समाचार ब्यूरो
09/04/2017  :  10:54 HH:MM
ऑर्गन ट्रांसह्रश्वलांट हॉस्पिटल बनेगा
Total View  339

चंडीगढ़त्न 54 साल पहले देश में दूसरा किडनी ट्रांसह्रश्वलांट करने वाला पीजीआई अब ऑर्गन ट्रांसह्रश्वलांट के लिए अलग से हॉस्पिटल बनाने की तैयारी कर चुका है। 1963 में प्रो. केएस चुघ ने पीजीआई में देश का दूसरा किडनी ट्रांसह्रश्वलांट किया। अब लगभग साढ़े तीन हजार किडनी ट्रांसह्रश्वलांट के अलावा कई दूसरे अंगों के ट्रांसह्रश्वलांट में सफलता हासिल करने के बाद ऑर्गन ट्रांसह्रश्वलांट के लिए अलग हॉस्पिटल बनाना चाहता है। ब्रेन डेड पेशेंट्स से अचानक मिलने वाले अंगों के ट्रांसह्रश्वलांट के लिए अभी ज्यादातर इमरजेंसी ऑप्रेशन थिएटर को इस्तेमाल करना पड़ रहा है। लेकिन अब पीजीआई प्रशासन ऑर्गन ट्रांसह्रश्वलांट के लिए अलग से ऑर्गन ट्रांसह्रश्वलांट हॉस्पिटल बनाना चाहता है। पीजीआई के मेडिकल सुपरिटेंडेंट प्रो. एके गुप्ता ने वीरवार को पीजीआई में लगभग एक ही समय पर हुए 4 ऑर्गन ट्रांसह्रश्वलांट के बाद ये बात बताई। यह ऑर्गन ट्रांसह्रश्वलांट हॉस्पिटल बनाने के लिए पीजीआई प्रशासन हेल्थ मिनिस्ट्री को मदद के लिए प्रस्ताव भेजेगा।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6145111
 
     
Related Links :-
नगर निगम द्वारा शुरू किया गया विशेष सफाई अभियान
मेंडिसिटी और फोर्टिस अस्पतालों का निरीक्षण
पहली बार में ही मादक पदार्थों को ‘ना’ कहें : डा. प्रदीप
गुरूग्राम के 1732 स्कूलों में टीकाकरण
रक्तदान से बचाई जा सकती है जिंदगी : नरेन्द्र सिंह
बड़ी मस्जिद में २५८ बच्चों का किया गया टीकाकरण
चलेगी पुलिसकर्मियों को नशा मुक्त करने की मुहिम
बच्चों में विटामिन और मिनिरल की कमी ऐसे होगी दूर
बीमार है सरकारी चिकित्सा व्यवस्था : अभय जैन
मुख्यमंत्री 25 को करेंगे खसरा-रूबैला टीकाकरण अभियान की शुरूआत