Breaking News
भाजपा ने महज 10 महीने में कांग्रेस से हथिया ली दो राज्यों की सत्ता   |  अवैध रूप से सीएंडडी वेस्ट डंपिंग करने वालों पर की जा रही है कार्रवाई  |  कोराना (कोविड-19) से स्वच्छता, सतर्कता व जागरुकता ही बचाव : नरेश नरवाल  |  आज का देश की महिलाओं व हमारी बच्ची के लिए ऐतिहासिक दिन है : बजरंग गर्ग  |  कोविड 2019 संक्रमण को फैलने से रोकने के उपायों के बारे में आम जनता को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करें : उपायुक्त  |  संदिग्ध मरीजों के लिए गुरुग्राम जिला में 22 आइसोलेटिड वार्ड तथा 4 क्वारंर्टाइन सुविधा बनाई गई  |  स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा संक्रमण से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है  |  भाजपा ने प्रदेश पदाधिकारियों तथा प्रदेश मोर्चा अध्यक्षों की घोषणा की   |  
 
27/02/2020  :  19:08 HH:MM
शीरा घोटाला और सुगर मिल मामलों में मुख्यमंत्री की क्लीन के विरोध में बलराज कुण्डू का समर्थन वापसी का ऐलान
Total View  63


चंडीगढ़ । हरियाणा में कथित रूप से पिछली भाजपा सरकार के दौरान शीरे की बिक्री और सुगर मिलों की क्षमता बढाने के मामलों के साथ ही रोहतक में पार्किंग निर्माण के ठेके में घोटाले के आरोपों पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा क्लीन चिट दिए जाने पर निर्दलीय विधायक बलराज कुण्डू ने गुरूवार शाम यहां सरकार से समर्थन वापस लेने का ऐलान कर दिया। कुण्डू ने यहां मीडिया से बातचीत में कहा कि प्रदेश की मौजूदा भाजपा-जजपा गठबन्धन सरकार में ईमानदारी का दावा ढकोसला मात्र है। इसलिए वे शुक्रवार को स्पीकर को इस सरकार से समर्थन वापसी का पत्र सौंपेंगे। उल्लेखनीय महम से निर्दलीय विधायक बलराज कुण्डू ने पिछले साल अक्टूबर में सत्तारूढ हुई भाजपा-जजपा गठबन्धन सरकार को बिना शर्त समर्थन दिया था। बलराज कुण्डू पहले भाजपा में ही थे और भाजपा से टिकट न मिलने पर महम से निर्दलीय लडकर विधानसभा में पहुंचे थे।  बहुमत न मिलने पर 40 विधायकों भाजपा ने दस विधायकों वाली जजपा के समर्थन से सरकार बनाई थी। इसके अलावा बलराज कुण्डू समेत सात निर्दलीय विधायकों ने भी सरकार को समर्थन दिया था। बलराज कुण्डू ने हाल में रोहतक से पूर्व विधायक और पूर्व सहकारिता राज्यमंत्री मनीष ग्रोवर के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। इनमें सुगर मिलों का शीरा बेचने और करनाल व पानीपत की सुगर मिलों की क्षमता बढाने के मामलों में घोटाले के आरोप लगाए गए थे। साथ ही रोहतक में पार्किंग निर्माण के ठेके में भी घोटाले के आरोप लगाए थे। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने राष्ट््पति के अभिभाषण पर विधानसभा में हुई चर्चा के जवाब में शुक्रवार को आंकडों के जरिए इन सभी मामलों में क्लीन चिट दे दी। मनोहर लाल के जवाब के दौरान कुण्डू ने अपनी आपत्ति भी दर्ज कराई। उन्होंने क्लीन चिट देने का विरोध किया। इसके बाद कुण्डू ने मीडिया से बातचीत में कहा कि वे इस गठबन्धन सरकार से समर्थन वापस लेने जा रहे है। समर्थन वापसी का पत्र वे शुक्रवार को स्पीकर को सौंपेगे।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4363411
 
     
Related Links :-
भाजपा ने महज 10 महीने में कांग्रेस से हथिया ली दो राज्यों की सत्ता
अवैध रूप से सीएंडडी वेस्ट डंपिंग करने वालों पर की जा रही है कार्रवाई
कोराना (कोविड-19) से स्वच्छता, सतर्कता व जागरुकता ही बचाव : नरेश नरवाल
आज का देश की महिलाओं व हमारी बच्ची के लिए ऐतिहासिक दिन है : बजरंग गर्ग
कोविड 2019 संक्रमण को फैलने से रोकने के उपायों के बारे में आम जनता को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करें : उपायुक्त
संदिग्ध मरीजों के लिए गुरुग्राम जिला में 22 आइसोलेटिड वार्ड तथा 4 क्वारंर्टाइन सुविधा बनाई गई
स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा संक्रमण से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है
भाजपा ने प्रदेश पदाधिकारियों तथा प्रदेश मोर्चा अध्यक्षों की घोषणा की
मारपीट कर लूटपाट करने वाले फरार तीसरे आरोपी को भी पुलिस ने पकड़कर भेजा जेल
आम जनता और निवेशकों में विश्वास पैदा करने की जरूरत: संजय बी चोरड़िया