Breaking News
भाजपा ने महज 10 महीने में कांग्रेस से हथिया ली दो राज्यों की सत्ता   |  अवैध रूप से सीएंडडी वेस्ट डंपिंग करने वालों पर की जा रही है कार्रवाई  |  कोराना (कोविड-19) से स्वच्छता, सतर्कता व जागरुकता ही बचाव : नरेश नरवाल  |  आज का देश की महिलाओं व हमारी बच्ची के लिए ऐतिहासिक दिन है : बजरंग गर्ग  |  कोविड 2019 संक्रमण को फैलने से रोकने के उपायों के बारे में आम जनता को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करें : उपायुक्त  |  संदिग्ध मरीजों के लिए गुरुग्राम जिला में 22 आइसोलेटिड वार्ड तथा 4 क्वारंर्टाइन सुविधा बनाई गई  |  स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा संक्रमण से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है  |  भाजपा ने प्रदेश पदाधिकारियों तथा प्रदेश मोर्चा अध्यक्षों की घोषणा की   |  
 
13/03/2020  :  18:22 HH:MM
घर बैठे पुलिस वेरिफिकेशन रिपोर्ट उपलब्ध कराने वाला, हरियाणा पहला प्रदेशः एडीजीपी एएस चावला
Total View  65

हरियाणा पुलिस में कम्प्युटकरीकरण विषय पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित


