समाचार ब्यूरो
19/03/2017  :  12:54 HH:MM
देश में 30 करोड़ टन दूध उत्पादन की क्षमता
Total View  349

हरियाणा मेल ब्यूरो :सुरजकुंड (फरीदाबाद) पशु पालन, डेयरी और मत्स्य पालन सचिव देवेन्द्र चौधरी ने आज कहा कि पशुओं में नस्ल सुधार कर देश में दूध उत्पादन सालाना 30 करोड़ टन आसानी से किया जा सकता है।

श्री चौधरी ने यहां हरियाणा की दूसरी एग्री लिडरशिप समिट को संबोधित करते हुए कहा कि इस समय देश में 15 करोड़ 60 लाख टन दूध का उत्पादन किया जा रहा है जिसे दोगुना करने के प्रयास शुरू कर दिये गये हैं। देश में 30 करोड़ गाय और भैंस हैं तथा 80 प्रतिशत लघु एवं सीमांत किसानों के पास पशुधन हैं।

उन्होंने कहा कि देश में 12 करोड़ देसी नस्ल की गायों में नस्ल सुधार की योजना है और इस कार्य के लिए पर्याह्रश्वत राशि की व्यवस्था की गयी है। डेयरी क्षेत्र के विकास पर आपरेशन फ्लड के तहत अगले तीन वर्ष के दौरान 8000 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे। श्री चौधरी ने कहा कि देश में पांच लाख 57 हजार गांव हैं जिनमें
से दो लाख 80 हजार गांवों में दूध उत्पादन किया जाता है। दूध को ठंडा रखने के लिए इनमें से मात्र 16000 गांवों में बल्क चीलर ह्रश्वलांट हैं। सरकार ने एक लाख 80 हजार गांवों में इस तरह के ह्रश्वलांट लगाने की योजना तैयार की है। उन्होंने कहा कि कुल दूध उत्पादन के 52 प्रतिशत हिस्से की खरीद की जाती है जबकि
48 प्रतिशत दूध का अब भी खरीददार नहीं है। दूध, यगर्ट, पनीर और खोया को मूल्स संवद्धित किया जा रहा है। इसके अलावा दुग्ध संयंत्रों का आधुनिकीकरण भी किया जा रहा है। पशुपालन सचिव ने कहा कि विश्व में जिस मात्रा में मत्स्य उत्पादन किया जाता है उसके एक चौथाई हिस्से का उत्पादन देश में नहीं होता है। हालांकि
भारत मत्स्य उत्पादन में विश्व में दूसरे स्थान पर है। हरियाणा में बड़े पैमाने पर खारे पानी की समस्या की चर्चा करते हुये उन्होंने कहा कि यहां बड़े पैमाने पर झींगा पालन किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हरियाणा को इस संबंध में 10 करोड़ रुपये की परियोजना केन्द्र को देनी चाहिये जिसे मंजूर किया जायेगा। उन्होंने कहा
कि हरियाणा में बकरी पालन की प्रचुर संभावना ह ै और सरकार ने इसके लिए 82 करोड रुपये की योजना स्वीकृत भी की है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8495774
 
     
Related Links :-
11-15 अगस्त तक बिग बाजार की 5 दिन की महाबचत अब और भी ज्यादा!
वैश्विक रुख और सुस्त मांग से सोना कमजोर, चांदी तेज
सेंसेक्स पहली बार 38000 के पार निफ्टी 11470 के करीब
अधिकारियों की मनमानी से व्यापारी वर्ग फार्म ‘सी’ के लिए तरसे
भवन निर्माण से जुड़े कारीगरों और वर्करों को प्रशिक्षण के लिए भेजा हापुड़
सुरक्षित भंडारण के लिए स्टील के साईलो बनाए जाएंगे : कांबोज
विशेष आभार कलेक्शन लॉन्च के साथ रिलायंस ज्वेल्स मना रहा 11वीं वर्षगांठ
पेट्रोल-डीजल के दामों में फिर लगी आग, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल 80 के पार
भीम ऐप, रुपे कार्ड से भुगतान पर मिलेगा 20 प्रतिशत टैक्स छूट
बिकवाली और रुपये की टूटन से लुढक़ा शेयर बाजार