समाचार ब्यूरो
05/04/2017  :  09:32 HH:MM
अनशन पर बैठे दलित ने जबरन उठाने पर दी आत्मदाह की धमकी
Total View  339

जींदत्नहरियाणा में यहां अनुसूचित जाति, आरक्षण बहाल करने की मांग को लेकर लघु सचिवालय के सामने पांच दिनों से आमरण अनशन पर बैठे बीरभान छापड़ा की चिकित्सकीय जांच रिपोर्ट खराब आने पर पुलिस ने आज उसे जबरन उठाने की कोशिश की लेकिन लोगों के विरोध पर उसे बैरंग लौटना पड़ा।
उप सिविल सर्जन डॉ. राजेश भोला के नेतृत्व में टीम ने आज सुबह छापड़ा का मेडिकल किया जिसमें उसके स्वास्थ्य में काफी गिरावट पाई गई। उन्होंने अनशनकारी नेता को सिविल अस्पताल में भर्ती कराने को कहा। इस पर सिटी थाना प्रभारी नरसिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम अनशन स्थल पर पहुंची और जब छापड़ा को उठाने का प्रयास किया जो दलित, वर्ग के लोगों ने इसका कड़ा विरोध किया। पुलिस ने लोगों को समझाने का काफी प्रयास किया लेकिन वह नाकाम रही और बैरंग लौट गई। उधर छापड़ा आज पेट्रोल की बोतल लिए बैठे थे। उन्होंने कहा कि अगर प्रशासन ने जबरदस्ती उठाने की कोशिश की तो वह आत्मदाह कर लेंगे। आरक्षण उनका अधिकार है और वह इसे लेकर ही रहेंगे चाहे इसके लिए कोई भी कुर्बानी क्यों न देनी पड़े।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4443232
 
     
Related Links :-
बांध सुरक्षा विधेयक के प्रस्ताव को मोदी कैबिनेट से स्वीकृति
कांग्रेस ने की केंद्र सरकार की घेराबंदी
आईटीआई प्रशिक्षण पास आऊट युवाओं से आह्वïान
राज्य परिवहन का लाभ बढ़ाने के लिए उप्र में बढ़ेगा बसों का रोटेशन
मुख्यमंत्री कैह्रश्वटन अमरिंदर सिंह ने की प्रधानमंत्री से अपील
वोट की राजनीति में जनता को उकसा रही इनेलो : बराला
शहीद औरंगजेब के परिवार से मिलीं रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण
हर वर्ग के कल्याण के लिए सभी सुझावों पर विचार करेगी सरकार
स्टार गांव परिभाषित करने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य
हर छह महीनेबाद 50 रुपये प्रति छात्र प्रोत्साहन राशि देने का निर्णय