समाचार ब्यूरो
05/04/2017  :  10:44 HH:MM
राम जन्मोत्सव के विहंगम नजारे के दीदार के लिये अयोध्या में श्रद्धालुओं का जमावडा
Total View  340

भगवान राम की जन्मस्थली अयोध्या कल दोपहर बारह बजते ही ‘भये प्रगट कृपाला दीनदयाला’ जैसी चौपाइयों और गीतों से गूँज उठेगी। इस विहंगम दृश्य का दीदार करने के लिये देश विदेश से आये लाखों श्रद्धालु यहां डटे हुये हैं। प्रचलित मान्यताओं के अनुसार कल अर्थात् चैत्र रामनवमी को मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम का जन्म अयोध्या में हुआ था। इसी उपलक्ष्य में इस नवमी को रामनवमी के रूप में जाना जाता है।
 रामनवमी के लिये हर वर्ष देश के कोने-कोने से यहाँ कई लाख श्रद्धालु पहुँचते हैं जो भोर से ही सरयू स्नान कर विभिन्न मंदिरों में पूजा-अर्चना शुरू कर देते हैं। दोपहर बारह बजे के पूर्व इस क्रम में थोड़ी देर के लिए ठहराव आता है क्योंकि इस समय भगवान श्रीराम के प्रतीकात्मक जन्म की तैयारी शुरू हो जाती है। श्रद्धालु यह विहंगम दृश्य देखने के लिये मंदिरों में शरण लेते हैं। बारह बजते ही लगभग पूरी अयोध्या में एक खास समा बंध जाता है। अयोध्या में प्रसिद्ध कनक भवन मंदिर में भगवान श्रीराम का जन्म मनाया जाता है और मंदिर में बधाई व सोहर गीतों के सुर गूँजने लगते हैं। इस अवसर पर दूरदराज से आये किन्नर भी भगवान श्रीराम के जन्म पर सोहर गीत गाते हैं और खूब धूमधाम से नाचते हैं। वैसे तो अयोध्या के रामजानकी महल ट्रस्ट सहित विभिन्न मंदिरों में भगवान राम का जन्म मनाया जाता है मगर कनक भवन में कुछ दृश्य अजीबो-गरीब होता है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2960273
 
     
Related Links :-
यरुशलम में अमेरिकी दूतावास
अपने शरीफाना बयान पर कितना कायम रहेंगे शरीफ
खुदरा कारोबार को ध्वस्त कर देगा यह सौदा
शांति में ही मिलेगा ईश्वर, अल्लाह और वाहे गुरु
विकासशील देशों पर भी होगा ट्रंप के फैसले का विपरीत असर
प्रदेश पुलिस को बल
धार्मिक विरासत की अवहेलना
वाक्या-ए-पत्थरगढ़ी : आदिवासियों की जागृति को सलाम....!
फिर से वही चिंता
धधकते खेत और बढ़ता प्रदूषण चिंतनीय