समाचार ब्यूरो
18/04/2017  :  10:04 HH:MM
ग्राफ को हराना जीवन का सबसे बड़ा क्षण : अरांशा
Total View  343

नई दिल्लीत्न स्पेन की पूर्व दिग्गज महिला टेनिस खिलाड़ी अरांशा सांचेज का मानना है कि उनके जीवन का सबसे बड़ा पल 1989 में तत्कालीन नंबर एक खिलाड़ी जर्मनी की स्टेफी ग्राफ को हराना था। अरांशा सांचेज रोंदेवू जूनियर फ्रेंच ओपन वाइल्ड कार्ड टूर्नामेंट की घोषणा के अवसर पर सोमवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में मौजूद थीं। अरांशा पहली बार भारत आयी हैं और उन्होंने पहली भारत यात्रा को अपने लिये एक बड़ा सम्मान बताया। तीन फ्रेंच ओपन सहित चार ग्रैंड स्लेम खिताब जीतने वाली अरांशा ने अपने करियर के बारे में बातचीत करते हुये प्रेस कांफ्रेंस में उपस्थित जूनियर टेनिस खिलाडिय़ों से कहा" मैंने चार वर्ष की उम्र में टेनिस खेलना शुरू किया था और 14 साल में मैं प्रोफेशनल बन गयी थी।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1534751
 
     
Related Links :-
गोस्वामी गणेश दत्त क्रिकेट : रामपाल अकादमी प्री-क्वार्टर फ ाइनल में
एशियाई खेलों के कोचिंग कैंप से बाहर हुई हरियाणा की फोगाट बहनें
शशांक मनोहर दोबारा बने आईसीसी चेयरमैन
मुंबई और पंजाब के बीच ‘करो या मरो’ का मुकाबला आज
सुशील को कभी डांटने की जरूरत नहीं पड़ी : सतपाल
फुटबाल में भी बेहतर करियर : शेर सिंह चौहान
प्रणीत और समीर आस्ट्रेलियाई ओपन बैडमिंटन के क्वार्टर फाइनल में पहुंच
चेन्नई से राजस्थान रॉयल्स की कड़ी परीक्षा
पट्टीकल्याणा की पहलवान बेटी को किया गया सम्मानित
हरियाणा में लड़कियों को ज्यादा सुविधाएं मिल रही है : मनु भाकर