समाचार ब्यूरो
02/04/2017  :  11:47 HH:MM
लोकेश राजपूत बना मिस्टर इंडिया फि़टनेस मॉडल
Total View  439

लधोली गांव के मूल निवाशी लोकेश राजपूत का विजय रथ मानो रुकने का नाम ही नही ले रहा है। लोकेश एक के बाद एक ख़िताब अपने नाम करते जा रहे है। अब लोकेश ने मिस्टर इंडिया फि़टनेस मॉडल का ख़िताब भी अपने नाम कर एक अनोखा इतिहाश रच दिया है। लोकेश हरियाणा के ही नही बलकी भारत के एक मात्र ऐसे फि़ट्नेस मॉडल बन गये है जिन्होंने एक जि़ले से लेकर मिस्टर यूनिवर्स तक के सभी ख़िताबो को सिफऱ् एक वर्ष में ही अपने नाम कर लिये है।

कल दिल्ली में आईबीबीएफ़ और दिल्ली बॉडी बिल्डोर्स असोसीएशन दवारा मिस्टोर इंडिया प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें पूरे देश भर से 300 से भी अधिक फि़ट्नेस मॉडलो ने भाग लिया जिसमें कई चरणो के द्वारा मिस्टर इंडिया का चुनाव करना था और लोकेश राजपूत ने वो सभी चरणो को पार कर पहले अपने हाइट में गोल्ड मेडल जीता और अंत में मिस्टोर इंडिया फि़ट्नेस मॉडल को भी जीत लिया। लोकेश ने बताया के प्रतोयोगिता मुश्किल थी सभी प्रतियोगी अपने जी जान से लगे हुए थे पर मेरे गुरु और माँ बाप के आशीर्वाद ने मुझमें एक आत्म विश्वाश बनाये रखा और आज में मिस्टोर फऱीदाबाद से मिस्टोर वर्ल्ड,मिस्टोर यूनिवर्स, और मिस्टोर इंडिया जैसे सभी खिताओ को जीत पाया। महासचिव और मिस्टोर इंडिया प्रतोयोगिता के मुख्ये आयोजक सुरेश क़दम वे भूपेन्द्र शर्मा ने बताया के बे लोकेश की लगन और मेहनत की सरहाना करते है और इस में भारत की फिटनेश मॉडल का भविषय भी देखते है साथ ही सभी अधिकारियों वे अतिथियों ने भी लोकेश को
शुभकामनांए दी।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6225536
 
     
Related Links :-
लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती
बुमराह को ऑस्ट्रेलियाई वनडे और कीवी दौरे से विश्राम
ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने पर इमरान ने भारतीय टीम को दी बधाई
स्वच्छ, हरित ऊर्जा’ पर लेखन प्रतियोगिता
ऑस्ट्रेलिया में सीरीज जीतने वाला भारत दुनिया का 5वां देश
इंटर कॉलेज बॉक्सिंग पुरुष प्रतियोगिता में आर्य कॉलेज ने जीता गोल्ड
अनिल विज ने टवीट् कर दी मनु भाकर को नसीहत
ब्लाईन्ड स्कूल की छात्रा सोनिया को जीत पर 21 हजार रुपए
अलविदा २०१८ खेलों में हमारे प्रदेश के खिलाडिय़ों की रही धमक पदक दिलाने में चैंपियन रहा हरियाणा
27 घंटे लगातार बॉलिंग करना अजूबे से कम नहीं : तायल