healthprose viagra http://tramadoltobuy.com/ http://buypropeciaonlinecheap.com/
 
 
हरियाणा मेल ब्यूरो
16/04/2017  :  11:11 HH:MM
निजी क्षेत्र में आरक्षण का कोई प्रस्ताव नहीं : गहलोत
Total View  12

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावर चंद गहलोत ने आज कहा कि सरकार के पास निजी क्षेत्र में अनुसूचित जाति, जनजाति और अन्य पिछड़े वर्ग के लिए आरक्षण का कोई प्रस्ताव नहीं है, हालांकि इसके लिए माहौल बनाने का प्रयास किया जा रहा है।

श्री गहलोत ने यहां डा. भीमराव अम्बेडकर की 126 वीं जयंती के उपलक्ष्य में किए गए कार्यों की जानकारी देने के लिए आयोजित किए गए एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि सरकार समाज के निचले एवं वंचित वर्ग के सामाजिक, शैक्षिक एवं आर्थिक सशक्तीकरण के प्रयास कर रही है और इसके लिए विभिन्न मंत्रालयों और
विभागों के माध्यम से कई कार्यक्रम और योजानओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। इस अवसर पर केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास आठवले भी मौजूद थे। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र में अनुसूचित जाति, जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षण देने का कोई प्रस्ताव
फिलहाल सरकार के पास नहीं है लेकिन इसके लिए माहौल बनाने की कोशिश हो रही है। उन्होंने कहा कि अन्य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण में क्रीमी लेयर की समीक्षा प्रत्येक तीसरे वर्ष करने का प्रावधान है लेकिन अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने की प्रक्रिया चल रही है। इससे संबंधित विधेयक लोकसभा में पारित
हो गया है और राज्यसभा में यह प्रवर समिति के पास भेजा गया है इसलिए क्रीमी लेयर की समीक्षा का समय तय करना अभी संभव नहीं है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4125062
 
     
Related Links :-
करिश्मा कपूर ने लाॅन्च किया नया ब्लू माउंट एल्केलाईन आरओ और यूवी फिल्टर
सोना 50 चढ़ा, चांदी 500 रुपए चमकी
18 हजार करोड़ की परियोजनाओं के लिए पांच एमओयू पर हस्ताक्षर
जीएसटी से दवाईयां, स्मार्टफोन चिकित्सा उपकरण होंगे सस्ते
जैगुवार एक्सई का 2.0 लीटर डीज़ल संस्करण 38.25 लाख में पेश
हरियाणा में 38.89 लाख ङ्क्षक्वटल से अधिक चीनी उत्पादन
किसानों के लिए इफको लायी डेबिट कार्ड
2019 तक एक करोड 60 लाख टन मत्स्य उत्पादन की संभावना:एसोचेम
होण्डा की सीबी शाईन मोटरसाइकिल ने बनाए नए रिकॉर्ड
लाइसेंस फीस का कम भुगतान करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो - जियो