समाचार ब्यूरो
09/03/2017  :  15:28 HH:MM
जाटों का सरकार को 17 मार्च तक का अल्टीमेटम
Total View  321

हिसार त्न आरक्षण समेत सात मांगों को लेकर 39 दिनों से हरियाणा में धरने पर बैठे जाटों ने प्रदेश सरकार को अल्टीमेटम दिया है कि 17 मार्च तक उनकी मांगें मंजूर नहीं की तो उसके बाद बातचीत के बजाय दिल्ली कूच होगा। रामायण रेलवे ट्रैक के निकट धरना स्थल पर आज पत्रकारों से बातचीत में अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के प्रदेश प्रवक्ता रामभगत मलिक ने कहा कि मुख्यमंत्री ने 10 दिन पहले घोषणा की थी कि उनके दरवाजे बातचीत के लिये खुले हैं लेकिन आज तक हमें उनके दरवाजों के रास्तों का पता नहीं चल सका कि कौन से रास्ते से उनके दरवाजे तक पहुंचना है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बोलते कुछ हैं और करते कुछ हैं। मलिक ने कहा कि संघर्ष समिति मुख्यमंत्री को 17 मार्च तक का बातचीत का अल्टीमेटम दे रही है। यदि 17 मार्च तक श्री खट्टर या उनके मंत्री उन्हें बाचतीत के लिए बुलाएंगे तो समिति बात करने को तैयार है अन्यथा इसके बाद समिति सरकार से बात नहीं करेगी और अपने पूर्व घोषित एलान के अनुसार 20 मार्च को दिल्ली मे पड़ाव डालकर संसद का घेराव करेगी।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6591935
 
     
Related Links :-
सज्जन की जमानत बहाली पर दिल्ली कमेटी ने उठाए सवाल
पंजाब पुलिस में डीएसपी पद संभालने को तैयार क्रिकेटर हरमनप्रीत कौर
किसान कर्ज माफी के दूसरे चरण में कैह्रश्वटन सरकार का पूरा फोकस
केजरीवाल को गिरफ्तार कर जेल में डालना चाहती है भाजपा : सूर्यदेव
केन्द्र सरकार पंजाब को ‘विशेष श्रेणी’ की सूची में शामिल करें
जनता को बंधक बना रैली करने वाले मांग रहे हैं हिसाब
किसानों का दिल्ली घेराव आज, पूरे राज्य में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम : डीजीपी संध
‘आप’ को झटका, तिहाड़ भेजे गए केजरीवाल के दोनों विधायक
वेतन के लिए केंद्र से उसका हिस्सा जारी करने का किया अनुरोध
आरबीआई ने फर्जी वेबसाइट से सचेत रहने की चेतावनी जारी की