हरियाणा मेल ब्यूरो
20/04/2017  :  08:46 HH:MM
अफवाहें फैलानेवालों को चेतावनी
Total View  60

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित पटवारी की लिखित परीक्षा, जिसके परिणाम 11 अप्रैल, 2017 को घोषित किए गए है, के सम्बन्ध में नकली कटऑफ अंक अपलोड या प्रसारित करने वाली कुछ निजी वेबसाइटों के प्रति कड़ा रुख अपनाते हुए आयोग ने ऐसी अफवाहें फैलाने वालों को सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम 2000 और कानून के अन्य प्रावधान के तहत कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। आयोग के एक प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि आयोग ने साक्षात्कार या मौखिक परीक्षा से पहले दस्तावेजों की जांच के लिए किसी भी उम्मीदवार या श्रेणी के कटऑफ अंक कभी भी अपनी वेबसाइट पर अपलोड या घोषित नहीं किए हैं।

उन्होंने कहा कि परम्परा के अनुसार, आयोग ने अपनी वेबसाइट 222.द्धह्यह्यष्.द्दश1.द्बठ्ठ पर साक्षात्कार से पहले दस्तावेजों की जांच के लिए बुलाए गए उम्मीदवारों के केवल रोल नम्बर अपलोड किए हैं। उन्होंने कहा कि आयोग ने साइबर, सोशल और प्रिंट मीडिया के एक भाग द्वारा नकली कटऑफ अंकों के बारे में उठाई जा रही अफवाहों का जोरदार खंडन किया है।चण्डीगढ़, 19 अप्रैल -हरियाणा के उद्योग मंत्री श्री विपुल गोयल ने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री ने लोगों की सुविधा के लिए मंत्रियों को अपने-अपने विभागों में श्रेणी 1,॥,॥। और ।ङ्क के कर्मचारियों के स्थानांतरण करने के लिए एक महिने का समय दिया है, जिसके अन्तर्गत मंत्री 15
मई तक स्थानांतरण कर सकेंगे। श्री विपुल गोयल ने आज यहां पत्रकारों से बातचीत करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यह स्थानांतरण प्रक्रिया पहले से चली आ रही व्यवस्था है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   692281
 
     
Related Links :-
एक बार फिर से जांच के घेरे में राजद सुप्रीमो लालू
पांच साल की बच्ची से रेप मामले में आरोपी को 15 साल की सजा
आप नेता खैहरा की पिटीशन खारिज
पिंटो परिवार को अग्रिम जमानत अभी नही
हार्दिक पटेल को फंसाने के लिए भाजपा ने तैयार कराए 52 सेक्स सीडी
कोर्ट के सवाल का जवाब नहीं दे पाई सीबीआई
सरकार खुद कराएगी मेट्रो, रेल और एयरपोर्ट पर साइबर अटैक!
आईएस ने दी कुंभ मेले में लास वेगास जैसे हमले की धमकी
सीबीआई जांच के लिए दबाव नहीं देने को कहा गया था : वरुण ठाकुर
हाई सिक्योरिटी नम्बर ह्रश्वलेट नहीं मिली तो होगा चालान : एसडीएम