हरियाणा मेल ब्यूरो
20/03/2017  :  10:43 HH:MM
जाट आरक्षण आंदोलनकारी-पुलिस में झड़प
Total View  66

हिसार। हरियाणा के फतेहाबाद में आज जाट आरक्षण आंदोलनकारियों और पुलिस के बीच झड़प में एक पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) समेत 20 पुलिसकर्मी घायल हो गए। आंदोलनकारियों ने पुलिस की दो बसें फूंक दी। पुलिस लाठीचार्ज में कई आंदोलनकारी भी घायल हुए हैं। इस टकराव में आंदोलनकारियों ने पुलिस पर जमकर पथराव किया जबकि पुलिस को आंदोलनकारियों पर लाठीचार्ज करना पडा और आंसू गैस के गोले छोडऩे पड़े।

पुलिस का कहना है कि आंदोलनकारियों ने कई पुलिसकर्मियों को बंधक बना लिया था। प्राह्रश्वत जानकारी के अनुसार फतेहाबाद जिले के कस्बा भूना के निकट गांव ढाणी गोपाल में 50 दिन से चले आ रहे धरनास्थल की ओर हिसार जिले के गांव चमारखेड़ा और खैरी से आंदोलनकारी आज सुबह ट्रैक्टरट्रालियों में आ रहे थे। ये लोग जैसे ही धरनास्थल से थोड़ी दूर पहुंचे तो रास्ते में पुलिस ने बैरिकेड लगाकर इनको रोक लिया। प्राह्रश्वत जानकारी के अनुसार आंदोलनकारियों ने जब बैरिकेङ्क्षडग तोडक़र आगे बढऩे का प्रयास किया तो उनका पुलिस से टकराव हो गया। पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और उन पर लाठीचार्ज किया। आंदोलनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया। पत्थर लगने से फतेहाबाद के डीएसपी गुरदयाल ङ्क्षसह घायल हो गए। उनके सिर में चोटें आई हैं। इस टकराव में 20 पुलिसकर्मी भी घायल हो गए जिनमें कई महिला पुलिसकर्मी शामिल हैं। फतेहाबाद के एसपी ओ.पी. नरवाल को भी हाथ में चोट आई है। घायल महिला पुलिस कर्मियों को भूना के अस्पताल में दाखिल कराया है तथा डीएसपी गुरदयाल सिह को अग्रोहा के मैडिकल अस्पताल में दाखिल कराया गया है। पुलिस लाठीचार्ज में कई आंदोलनकारी भी घायल हुए हैं। पुलिस लाठीचार्ज से गुस्साए आंदोलनकारियों ने पुलिस की दो बसें फूंक दीं। आंदोलनकारियों ने घटना की कवरेज कर रहे मीडियाकर्मियों के साथ भी मारपीट की। इलेक्ट्रोनिक्स मीडिया के पत्रकारों के कैमरों की भी तोडफ़ोड़ की गई। पत्रकार अमित रुखाया, बजरंग मीणा और जसपाल ङ्क्षसह हमले में घायल हो गये और उनके कैमरे तोड़े दिए गए तथा मोबाइल छीन लिए गए। गांव ढाणी गोपाल और इसके आसपास के इलाके में तनाव की स्थिति बनी हुई है। पुलिस और प्रशासन के उच्च अधिकारियों ने बड़ी संख्या में पुलिस और अद्र्ध सैनिक बलों के जवानों को साथ लेकर स्थिति को अपने नियंत्रण में ले लिया है। पुलिस ने फतेहाबाद से उकलाना वाया भूना का रूट बदल दिया है और ढाणियों के रास्ते से वाहनों की आवाजाही की जा रही है। घायल एसपी ओपी नरवाल ने पत्रकारों को बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि हिसार जिले के लोग चमारखेड़ा और खैरी गावों से फतेहाबाद की ढाणी गोपाल में आ रहे हैं। वे ट्रैक्टर ट्रालियों पर सवार थे। डीएसपी गुरदयाल सिह ने नाकों पर उन्हें रोका और पैदल जाने को कहा। तब लोगों ने पथराव शुरू कर दिया। उनके हाथों में लाठियां थीं और उन्होंने पुलिस की दो बसें जला दी जिससे 20 पुलिस कर्मी घायल हो गए। घायल डीएसपी गुरदयाल ङ्क्षसह तथा इंस्पेक्टर कुलदीप को अग्रोहा मेडिकल में दाखिल कराया गया है। अब स्थिति नियंत्रण में है। कई घायल पुलिसकर्मियों को भी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के नेता रोहतास हुड्डा ने मीडिया कर्मियों से मारपीट और कैमरे तोड़े जाने की घटना के बारे में कहा कि समिति यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि इस घटना को किन लोगों ने अंजाम दिया है। यदि समिति से जुड़ा कोई भी व्यक्ति इसमें शामिल पाया गया तो उसे तुरंत समिति से बाहर निकाल दिया जाएगाऔर ऐसे व्यक्तियों के धरना स्थल और आंदोलन में आने
पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि इस घटना के लिए वे माफी मांगते हैं। हरियाणा पत्रकार संघ के अध्यक्ष के.बी. पंडित ने मीडिया कर्मियों से मारपीट की ङ्क्षनदा करते हुए कहा है कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को ऐसी घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए ठोस कदम उठाने चाहिए। उन्होंने मांग की कि जिनके कैमरे टूटे हैं उनके नुकसान की भरपाई की जाए।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2689325
 
     
Related Links :-
कांग्रेस-हार्दिक पर भाजपा का तंज- एक मूर्ख ने अर्जी दी
‘पंजाब स्टार्टअप एंड इंटरप्रिन्योरशिप डिवेल्पमेंट पॉलिसी’ से पर्दा उठा
संसद से पद्मावती तक आखिर क्यों खामोश हैं मोदी
मोदी का उड़ाया मजाक तो बोले नकवी, कांग्रेस बेचैन
हर जिले में मिनरल फांउडेशन का गठन
भारत में होगा कोरिया कल्चर एवं पर्यटन महोत्सव
सुखोई फाइटर जेट से ब्रह्मोस का सफल परीक्षण
15 दिसंबर से 5 जनवरी के बीच होगा संसद का शीतकालीन सत्र
हरियाणा नगर निगम अधिनियम में संशोधन के प्रस्ताव को मंजूरी
बच्चों के लिए हिंसा और शिक्षा महत्वपूर्ण चिंताएं