हरियाणा मेल ब्यूरो
09/04/2017  :  10:54 HH:MM
ऑर्गन ट्रांसह्रश्वलांट हॉस्पिटल बनेगा
Total View  34

चंडीगढ़त्न 54 साल पहले देश में दूसरा किडनी ट्रांसह्रश्वलांट करने वाला पीजीआई अब ऑर्गन ट्रांसह्रश्वलांट के लिए अलग से हॉस्पिटल बनाने की तैयारी कर चुका है। 1963 में प्रो. केएस चुघ ने पीजीआई में देश का दूसरा किडनी ट्रांसह्रश्वलांट किया। अब लगभग साढ़े तीन हजार किडनी ट्रांसह्रश्वलांट के अलावा कई दूसरे अंगों के ट्रांसह्रश्वलांट में सफलता हासिल करने के बाद ऑर्गन ट्रांसह्रश्वलांट के लिए अलग हॉस्पिटल बनाना चाहता है। ब्रेन डेड पेशेंट्स से अचानक मिलने वाले अंगों के ट्रांसह्रश्वलांट के लिए अभी ज्यादातर इमरजेंसी ऑप्रेशन थिएटर को इस्तेमाल करना पड़ रहा है। लेकिन अब पीजीआई प्रशासन ऑर्गन ट्रांसह्रश्वलांट के लिए अलग से ऑर्गन ट्रांसह्रश्वलांट हॉस्पिटल बनाना चाहता है। पीजीआई के मेडिकल सुपरिटेंडेंट प्रो. एके गुप्ता ने वीरवार को पीजीआई में लगभग एक ही समय पर हुए 4 ऑर्गन ट्रांसह्रश्वलांट के बाद ये बात बताई। यह ऑर्गन ट्रांसह्रश्वलांट हॉस्पिटल बनाने के लिए पीजीआई प्रशासन हेल्थ मिनिस्ट्री को मदद के लिए प्रस्ताव भेजेगा।





----------------------------------------------------

Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8725891
 
     
Related Links :-
मां ने अपनी तीन साल की प्रत्याशा को दान किया गुर्दा
योग से निरोग की तरफ जाना है तो योग बहुत जरूरी : नड्डा
हार्ट ह्रश्वलाजा में लोगों ने लगाए योग आसन
योग की बदौलत फिर से विश्व गुरू बनने की राह पर भारत : कविता
योग ने पूरे विश्व को भारत के साथ जोड़ा है : मोदी
जिला कारागार सोनीपत में मनाया गया योग दिवस
नेहरू युवा केन्द्र में योग का आयोजन
आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ किया हार्ट/कैंसर प्रोटेक्ट को प्रस्तुत
योग दिवस में हिस्सा लेने प्रधानमंत्री लखनऊ पहुंचे
देश में पहला अभिनव सेलथेरापी उपचार