समाचार ब्यूरो
31/10/2019  :  10:06 HH:MM
108 कुंडिया गौ संवर्धन गायत्री महायज्ञ का आयोजन एक से
Total View  694

पंचकूला गोपाष्टमी के उपलक्ष्य में पंचकूला गौशाला ट्रस्ट एवं गायत्री परिवार पंचकूला द्वारा 108 कुंडिया गौ संवर्धन गायत्री महायज्ञ का आयोजन माता मनसा देवी गौधाम में किया जा रहा है। यह आयोजन 1 नवंबर से 4 नवंबर तक चलेगा। इस संबंध में एक पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए पंचकूला गौशाला ट्रस्ट के प्रधान कुलभूषण गोयल ने बताया कि गायत्री परिवार के संतों द्वारा महायज्ञ एवं प्रवचन का किया जाएगा। जिसमें शुक्रवार 1 नवंबर को कलश यात्रा श्री माता मनसा देवी से शुरू होगी और पंचकूला गौधाम में समापन होगा।
2 और 3 नवंबर को हवन यज्ञ शाम, दीप यज्ञ होगा, 4 नवंबर को गोपाष्टमी हवन होगा और प्रवचन होंगे। इस अवसर पर केंद्रीय राज्य मंत्री रतन लाल कटारिया, संघ के प्रचारक प्रेम जी गोयल, पंचकूला के विधायक ज्ञानचंद गुप्ता, गैल इंडिया की डायरेक्टर बंतो कटारिया, गौसेवा के चेयरमैन भानी राम मंगला मुख्य अतिथि होंगे। गायत्री परिवार पंचकूला के सुरेंद्र सिंह तोमर, अजय कौशिक ने बताया कि इस गाय के उत्पादों को प्रयोग एवं उसकी वैल्यू बढ़ाने के लिये प्रेरित किया जाएगा। गाय का आदर सम्मान बढ़ाया जा सके। गौशालाओं की गिनती बढ़ाने एवं लोगों को इसका महत्व समझाने की कोशिश होगी। सुरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि डा. ओपी शर्मा एवं डा. गायत्री शर्मा हरिद्वार से विशेष तौर पर पंचकूला आ रहीं हैं। डा. गायत्री शर्मा ने गर्भोत्सव पर विशेष पर शोध किया है, जिसके बारे में वह प्रवचन देंगी। गर्भोत्सव के प्रचार प्रसार में लगी हुई हैं। पंचकूला में लोगों को गर्भ में आये हुये नई पीढ़ी को कैसे संस्कारित किया जाए और उन्हें एक अच्छे नागरिक बनाने के लिये जागरुक किया जाएगा।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8197586
 
     
Related Links :-
छठ महापूजन के लिए आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराए प्रशासन: धर्मेन्द्र मिश्रा
भगवान विश्वकर्मा के दिखाए मार्ग और शिक्षाओं पर चलना चाहिए : कल्याण
मंदिर मॉडल टाउन समालखा में गोवर्धन पूजा की गई
श्रीमदभगवद् गीता की भूमिका पर सेमिनार का आयोजन
कार्तिक मास में ऐसे मिलेगी मां लक्ष्मी की कृपा
बनासकांठा का नाडेश्वरी माता का मंदिर है आस्था का केन्द्र
शरद पूर्णिमा का है विशेष महत्व
सेक्टर-9 ए में मनाया गया दशहरा
प्रभु को प्रेम भाता है क्रोध और अभिमान नहीं : प्रदीप कृष्ण शास्त्री
विजयदशमी : हुआ रावण का अंत