हरियाणा मेल ब्यूरो
17/04/2017  :  08:49 HH:MM
पश्चिमोत्तर के अधिकांश इलाके लू की चपेट में
Total View  47

पश्चिमोत्तर क्षेत्र में अप्रैल में ही लू का प्रकोप संभवतया पहली बार देखने को मिल रहा है तथा अगले 48 घंटों के दौरान समूचे क्षेत्र में लू का प्रकोप जारी रहने के आसार हैं। मौसम केन्द्र के अनुसार अगले दो दिनों तक लोगों को लू से राहत मिलने की संभावना नहीं है। राजस्थान से लगे पंजाब तथा हरियाणा के इलाकों में तो सवेरे से ही सूरज आग उगलना शुरू कर देता है जिससे इन इलाकों का पारा 44 डिग्री को छू गया है ।

पंजाब में बङ्क्षठडा, हिसार, नारनौल सहित कुछ स्थानों पर भीषण लू शुरू हो गयी है तथा गर्म लू के थपेड़ों से बचने के लिये लोगों ने दोपहर में घरों से निकलना कम कर दिया। गर्म हवाओं के कारण जनजीवन पर असर पड़ा है। गर्मी से बचने और ह्रश्वयास बुझाने के लिये लोग नींबू पानी, नारियल पानी और तरबूज से गले को तर कर रहे हैं। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो अगले एक हफ्ते तक गर्मी इसी तरह झुलसाती रहेगी। चौधरी चरण ङ्क्षसह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों के मुताबिक 21 अप्रैल तक इसी तरह गर्मी पड़ती रहेगी। लू शुरू होते ही उल्टी दस्त के मरीज अस्पताल पहुंचने लगे हैं। अंबाला का पारा 39 डिग्री और चंडीगढ़ में 39 डिग्री सेल्सियस रहा। अमृतसर का पारा 42 डिग्री, लुधियाना में 42 डिग्री, पटियाला में 40 डिग्री, हलवारा में 41 डिग्री, आदमपुर में 42 डिग्री रहा। दिल्ली का पारा 39 डिग्री और हिमाचल में उना का पारा 41 डिग्री तक पहुंच गया। श्रीनगर में 28 डिग्री,जम्मू में पारा 39 डिग्री तक पहुंच गया। पहाड़ों
के तपते ही शिमला का पारा 27 डिग्री, भुंतर का 34 डिग्री, धर्मशाला का 31 डिग्री, नाहन का 33 डिग्री, सुंदरनगरका 36 डिग्री, कांगडा का 37 डिग्री, सोलन का 32 और कल्पा का 23 डिग्री सेल्सियस रहा।





----------------------------------------------------

Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   552154
 
     
Related Links :-
सेब रखेगा सेहतमंद
गुटखा-पान मसाले के उत्पादन पर रोक को लागू करें राज्य
पानीपत में स्कूली बच्चों को जल स्वच्छता के प्रति सजगता अभियान
मुंहासों से इस प्रकार मिलेगी राहत
वजन कम करता है धनिया
बचपन में मूंगफली खाना होता है फायदेमंद
प्रदेश को स्वच्छ बनाने और कचरा प्रबन्धन के लिए महत्वपूर्ण कदम
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम प्रभावी बनेगा
अचानक अधिक व्यायाम हृदय के लिए है घातक
गुरुग्राम, फरीदाबाद और भिवानी जिले पुरस्कृत