चण्डीगढ़। हरियाणा पुलिस अकादमी मधुबन के हर्षवर्धन सभागार में हरियाणा पुलिस में कम्प्युटरीकरण विषय पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें हरियाणा के एडीजीपी प्रशासन एवं आईटी एएस चावला ने प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे उप निरीक्षकों को जानकारी दी। इस अवसर पर अकादमी के निदेशक आईजी योगिंद्र सिंह नेहरा ने अकादमी की ओर से एडीजीपी चावला का स्वागत किया। एडीजीपी चावला ने पुलिसिंग में कम्प्युटरीकरण की दिशा में हरियाणा पुलिस की पहल और नागरिकों को ऑनलाइन दी जाने वाली सेवाओं के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि हरियाणा प्रदेश के निवासियों को चरित्र प्रमाण पत्र, पुलिस की ओर से अनापत्ति प्राप्त और अपने किरायेदार के सत्यापन के बारे में ऑनलाईन डिजीटल हस्ताक्षर के साथ रिपोर्ट घर बैठे उपलब्ध कराने का कार्य पुलिस ने 12 फरवरी 2020 से आरम्भ कर दिया है।  हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज द्वारा इसका शुभारम्भ पुलिस मुख्यालय से किया गया। हरियाणा पहला राज्य है जहां पुलिस की ओर से दी जाने वाली इन तीन सेवाओं को डिजीटल हस्ताक्षर युक्त बनाया गया है।  उन्होंने कहा कि 33 प्रकार की सेवाओं के लिए नागरिक को पुलिस थाना या पुलिस कार्यालय में जाने की जरूरत नहीं है अब इनके लिए हरियाणा पुलिस के वैबपोर्टल हरसमय या सरल केंद्र के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं।  दुर्गाशक्ति एप के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि इसे 12 जुलाई 2018 को माननीय मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल द्वारा आरम्भ किया गया। यह एप महिलाओं की सुरक्षा के दिशा में महत्वपूर्ण साबित हो रहा है। इसे गुगल प्ले स्टोर से या हरियाणा पुलिस में दिए गए लिंक से नि:शुल्क डाऊनलोड किया जा सकता है। आईफोन और एण्ड्रायड दोनों तरह के प्लेटर्फाम पर यह कार्य करता है। विकट परिस्थिति में महिला इस एप के जरिए अपने मोबाईल से बटन दबाती है जिसकी सूचना उसके आवाासीय महिला पुलिस थाने और साथ ही पुलिस मुख्यालय के नियंत्रण कक्ष में पहुंच जाती है। उन्होंने कहा कि पुलिस की ओर से महिला को वापिस कॉल की जाती है यदि महिला द्वारा किसी अवस्था में कॉल रिसीव नहीं की जाती तो पुलिस महिला की लोकेशन पर मदद के लिए पहुंचती है। उन्होंने बताया कि अब तक लगभग 2 लाख यूजर इस एप को डाउनलोड कर चुके हैं। इस एप पर प्राप्त सूचना के आधार पर हजारों की संख्या में महिलाओं की सहायता की गई है।  उन्होंने कहा कि हरियाणा पुलिस तेजी से कम्प्युटरीकरण की दिशा में आगे बढ़ रही है। आने वाले कुछ महीनों में यह प्रयास है कि थाना एवं जिला स्तर से अपराधिक मामलों की रिपोर्टिंग पूरी तरह से पेपर मुक्त हो और यह सभी सूचनाएं ऑनलाईन उपलब्ध हों। वर्तमान में पुलिस पोर्टल को स्वास्थ्य विभाग और जेल विभाग से जोड़ा गया है। विवेचना अधिकारी अपराधी के बारे में अपने थाना से ही उसकी स्थिति के बारे में जानकारी हासिल कर सकता है और अपने थाना से ही डाक्टरी रिपोर्ट प्राप्त कर सकता है। उन्होंने कहा कि नागरिकों को ऑनलाईन प्रथम सूचना रिपोर्ट की प्रतियां उपलब्ध कराने का कार्य गत वर्ष से जारी है।  उन्होंने प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे नवनियुक्त उप निरीक्षकों का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि जिसके पास जितनी अधिक और उपयोगी सूचना है वहीं उतना ही ताकतवर है। प्रगति के साथ प्राथमिकताएं और सूचनाओं के संग्रहण के प्रकार भी बदलते जाते हैं। उन्होंने कहा कि अपने कौशल को निरंतर बढ़ाते रहेंं ताकि हमेशा समाज और विभाग दोनों के लिए आपकी उपयोगिता बनी रहे। उन्होंने कहा कि पुलिसिंग में इंफॉर्मेशन टेक्नालॉजी की भूमिका और अधिक होने वाली है इसलिए इस क्षेत्र में अपनी जानकारी को बढ़ाने मे प्रयास करते रहें। उन्होंने विश्वास जताया कि प्रशिक्षण के बाद इस जानकारी को वे अपने उन सभी साथियों के साथ साझा करते हुए उनकी मदद करेंगे जो कम्प्युटर के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं रखते । अकादमी के पुलिस अधीक्षक कृष्ण मुरारी ने मुख्य वक्ता एडीजीपी चावला का अकादमी की ओर से आभार व्यक्त किया। अकादमी के उप पुलिस अधीक्षक राजकुमार ने कार्यक्रम संचालन किया। इस अवसर पर अकादमी के डीएसपी पवन कुमार, डीएसपी सुंदर सिंह व डीएसपी लक्ष्मी देवी सहित अकादमी का स्टाफ भी उपस्थित रहा।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4790483
 
     
Related Links :-
हरियाणा एसटीएफ को मिली बडी कामयाबी
घरौंडा-चार दिन में चार यौन शोषण की घटनाएं आई सामने
देश के 47 वें सीजेआई के रुप में 18 को शपथ लेंगे जस्टिस बोबड
घर का ताला तोड़ डेढ़ लाख पर हाथ साफ कर गए चोर
आतंकियों ने शोपियां में सेब लेने गए दो ट्रक चालकों की हत्या की
सर्विस लेन पर लगने वाला जाम लोगों के लिए सिरदर्द बना
हाईकोर्ट का फरमान रात 8 से 10 बजे के बीच ही छोड़ सकेंगे पटाखे
ग्रैप के 19 उल्लघनकर्ताओं पर 11,2500 रुपए का जुर्माना
सर्विस लेन पर लगने वाला जाम लोगों के लिए सिरदर्द बना
आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में चिदंबरम को दी जमानत लेकिन एक अन्य मामले में अभी रहना होगा जेल में