समाचार ब्यूरो
18/04/2017  :  10:46 HH:MM
अभिनेत्री नहीं डाक्टर बनना चाहती थी पूनम ढिल्लो
Total View  337

बॉलीवुड में पूनम ढिल्लों ने अपनी दिलकश अदाओं से लगभग तीन दशक तक दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया लेकिन कम लोगो को पता है कि वह डाक्टर बनना चाहती थी। पूनम का जन्म 18 अप्रैल 1962 को कानपुर में हुआ। उनके पिता अमरीक सिंह भारतीय वायु सेना में विमान अभियंता थे।

उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा चंडीगढ़ कार्मेल कान्वेंट हाई स्कूल से पूरी की। वर्ष 1977 में पूनम को अखिल भारतीय सौन्दर्य प्रतियोगिता में हिस्सा लेने का अवसर मिला जिसमें वह पहले स्थान पर रही। इस बीच पूनम के सौन्दर्य से प्रभावित होकर निर्माता-निर्देशक यश चोपड़ा ने अपनी फिल्म ‘त्रिशूल’ में उनसे काम करने
की पेशकश की लेकिन पहले तो उन्होंने इस पेशकश को अस्वीकार कर दिया लेकिन बाद में पंजाब विश्वविद्यालय में कार्यरत उनके पारिवारिक मित्र गार्गी ने उन्हें समझाया कि फिल्मों में काम करना कोई बुरी बात नहीं है।

इसके बाद पूनम के परिजनों ने उन्हें इस शर्त पर फिल्मों में काम करने की इजाजत दी कि वह स्कूल की छुट्टियों के दौरान ही फिल्मों में अभिनय करेंगी। ‘त्रिशूल’ में पूनम ढिल्लो को संजीव कुमार शशि कपूर और अमिताभ बच्चन जैसे नामचीन सितारों के साथ काम करने का अवसर मिला। इस फिल्म में उन्होंने संजीव कुमार की पुत्री की भूमिका निभाई जो अभिनेता सचिन से प्रेम करती है। फिल्म में उन पर फिल्माया गीत ‘गह्रश्वपूजी गह्रश्वपूजी गम गम’ उन दिनों युवाओं के बीच क्रेज बन गया था। ‘त्रिशूल’ टिकट खिडक़ी पर सुपरहिट साबित हुयी । इसके बाद कई फिल्मकारों ने पूनम से अपनी फिल्म में काम करने की पेशकश की लेकिन उन्होंने उन सारे प्रस्तावों को ठुकरा दिया क्योंकि वह अभिनेत्री नहीं बनना चाहती थी । इस बीच उन्होंने मेडिकल कॉलेज में दाखिला लेना चाहा लेकिन उनके बड़े भाई ने उन्हें हतोत्साहित कर दिया । इसके बाद पूनम की तमन्ना भारतीय विदेश सेवा में काम करने की हो गयी और वह परीक्षा की तैयारी में जुट गयी । वर्ष 1979
में यश चोपड़ा के ही बैनर तले बनी फिल्म ‘नूरी’ में पूनम को काम करने का अवसर मिला । बेहतरीन गीत-संगीत और अभिनय से सजी इस फिल्म की कामयाबी ने न सिर्फ उन्हें बल्कि अभिनेता फारूख शेख को भी .स्टार. के रूप में स्थापित कर दिया। फिल्म में लता मंगेशकर की आवाज में ‘आजा रे आजा रे मेरे दिलबर आजा’ गीत आज भी श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर देता है । ‘नूरी’ की सफलता के बाद पूनम ने यह निश्चय किया कि वह फिल्म इंडस्ट्री में अभिनेत्री के रूप में अपनी पहचान बनायेंगी । इसके बाद उन्हें राजेश खन्ना के साथ ‘रेड रोज’ जितेन्द्र के साथ ‘निशाना’ और राजकपूर के बैनर तले बनी फिल्म ‘बीबी और बीबी’ में काम करने का अवसर मिला लेकिन दुर्भाग्य से सभी फिल्में टिकट खिडक़ी पर असफल साबित हुयी । इन फिल्मों की असफलता से पूनम को अपना कैरियर डूबता नजर आया लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और अपना संघर्ष जारी रखा। इस बीच उन्हें राजेश खन्ना के साथ फिल्म ‘दर्द’ और कुमार गौरव के साथ फिल्म ‘तेरी कसम’ में काम करने का अवसर मिला । इन फिल्मों की सफलता के बाद पूनम ढिल्लों अभिनेत्री के रूप में फिल्म इंडस्ट्री में स्थापित हो गयी। 

वर्ष 1988 में पूनम ने निर्माता अशोक ठकारिया के साथ शादी कर ली। अशोक ने दिल,बेटा,राजा,मस्ती और मन जैसी कई कामयाब फिल्मों का निर्माण किया है। इसके बाद पूनम ने फिल्मों में काम करना काफी कम कर दिया। वर्ष 1992 में प्रदर्शित फिल्म ‘विरोधी’ के बाद उन्होंने लगभग पांच वर्ष तक फिल्म इंडस्ट्री से किनारा कर लिया। वर्ष 1997 में प्रदर्शित फिल्म ‘जुदाई’ से उन्होंने अपने कैरियर की दूसरी पारी शुरू की । वर्ष 1995 में पूनम ने दर्शकों की पसंद को देखते हुये छोटे पर्दे का भी रूख किया और अंदाज और किटी पार्टी जैसे धारावाहिकों में काम करके दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इन सबके साथ ही बिगबॉस के तीसरे सीजन में उन्होंने हिस्सा लिया जिसमें वह तीसरे स्थान पर चुनी गयी। फिल्मों में कई भूमिकायें निभाने के बाद पूनम सामाजिक कार्यों में दिलचस्पी लेने लगी। उन्होंने शराब विमुक्ति .एडस और परिवार नियोजन जैसे कई सामाजिक कार्यो में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेकर समाज को जागरूक करने का प्रयास किया है।
इस बीच पूनम ढिल्लो ने अपनी मेकअप वैन कंपनी ‘वैनिटी’ की स्थापना की जो फिल्म इंडस्ट्री में कलाकारों को उनके मेकअप की सभी सुविधाये उपलब्ध कराती है। पूनम ढिल्लों ने लगभग 70 फिल्मों में काम किया है। पूनम इन दिनो छोटे पर्दे पर प्रसारित सीरियल एक नयी पहचान में काम कर रही है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6418150
 
     
Related Links :-
प्रियंका के प्रोडक्शन हाउस का राज
हरियाणवी हास्य, संगीत एवं नृत्य के रंग, महाबीर गुड्डू के संग
निकी वालिया और समीर सोनी को किया साइन
भारतीय सिनेमा आईफा सप्ताहांत एवं पुरस्कार 2018 का सबसे बड़ा उत्सव बैंकॉक मे
मराठी फिल्म में फिर नजर आएंगी प्रियंका
गर्मी भी नहीं आ सकी रोहित पुरोहित के रास्ते में
आईफा का मंच होस्ट करने का आर्यन को पहला मौका!
एएलटी-बालाजी ने बॉलीवुड अभिनेत्री संदीपा धर को क्राइम ड्रामा द फैमिली इट्स ए ब्लडी बिजनेस के लिए साइन किया
मिक्स्ड मार्शल आर्ट सीख रहे हैं एक्टर अंकित गुप्ता
जय कन्हैया लाल की की जगह लेगा नया शो मुस्कान