Breaking News
भाजपा ने महज 10 महीने में कांग्रेस से हथिया ली दो राज्यों की सत्ता   |  अवैध रूप से सीएंडडी वेस्ट डंपिंग करने वालों पर की जा रही है कार्रवाई  |  कोराना (कोविड-19) से स्वच्छता, सतर्कता व जागरुकता ही बचाव : नरेश नरवाल  |  आज का देश की महिलाओं व हमारी बच्ची के लिए ऐतिहासिक दिन है : बजरंग गर्ग  |  कोविड 2019 संक्रमण को फैलने से रोकने के उपायों के बारे में आम जनता को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करें : उपायुक्त  |  संदिग्ध मरीजों के लिए गुरुग्राम जिला में 22 आइसोलेटिड वार्ड तथा 4 क्वारंर्टाइन सुविधा बनाई गई  |  स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा संक्रमण से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है  |  भाजपा ने प्रदेश पदाधिकारियों तथा प्रदेश मोर्चा अध्यक्षों की घोषणा की   |  
 
21/02/2020  :  18:55 HH:MM
शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा और स्वावलम्बन पर रहेगा फोकस
Total View  839

मुख्यमंत्री ने विवेकानंद वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के वार्षिक उत्सव में बतौर मुख्यातिथि की शिरकत, महाशिवरात्रि की दी सभी नगरवासियों को बधाई।
करनाल, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज कहा कि प्रदेश में अगले पांच वर्षो के दौरान शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा और स्वावलम्बन, चार चीजों पर जोर दिया जाएगा, इससे एक सुशिक्षित व सुरक्षित समाज का निर्माण होगा। मुख्यमंत्री शुक्रवार को महाशिवरात्रि के दिन शहर के विवेकानंद वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय में आयोजित वार्षिक उत्सव में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। इससे पहले उन्होंने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की शुरूआत की और मां भारती के चित्र के समक्ष पुïष्प अर्पित किये। उन्होंने कहा कि कुछ वर्ष पहले शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत स्कूलों में शिक्षा स्तर को लेकर जो व्यवस्था बन गई थी, उसे बहुत से विशेषकर कमजोर विद्यार्थी पढ़ाई में पिछड़ गए थे, इस गैप को खत्म करने के लिए हरियाणा सरकार ने लर्निंग एनहांसमेंट प्रोग्राम के तहत मासिक टैस्ट व सक्षम कक्षाएं शुरू करके शिक्षा स्तर को बढ़ाया। इससे बीते पांच सालों में स्कूलों के वार्षिक परिणामों में 10 प्रतिशत का सुधार हुआ। इस तरह के प्रयास जारी रहेंगे और भविष्य में और आगे बढ़ेंगे। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि हरियाणा में स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालयों का जाल बिछाया गया है। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के तहत लड़कियों की शिक्षा पर ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है। दो किलो मीटर से अधिक दूरी के विद्यालयों में लड़कियों की शिक्षा ग्रहण करने के लिए परिवहन व्यवस्था की गई है। विज्ञान के साथ-साथ सूचना प्रौद्योगिकी का जमाना है। इस पर भी ध्यान केन्द्रित है, संकेत दिये कि नये बजट में इसे लेकर कुछ नये प्रावधान किये जाएंगे। उन्होंने कहा कि अगले कुछ दिनों में जो बजट पेश किया जाएगा, वह संतुलित होगा। इसके लिए पहली बार प्रदेश के जनप्रतिनिधियों से सुझाव व परामर्श लिया गया है ताकि क्षेत्रवार विकास के लिए खर्चे व आमदनी को बढ़ाया जा सके। उन्होंने कहा कि वर्ष 2020 को हरियाणा में सुशासन संकल्प वर्ष के रूप में मनाया जाएगा। इसमें कईं बातों के अलावा गरीब व्यक्ति के उत्थान पर ज्यादा फोकस रहेगा। एक लाख 80 हजार से कम आय वाले व्यक्ति को सरकार की ओर से विभिन्न योजनाओं के तहत लाभ दिया जा रहा है। विवेकानंद विद्यालय का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने आज के दिन को अच्छा संयोग बताया और कहा कि आज समय, स्थान और अवसर तीनों का संगम है। समय शिवरात्रि, स्थान दानवीर कर्ण की नगरी और विद्यालय के कार्यक्रम को अवसर बताया। उन्होंने कहा कि विद्यालयों में प्राय: शिक्षा दी जाती है, लेकिन इस विद्यालय में शिक्षा के साथ-साथ विद्यार्थियों को संस्कार भी दिये जाते है। इसके लिए उन्होंने विद्यालय प्रबंधक समिति को बधाई दी और कहा कि अब हरियाणा में सरकारी व निजी स्कूलों में विद्यार्थियों को शिक्षित करने के साथ-साथ संस्कारवान भी बनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने विद्यालय में कम्प्यूटर लैब और सोलर सिस्टम की व्यवस्था के लिए अपने ऐच्छिक कोष से 21 लाख रूपये और सांसद कोष से 11 लाख रूपये देने की घोषणा की। विद्यालय में कल शनिवार का अवकाश और बच्चों को मिठाई की भी घोषणा की। उन्होंने विद्यालय के खेल व पढ़ाई में श्रेष्ठï रहे मेधावी छात्रों को पुरस्कार वितरित किये।  करनाल के सांसद संजय भाटिया ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री का स्वागत किया। विवेकानंद स्कूल को उन्होंने एक ऐसी कार्यशाला बताया, जहां व्यक्ति का निर्माण होता है। इसके लिए उन्होंने भी विद्यालय की प्रबंध समिति को बधाई दी। उन्होंने कहा कि अभी तो शुरूआत है, करनाल की जनता की जो भी अपेक्षाएं है, वे सभी पूरी करेंगे। सांसद ने मुख्यमंत्री की सराहना करते हुए कहा कि वे पहली बार बजट पेश करेंगे, जो समावेशी होगा। सांसदों को भी उनके निर्वाचन क्षेत्र में विकास के लिए 10-10 करोड़ रूपये की राशि दी जाएगी। कार्यक्रम में विद्यालय के छोटे-छोटे बच्चों ने भावपूर्ण सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। 






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8820116
 
     
Related Links :-
महान शिक्षाशास्त्री थे डॉ. राधाकृष्णन
गुड फ्रायडे : त्याग और बलिदान का दिन
चैत्र नवरात्र अष्टमी पर विशेष शक्ति से भरपूर हैं शक्तिपीठ
चैत्र नवरात्र का सातवां दिन जीवन को मंगलमय बनातीं माता कालरात्रि
चैत्र नवरात्र का छठां दिन भक्तों को वरदान देने वाली कात्यायनी
स्कंदमाता की पूजा से मिलेगा संतान सुख
नवरात्रि पर्व के चौथे दिन मां कुष्मांडा की पूजा
आस्था और विश्वास का संगम-खाटू श्याम
जनता ईमानदार राज-नीति चाहती है
बोर्ड परिक्षाओं में बेहतर अंकों के लिए ऐसे करें तैयारी