समाचार ब्यूरो
21/04/2017  :  08:53 HH:MM
राज्य में एचआईवी रत्न लाल मरीजों की संख्या घटी
Total View  338

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा है कि लोगों को उपलब्ध करवाई जा रही उत्कृष्टï स्वास्थ्य सेवाओं के चलते प्रदेश में वर्ष 2014-15 के एचआईवी ग्रसित मरीजों की संख्या 0.68 प्रतिशत से घटकर वर्ष 2016-17 में 0.55 प्रतिशत हो गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस आंकड़े को और कम करने का प्रयास किया जा रहा है।

विज ने बताया कि हमारी सरकार आने के बाद से एचआईवी मरीजों की संख्या में लगातार गिरावट हुई है, जोकि वर्ष 2015-16 में 0.67 प्रतिशत और वर्ष 2016-17 में घटकर 0.55 प्रतिशत हो गई। इसके लिए विभाग ने झुग्गी-झोपडिय़ों, पैट्रोल पम्मों, टोल-ह्रश्वलाजा, ट्रक युनियन, टैक्सी स्टैंड, निर्माण स्थलों तथा प्रवासी जनसंख्या वाले स्थानों पर लोगों को जागरूक करने के लिए पारस्परिक संचार शिविरों का आयोजन किया गया तथा आशा वर्कर्स द्वारा घर-घर जाकर इस बारे में लोगों को विस्तृत जानकारी दी गई। इसके अलावा, एचआईवी / एड्स पर प्रदेश के 3351 विद्यालयों तथा 246 महाविद्यालयों के विद्यार्थियों को शिक्षाप्रद फिल्में भी दिखाई गयी।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न स्वास्थ्य केन्द्रों में इस समय 259 ‘एकीकृत परामर्श एवं जांच केन्द्र’ (आईसीटीसी)तथा राष्टï्रीय टोल फ्री नम्बर 1097 काम कर रहे हैं। इनसे लोगों को जांच व उपचार हेतु आईसीटीसी पर जाने के लिए प्रोत्साहन मिला है। इसके फलस्वरूप वर्ष 2015-16 की तुलना में वर्ष 2016-17 में विभिन्न केन्द्रों पर एचआईवी की जांच के लिए 1,32,055 व्यक्ति अधिक पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कि वर्ष 2015-16 में 6,55,8 54 लोगों ने जांच करवाई थी, जिनकी संख्या वर्ष 2016-17 में बढकऱ 7,87,909 हो गई। वित्त वर्ष 2015-16 की तुलना में गत वित्त वर्ष के दौरान राष्टï्रीय टोल फ्री नम्बर का प्रयोग करने वाले लोगों की संख्या में भी करीब 30 हजार की वृद्घि हुई है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7952897
 
     
Related Links :-
मुलेठी है कई रोगों की दवा
राज्य के तालाबों में गमबुजि़आ मछलियों को छोड़ा जाएगा
हर जिले में पशुओं के लिए एक-एक पॉली क्लीनिक : ओपी धनखड़
नगर निगम द्वारा शुरू किया गया विशेष सफाई अभियान
मेंडिसिटी और फोर्टिस अस्पतालों का निरीक्षण
पहली बार में ही मादक पदार्थों को ‘ना’ कहें : डा. प्रदीप
गुरूग्राम के 1732 स्कूलों में टीकाकरण
रक्तदान से बचाई जा सकती है जिंदगी : नरेन्द्र सिंह
बड़ी मस्जिद में २५८ बच्चों का किया गया टीकाकरण
चलेगी पुलिसकर्मियों को नशा मुक्त करने की मुहिम