समाचार ब्यूरो
08/03/2017  :  18:55 HH:MM
सामाजिक कुरीतियों पर फैसले
Total View  344

हिसारत्न बूरा खाप के चौथे स्थापना दिवस सम्मेलन में सामाजिक कुरीतियों को दूर करने और अपनी संस्कृति को बचाने तथा समाज विकास के मुद्दों पर गहन मंथन किया गया। यह सम्मेलन खाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष रणवीर बूरा किरमच की अध्यक्षता में आयोजित किया गया जिसकी जानकारी खाप के प्रवक्ता बलवंत बूरा ने कल यहां दी। सामाजिक कुरीतियों को दूर करने का प्रस्ताव श्री बलवंत बूरा ने रखा जिसे सर्वसम्मति से पास किया गया। सात सामाजिक कुरीतियों को दूर करने का 38 गांव पहले ही संकल्प कर चुके हैं। सम्मेलन में मृत्यु भोज बंद करने, 13 दिन की जगह सात दिन का शोक मनाने, अर्थी के कफन पर मंहगे कपड़े न डालने, पाग में 10 रुपए लेने-देने, दाह संस्कार में रिश्तेदारों का न बुलाने, डीजे पर रोक लगाने, गांवों को ह्रश्वलास्टिक मुक्त बनाने आदि सामाजिक फैसलों को बूरा गौत्र के 12 जिलों के 76 गांवों, पंजाब के बोपर तथा करोधा के दो गांवों तथा यूपी के 36 गांवों में लागू करने का निर्णय लिया गया। सम्मेलन में फैसला लिया गया कि जो भी इन फैसलों को तोड़ेगा तो बूरा गौत्र ऐसे लोगो की उपेक्षा करके उनको अलग-थलग करेगा।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   9094745
 
     
Related Links :-
बी.एस.एफ. ने मनाया चौथा ‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’
यूपी में टी-शर्ट पहनकर सीएम योगी ने किया योग, राजनाथ भी रहे मौजूद
योग का प्राचीन विज्ञान भारत का आधुनिक विश्व को अमूल्य उपहार : उपराष्ट्रपति नायडू
योग हमारी प्राचीन जीवन पद्धति है : रमन मलिक
कबीर जयंती 28 को सरकारी तौर पर उत्सव की तरह मनायी जाएगी
मंत्री और आला अधिकारी बताएंगे विभागों की उपलब्धिया
फिर से विश्व गुरू बनने की राह पर है भारत : कविता जैन
बांध सुरक्षा विधेयक के प्रस्ताव को मोदी कैबिनेट से स्वीकृति
कांग्रेस ने की केंद्र सरकार की घेराबंदी
आईटीआई प्रशिक्षण पास आऊट युवाओं से आह्वïान