94वें स्थापना दिवस के उपलक्ष्य पर रक्तदान शिविर का आयोजन
विद्युत उत्पादन निगम को 16वें नेशनल अवार्ड फॉर एक्सीलेंस इन कोस्ट मैनेजमैंट-2018 में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ
गुरुनानक देव का प्रकाश पर्व: एयर इंडिया ने विमान पर ‘एक ओंकार’ का चिह्न बनाया
निसान ने टोक्यो मोटर शो में आरिया कॉन्सेह्रश्वट का अनावरण किया
येस बैंक ने मलोट में खोली नई शाखा
किसानों को बागवानी की खेती के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है
जिला में आतिशबाजी की बिक्री के लिए स्थान निर्धारत किए
फ न्र्स एन पेटल्स हरियाणा में बढ़ा रही है अपना नेटवर्क
येस बैंक ने एमईआईटीवाई स्टार्टअप समिट में जीता डिजिटल पेमेंट्स अवॉर्ड
त्योहारों के इस सीजन बजाज फिनसर्व के पर्सनल लोन के साथ