हरियाणा मेल ब्यूरो
17/04/2017  :  11:11 HH:MM
ट्रंप की नीतियों से सोने-चांदी में उछाल
Total View  154

सीरिया को लेकर रूस के साथ नये सिरे से संबंधों में तनाव आने और उत्तर कोरिया के साथ संभावित युद्ध की स्थिति बनने से अंतरराष्ट्रीय बाजारों में दोनों कीमती धातुओं में बीते सह्रश्वताह जबरदस्त तेजी रही। वैश्विक तेजी के दम पर समीक्षाधीन सह्रश्वताह में दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 650 रुपये चमककर 29,900 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। इसी तरह चांदी भी 1,250 रुपये की छलांग लगाकर 43,000 रुपये प्रति किलोग्राम पर बोली गयी।

हालांकि, चांदी में इससे पिछले सह्रश्वताह 900 रुपये की भारी साह्रश्वताहिक गिरावट रही थी। लंदन से मिली जानकारी के अनुसार सोना हाजिर बीते सह्रश्वताह के मुकाबले 34.10 डॉलर की अप्रत्याशित बढ़त के साथ सह्रश्वताहांत पर 1,287.85 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया। इसमें इससे पिछले सह्रश्वताह मात्र 4.85 डॉलर की तेजी दर्ज की गयी थी। इसी तर्ज पर अप्रैल का अमेरिकी सोना वायदा भी 34 डॉलर चमककर 1,290.1 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुआ। इसमें इससे पिछले सह्रश्वताह 4.50 डॉलर की बढ़त रही थी।

भू राजनैतिक स्थतियों को लेकर बनी निवेशकों की नकारात्मक धारणा से सफेद धातु में भी जबरदस्त तेजी देखी गयी। विदेशी बाजार में चांदी ने 0.56 डॉलर की छलांग लगायी और शुक्रवार को बाजार बंद होने पर 18.51 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गयी। सह्रश्वताहांत पर अंतरराष्ट्रीय बाजार बंद होने से पहले भले ही सोना पांच माह के उच्चतम स्तर से लुढक़ गया लेकिन इसकी साह्रश्वताहिक बढ़त ने पिछले नौ माह से अधिक के रिकॉर्ड तोड़ दिये। उत्तर कोरिया और सीरिया को लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की नीतियों ने दोनों कीमती धातुओं को निवेशकों के लिए पसंदीदा बना दिया है। विश्लेषकों का कहना है कि अमेरिका द्वारा रूस पर सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद को जहरीली गैस हमले के आरोप से बचाने का प्रयास करने का आरोप लगाने से रूस के साथ नये सिरे से संबंधों में तनाव आने और उत्तर कोरिया के साथ संभावित युद्ध की स्थिति बनने से सोने को अप्रत्याशित बल मिल रहा है। इसके अलावा मजबूत डॉलर को अमेरिकी की अर्थव्यवस्था के लिए खतरनाक बताने वाले श्री ट्रंप के बयान से डॉलर भी मुंह के बल गिरा है, जिससे पीली धातु और आकर्षक बन गयी है। लगातार तीन सह्रश्वताह की तेजी में रहे डॉलर में बीते सह्रश्वताह गिरावट दर्ज की गयी है। घरेलू बाजार में पूरे सह्रश्वताह सोने की कीमतों में तेजी रही। आलोच्य सह्रश्वताह में मात्र शनिवार को इसकी कीमतों में स्थिरता देखी गयी। अमेरिका ने गुरुवार को अफगानिस्तान पर 10 हजार किलोग्राम का बम गिराया जो अब तक का सबसे भारी गैर-परमाणु बम है। यह बम पाकिस्तान सीमा से सटे उन इलाकों में गिराया गया जहां कथित तौर पर आईएस के आतंकवादी छुपने के लिए गुफाओं का इस्तेमाल करते हैं। अमेरिका द्वारा किये गये इस हमले के बाद शुक्रवार को सोना स्टैंडर्ड चार मार्च के बाद के उच्चतम स्तर 29,950 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। बीते सह्रश्वताह शनिवार को बाजार बंद होने पर सोना स्टैंडर्ड 650 रुपये की साह्रश्वताहिक बढ़त के साथ 29,950 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। इसी तरह सोना बिटुर भी 650 रुपये की तेजी के साथ 29,800 रुपये प्रति दस ग्राम पर रहा। इस दौरान गिन्नी भी 100 रुपये चमककर 24,500 रुपये प्रति आठ ग्राम पर पहुंच गयी।

समीक्षाधीन सह्रश्वताह में घरेलू स्तर पर चांदी में भारी तेजी रही। वैश्विक बढ़त के दम पर इसने इससे पिछले सह्रश्वताह की गिरावट से तेजी से उबरते हुए 1,250 रुपये की छलांग लगायी और 43000 के मनोवैज्ञानिक स्तर पर पहुंच गयी। चांदी वायदा भी अपनी गिरावट से उबरती हुई 1,190 रुपये की तेजी के साथ 42,570 रुपये
प्रति किलोग्राम पर बोली गयी। इस दौरान सिक्का लिवाली और बिकवाली भी 1000-1000 रुपये चढक़र क्रमश: 72 हजार रुपये प्रति सैकड़ा और बिकवाली 73 हजार रुपये प्रति सैकड़ा पर पहुंच गये। कारोबारियों का कहना है कि गत सह्रश्वताह सोने चांदी की कीमत पर घरेलू मांग का बहुत कम असर पड़ा है। दोनों कीमतों धातुओं की तेजी वैश्विक मंच पर जारी उथलपुथल का नतीजा है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6183214
 
     
Related Links :-
जल्दी ही जमीन पर आएंगे ह्रश्वयाज के भाव
मजबूत वैश्विक संकेतों से सोने-चांदी की कीमतों में तेजी
पांच कारोबारी सत्रों में से तीन में सेंसेक्स और निफ्टी में तेजी रही
चेक बाउंस होने पर भी मिलेगा पैसा
पाकिस्तान की चीनी आयात से भारत में उत्पादन पर पड़ेगा असर
खराब मौसम के कारण एयर इंडिया की दिल्ली फ्लाइट 20 तक रद्द
मोबाइल और टीवी खरीदना पड़ेगा महंगा, सरकार ने बढ़ाई कस्टम ड्यूट
बैंकों की मजबूती अगला बड़ा सुधार: जेटली
कोलंबो के लिए उड़ान शुरू करेगी इंडिगो
स्टील की बढ़ती कीमतों से परेशान इंडस्ट्री, कंपनियां बढ़ा सकती हैं कीमते