हरियाणा मेल ब्यूरो
21/04/2017  :  09:18 HH:MM
ईपीई पर इंटर-चेंज सुविधा का शीघ्र हो निर्माण
Total View  46

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने केन्द्रीय सडक़ परिवहन राजमार्ग और जहाजरानी मंत्री नितिन गडकऱी से पलवल-अलीगढ़ सडक़ के लिए ईस्ट्रन पेरीफेरियल एक्सप्रैस-वे (ईपीई) पर इंटर-चेंज सुविधा का निर्माण कराने का अनुरोध किया है।

केन्द्रीय मंत्री श्री नितिन गडकऱी को सम्बोधित एक अर्ध-सरकारी पत्र में मुख्यमंत्री ने प्रदेश की विभिन्न चार मार्गी और छह मार्गी परियोजनाओं के क्रियान्वयन में रूचि लेने के लिए भी उनका आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि पलवल-अलीगढ़ सडक़ उ.प्र, से हरियाणा को जोडऩे वाली एक महत्वपूर्ण अन्तर्राज्यीय सडक़ है।
यह 126.137 किलोमीटर पर ईस्ट्रन पेरीफेरियल एक्सप्रैस-वे को क्रॉस करती है, जहां 30 मीटर स्पेन का अंडर-पास उपलब्ध करवाया गया है। वह भी बिना किसी इंटर-चेज सुविधा के। उन्होंने कहा कि ईस्ट्रन पेरीफेरियल एक्सप्रैस-वे के साथ पलवल-अलीगढ़ सडक़ को क्रॉस करने के लिए नजदीकी इंटर-चेज 134.948  किलोमीटर पर प्रदान किया गया है, जो आठ किलोमीटर से अधिक की दूरी पर है और यह 108.570 किलोमीटर पर बल्लभगढ़- अटेली-छैंसा सडक़ को क्रॉस करता है, जो पलवल-अलीगढ़ सडक़ से 17 किलोमीटर से अधिक की दूरी पर है। इस अन्तर्राज्यीय सडक़ के महत्व को देखते हुए पलवल-अलीगढ़ सडक़ के लिए ईपीई के साथ इंटर-चेंज सुविधा प्रदान करना उचित होगा। उन्होंने श्री गडकऱी से बेहतर यातायात के लिए भारत के राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) को आवश्यक निर्देश जारी करने का अनुरोध किया।





----------------------------------------------------

Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8512814
 
     
Related Links :-
बवाना उपचुनाव: केजरीवाल की फिर अग्नि परीक्षा
लंबा खिंच सकता है डोकलाम में चीन के साथ गतिरोध
जांगिड़ ब्राह्मण समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने नेमी चन्द शर्मा
शहीद लोंगोवाल की बरसी पर उमड़े लोग
मोदी, सोनिया, मनमोहन, राहुल और प्रियंका ने दी श्रद्धांजलि
पुलिस किसी भी स्थिति से निपटने में सक्षम : संधू
डोकलाम गतिरोध : भारत-चीन के आर्थिक संबंधों का नया आयाम
ट्रैंक्विल त्रिलोग्स नामक अनूठी चित्रकला प्रदर्शनी आज से
जाटों ने कैह्रश्वटन अभिमन्यु को दिखाए काले झंडे
पर्रिकर ने सामना के संपादकीय को बताया फर्जी खबरों पर आधारित